Home /News /uttar-pradesh /

COVID-19: विदेश से लौटकर सोनभद्र की पहाड़ियों में अपनी माटी का कर्ज उतार रहीं ये बेटियां

COVID-19: विदेश से लौटकर सोनभद्र की पहाड़ियों में अपनी माटी का कर्ज उतार रहीं ये बेटियां

सोनभद्र की पहाड़ियों में अपनी माटी का कर्ज उतार रहीं ये बेटियां

सोनभद्र की पहाड़ियों में अपनी माटी का कर्ज उतार रहीं ये बेटियां

आदिवासी क्षेत्र होने की वजह से लोगों में साफ सफाई, कोरोना की जानकारी इसके बचाव से संबंधित जानकारी का अभाव होने के कारण इन बेटियों ने लोगों को जागरूक करने और कोरोना को का प्रभाव क्षेत्र में ना फैलने देने की कसम खाई है.

वाराणसी. पूरा देश कोरोना (Coronavirus) के खात्मे की लड़ाई में जुटा हुआ है. आम हो या खास, सभी लोग अपने-अपने तरीके से इस जंग में अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं. वहीं पिछड़े जिले के फेहरिस्त में शुमार सोनभद्र जिले की कुछ बेटियां कोरोना कॉल में अपनी माटी का कर्ज कोरोना योद्धा बनकर उतार रही हैं. विदेशों में मेडिकल से जुड़ी पढ़ाई कर रहीं ये बेटियां आदिवासी इलाके में पहुंचकर लोगों को कोरोना से बचाव के प्रति जागरूक कर रही हैं. दरअसल सोन पहाड़ी से घिरा यूपी का सोनभद्र जिला पिछले दिनों सोने मिलने को लेकर चर्चा में रहा.

फिलहाल कोरोना काल में यहां की कुछ बेटियां अपने जोश, जज्बे और जूनून की बदौलत एक नई सुनहरी कहानी लिख रही हैं. आदिवासी बाहुल्य इस जिले में कोरोना को लेकर लोगों को बहुत जानकारी नहीं है. इसी को देखते हुए हाल ही में नेपाल, चीन और अन्य देशों से एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहीं लौटी दुद्धी तहसील क्षेत्र की बेटियों ने लोगों को जागरूक करने बीड़ा उठाया है. दो सगी बहनों समेत छह बेटियां विदेश से आने के बाद पहले 28 दिनों तक सेल्फ आइसोलेशन मे रहीं और उसके बाद माटी का कर्ज उतारने निकल पड़ी तपती दोपहरी में आग उगलते पत्थरों के बीच. आदिवासी बाहुल्य गांव के कई टोले में जाकर ये बेटियां कोरोना बीमारी, इससे बचाव, क्वारंटाइन, सेल्फ आइसोलेशन, लॉक डाउन, सफाई, सोशल डिस्टेंसिंग आदि मुद्दों की ग्रामीणों को जानकारी दे रही हैं.

इन छह छात्राओं के दल में 4 एमबीबीएस और दो डी फार्मा की छात्रा शामिल हैं. जागरूकता टीम में एमबीबीएस फाइनल की छात्रा ऐमन अंसारी, एमबीबीएस तृतीय वर्ष की छात्रा मुस्कान गुप्ता और शबनम परवीन , एमबीबीएस सेकेंड इयर की छात्रा एरम अंसारी शामिल हैं. सभी सोनभद्र जिले के दुद्धी नगर के बेटियां हैं. इस टीम एक डॉक्टरों के अलावा अलीगढ़ से डी फार्मा की डिप्लोमा हासिल कर चुकी दुद्धी की बेटी हबीबा खातून व विजयलक्ष्मी सिंह भी शामिल हैं.

आदिवासी क्षेत्र होने की वजह से लोगों में साफ सफाई, कोरोना की जानकारी इसके बचाव से संबंधित जानकारी का अभाव होने के कारण इन बेटियों ने लोगों को जागरूक करने और कोरोना को का प्रभाव क्षेत्र में ना फैलने देने की कसम खाई है. जागरुकता दल को दवा व्यवसाइयों द्वारा उपलब्ध कराया गया मेडिसिन, मास्क और ग्लब्स ग्रामीणों में निशुल्क वितरित किया गया. स्थानीय स्तर पर प्रशासन की तरफ से भी इस टीम को प्रोत्साहन दिया जा रहा है.

जबकि दुद्धी एसडीएम सुनील कुमार सिंह ने भी बताया कि यह छात्राएं बाहर रहकर पढ़ाई करती हैं और कोरोना की महामारी की वजह से वापस अपने क्षेत्र में घर आई हैं लेकिन यहां की स्थिति को देखते हुए इन छात्राओं के द्वारा लोगों को जागरूक करने स्थानीय लोगों से मिले सहयोग से लोगों को मास्क सैनिटाइजर साबुन, ग्लब्स बांटने के साथ ही उन को जागरूक करने और बचाव के तरीके समझा रही हैं. ग्रामीण लल्लन बताते हैं कि ये बेटियां बहुत अच्छे से हम सभी को कोरोना से बचाव के तरीके समझा रही हैं. हमें अपने सोनभद्र की इन बेटियों पर नाज है.

ये भी पढे़ं:

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार नहीं देगी लॉकडाउन में कोई छूट: सूत्र

Tags: CM Yogi, Coronavirus, Coronavirus Epidemic, Pm narendra modi, Sonbhadra, Up news in hindi, UP police, Yogi adityanath

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर