Home /News /uttar-pradesh /

सोनभद्र नरसंहार: प्रियंका गांधी को अगर प्रशासन पीड़ितों से नहीं मिलाता तो...

सोनभद्र नरसंहार: प्रियंका गांधी को अगर प्रशासन पीड़ितों से नहीं मिलाता तो...

प्रियंका के तेवरों को देखते हुए शनिवार को मिर्जापुर जिला प्रशासन ने अपने रूख में नरमी बरतते हुए दो पीड़ित परिवारों से उनकी चुनार गेस्ट हाउस में ही मुलाकात करवाई है. इन परिवारों से मुलाकात के बाद भी प्रियंका गांधी नाराज हैं.

    लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की उत्तर प्रदेश की राजनीति में जोरदार तरीके से वापसी हुई है. सोनभद्र नरसंहार मामले में प्रियंका गांधी पिछले 24 घंटे से एक्शन में हैं. देश की मीडिया प्रियंका को लगातार कवरेज दे रही है. सोनभद्र के बहाने ही सही प्रियंका गांधी ने यूपी कांग्रेस में जोश भरने की कोशिश की है. लोकसभा चुनाव नतीजों के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जो मायूसी छाई हुई थी, वो सोनभद्र कांड के बाद से फिर से जागृत हो गई है. पीड़ित परिवारों से मिलने की जिद पर अड़ी प्रियंका गांधी के सामने प्रशासन लाचार और बेबस नजर आ रहा है.

    प्रियंका के तेवरों को देखते हुए शनिवार को मिर्जापुर जिला प्रशासन ने अपने रूख में नरमी बरतते हुए दो पीड़ित परिवारों से उनकी चुनार गेस्ट हाउस में ही मुलाकात करवाई है. इन परिवारों से मुलाकात के बाद भी प्रियंका गांधी नाराज हैं. प्रियंका गांधी ने जिला प्रशासन पर आरोप लगाया, ‘15 पीड़ित परिवारों में से सिर्फ दो लोगों को ही मुझसे मिलाया गया है. पीड़ित परिवारों को गेट के बाहर ही रोका दिया गया है. इतना बड़ा हादसा हुआ है. आदिवासियों की जमीन को छीनने की कोशिश हुई है. इस घटना की पूरी जिम्मेदारी यूपी सरकार की है.’

    दरअसल प्रियंका गांधी शुक्रवार से ही सोनभद्र नरसंहार में मारे गए लोगों के परिजनों से मिलने की जिद पर अड़ी थीं. इस दौरान वो लगातार ये दोहरा रही थीं कि वो बिना मिले वापस जाने वाली नहीं हैं. प्रियंका का साफ कहना था कि प्रशासन चाहे तो पीड़ितों और उनके परिजनों को चुनार ले आये या फिर कहीं और मिलवा दे.

    'प्रियंका गांधी को रोका जाना सिर्फ और सिर्फ राजनीतिक है'

    उत्तर प्रदेश में चल रहे इस राजनीतिक घटनाक्रम पर देश के बड़े वकील और एनसीपी नेता माजिद मेनन ने न्यूज़18 हिंदी के साथ बातचीत में कहा, 'पीड़ितों से मिलने के लिए विरोधी पार्टियों के नेताओं को रोका नहीं जा सकता है. अगर प्रशासन रोक लगा रहा है तो इसका मतलब है कि प्रशासन खुद वहां कानून व्यवस्था संभालने में विफल साबित हुआ है. प्रियंका गांधी को पीड़ित परिवारों से मिलने से रोका जाना सिर्फ और सिर्फ राजनीतिक है.'

    सोनभद्र नरसंहार
    कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पीड़ितों से मिलते हुए भावुक हो गईं.


    सुप्रीम कोर्ट के ही एक और वकील रविशंकर कुमार ने न्यूज़18 हिंदी से बातचीत में कहा, 'लॉ-एंड ऑर्डर को बनाए रखने के लिए प्रशासन के पास अधिकार है कि वो धारा 144 लागू कर दे. धारा 144 लागू करने के बाद आप किसी से मिल नहीं सकते हैं. वहां पर भीड़ इकट्ठा नहीं हो सकती है और न ही कोई राजनीतिक बयानबाजी की जा सकती है. हां, अगर किसी को लगता है कि प्रशासन उनके साथ नाइंसाफी कर रहा है क्योंकि वो एक विशेष राजनीतिक वर्ग से आते हैं तब वो राजनीतिक पार्टी या नेता हाईकोर्ट में रिट याचिका दाखिल कर सकते हैं.'

    पीड़ित परिवारों से मिलने को लेकर अड़ गई थीं प्रियंका गांधी  

    बता दें कि पिछले दिनों ही सोनभद्र जिले में जमीन विवाद में 10 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इसके बाद प्रशासन ने वहां धारा 144 लागू कर दी थी. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पीड़ित परिवारों से मिलने जाने की जिद पर लगातार अड़ी हुई थीं. शुक्रवार रात प्रियंका को मनाने के लिए वाराणसी रेंज के एडीजी ब्रजभूषण और कमिश्नर दीपक अग्रवाल भी पहुंचे थे लेकिन कई दौर की बातचीत के बाद भी कोई नतीजा नहीं निकला.

    प्रियंका गांधी अभी भी चुनार गेस्ट हाउस में सभी पीड़ितों से मिलने की मांग पर अड़ी हुई हैं


    प्रियंका गांधी को शुक्रवार को सोनभद्र जाने के दौरान रास्ते में हिरासत में ले लिया गया था. पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका यहां पीड़ित परिवारों से मिलने जा रही थीं. हिरासत में लिए जाने के बाद प्रियंका ने जमानत के लिए पर्सनल बॉन्ड देने से इनकार कर दिया था. शुक्रवार को भी उन्होंने कहा था कि मैं पीड़ितों से मिले बिना नहीं जाउंगी. साथ ही वो लगातार मांग करती रहीं कि उन्हें पीड़ित परिवारों से मिलने और आगे बढ़ने की अनुमति दी जाए. प्रियंका गांधी को मिर्जापुर जिले के चुनाव स्थित गेस्ट हाउस में ठहराया गया है. प्रियंका रात भर यहां रूकी थीं. अपने नेता के समर्थन में कांग्रेस कार्यकर्ता भी गेस्ट हाउस के बाहर रात भर डटे रहे.

    ये भी पढ़ें:

    प्रियंका गांधी का जमानत लेने से इनकार, कहा- पीड़ितों से मिले बिना नहीं जाऊंगी

    सोनभद्र कांड: चुनार गेस्ट हाउस में देर रात तक जागती रही प्रियंका गांधी...

    Tags: Congress, Farmer, Landless farmer, Mirzapur news, Mirzapur S24p79, Priyanka gandhi, Rahul gandhi, UP news, Up news in hindi, Yogi adityanath

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर