होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /सोनभद्र में नमक-रोटी परोसने का मामला: प्रधानाध्यापक का हुआ निलंबन तो फूट-फूटकर रोए बच्चे

सोनभद्र में नमक-रोटी परोसने का मामला: प्रधानाध्यापक का हुआ निलंबन तो फूट-फूटकर रोए बच्चे

Sonebhadra News: मिड-डे मील में नमक-रोटी देने के मामले में स्कूल प्राचार्य को निलंबित कर दिया गया था. Image/ Canva

Sonebhadra News: मिड-डे मील में नमक-रोटी देने के मामले में स्कूल प्राचार्य को निलंबित कर दिया गया था. Image/ Canva

Sonbhadra Mid Day Meal News: दरअसल विद्यालय में 22 अगस्त को मिड-डे मील में बच्चों की तरफ से एक वीडियो सामने आया था, जिस ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

22 अगस्त को मिड-डे मील में बच्चों की तरफ से एक वीडियो सामने आया था.
मामले के सामने आने के बाद प्रधानाध्यापक ने सिलेंडर ना होने की बात कही थी.

रिपोर्ट: रंगेश सिंह

सोनभद्र. उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में मिड-डे मील में बच्चों को नमक-रोटी खिलाने का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है. अब इससे जुड़ा एक वीडयो सामने आया है. वीडियो में प्रधानाध्यापक के निलंबन से परेशान बच्चे फूट-फूटकर रोते हुए नजर आ रहे हैं. बच्चे अपने प्रधानाध्यापक को इतना प्यार करते हैं कि वे अपने आंसू नहीं रोक पाए. दरअसल मिड-डे मील में नमक-रोटी देने के मामले में स्कूल प्राचार्य को निलम्बित कर दिया गया था और शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगा गया है.

स्कूल छोड़ते समय जब प्रधनाध्यापक बाहर निकले तो बच्चे परेशान हो उठे. प्रधानाध्यापक के निलंबन की सूचना की खबर सुन बच्चे अपने आंसू नहीं रोक पाए. कक्षाओं से बाहर निकलकर वे अपने प्रिय प्रधानाध्यापक के प्रति स्नेह जताते रहे. इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. वीडियो में प्रधानाध्यापक बच्चों को समझाते हुए नजर आ रहे हैं. यह पूरा मामला घोरावल ब्लॉक कंपोजिट विद्यालय गुरेठ का है.

युवती ने दरोगा पर लगाया रेप का आरोप, बोली- दो बार प्रेग्नेंट होने पर कराया गर्भपात

दरअसल विद्यालय में 22 अगस्त को मिड-डे मील में बच्चों की तरफ से एक वीडियो सामने आया था, जिसमें बच्चों ने कहा था कि उन्हें खाने में नमक रोटी परोसी गई. इस मामले के सामने आने के बाद प्रधानाध्यापक ने सिलेंडर ना होने की बात कही थी. बताया गया कि गैस सिलेंडर ना होने के कारण सब्जी दाल नहीं बन सकी थी.

मामला बढ़ने के बाद यह बात सामने आई कि विद्यालय में चार गैस सिलिंडर थे, लेकिन उन्हें भराया नहीं जा रहा था. प्रधान और प्रधानाध्यापक में सामंजस्य न होने के कारण बच्चों को नमक से रोटी खाकर काम चलाना पड़ा. जांच रिपोर्ट के आधार पर बीएसए ने प्रधानाचार्य रुद्र प्रसाद को प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए निलंबित कर दिया और उन्हें इमली पोखर उच्च प्राथमिक विद्यालय से संबंद्ध कर दिया.

Tags: CM Yogi, Mid Day Meal, Sonbhadra News, UP news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें