पत्रकार से बदसलूकी: प्रियंका के इस सहयोगी ने कभी मनमोहन सिंह को दिखाया था काला झंडा

संदीप सिंह जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष हैं और अब राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के बेहद करीबियों में शुमार किए जाते हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 14, 2019, 11:45 AM IST
पत्रकार से बदसलूकी: प्रियंका के इस सहयोगी ने कभी मनमोहन सिंह को दिखाया था काला झंडा
सोनभद्र नरसंहार के बाद प्रियंका गांधी लगातार हमलावर हैं और पीड़ितों से मुलाकात कर रही हैं.
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 14, 2019, 11:45 AM IST
सोनभद्र नरसंहार के बाद अपने दूसरे दौरे पर पहुंचीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) के एक सहयोगी ने पत्रकार से बदसलूकी की. इस बदसलूकी का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. जानकारी के अनुसार जिस शख्स ने पत्रकार से बदसलूकी की, उसका नाम है संदीप सिंह. वह जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष हैं और अब राहुल गांधी के बेहद करीबियों में शुमार किए जाते हैं.

लोकसभा चुनाव के दौरान संदीप सिंह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के राजनीतिक सलाहकारों की कोर टीम और चुनावी भाषण लिखने वालों में शामिल रहे. कभी ये वामपंथी हुआ करते थे. संदीप सिंह ने 2005 में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को काले झंडे दिखाए थे. जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में पढ़े संदीप सिंह मूलतः प्रतापगढ़ के रहने वाले संदीप सिंह 2017 से राहुल गांधी की कोर टीम में शामिल हैं.

कहा जाता है कि लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के घोषणा पत्र में रखी गई 'न्याय योजना' के पीछे भी संदीप सिंह प्रमुख लोगों में से एक थे. राजनीतिक जानकार यह भी मानते हैं कि पिछले कुछ समय में राहुल गांधी द्वारा किसानों और जनहित के मुद्दे लगातार उठाने के पीछे भी संदीप सिंह का ही दिमाग काम कर रहा है.

sandeep-singh
संदीप सिंह आजकल प्रियंका के हर दौरे में दिखाई देते हैं.


अनॉफिशियली पावरफुल
लोकसभा चुनावों के पहले संदीप सिंह की ताकत कांग्रेस में राहुल गांधी के राजनीतिक सलाहकार तक बढ़ गई थी. लेकिन चुनाव के बुरे नतीजों ने उन्हें झटका भी दिया. माना जाता है कि उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी की लॉन्चिंग के पीछे भी संदीप सिंह का ही दिमाग था. संदीप सिंह ऑफिशयली भले ही राहुल गांधी के राजनीतिक सलाहकार न रहे हों लेकिन माना जाता है राहुल के भाषण संदीप ही लिखते रहे हैं.

प्रियंका गांधी को पूर्वी उत्तर प्रदेश की कमान दिए जाने के बाद से ही संदीप सिंह उनके साथ आते-जाते रहे हैं. इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन करने वाले संदीप सिंह ने बाद में JNU में दाखिला ले लिया. साल 2007 में उन्होंने आइसा (लेफ्ट) के टिकट पर जेएनयू छात्रसंघ का चुनाव लड़ा और जीत हासिल की. जेएनयू के छात्र संघ चुनाव में प्रेसिडेंशियल डिबेट का काफी महत्व माना जाता है और जेएनयू में उनके भाषण अपने समय में काफी चर्चित रहे हैं.
Loading...

प्रेसिडेंशियल डिबेट में खींचा था सबका ध्यान
प्रेसिडेंशियल डिबेट के दौरान संदीप के ठेठ अंदाज ने सबका ध्यान आकर्षित किया था. कहते हैं बाद में जेएनयू के छात्र संघ अध्यक्ष बने कन्हैया कुमार का अंदाज भी संदीप की भाषण शैली से मेल खाता है. हालांकि यूनिवर्सिटी के बाद संदीप ने आइसा से किनारा कर अन्ना आंदोलन में सक्रिया भूमिका निभाई लेकिन बाद में जब वहां से मोह भंग हुआ तो कांग्रेस में पहुंच गए.

ये भी पढ़ें:

प्रियंका के सहयोगी ने पत्रकार से की बदसलूकी, वीडियो वायरल

सोनभद्र नरसंहार पर 'नाटक' कर रहीं सपा-कांग्रेस: मायावती
First published: August 14, 2019, 11:45 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...