• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • सोनभद्र नरसंहार मुद्दे को गरमाए रखने के लिए प्रियंका गांधी पीड़ितों से करेंगी मुलाकात

सोनभद्र नरसंहार मुद्दे को गरमाए रखने के लिए प्रियंका गांधी पीड़ितों से करेंगी मुलाकात

सोनभद्र नरसंहार के वक्‍त भी प्रियंका गांधी वाड्रा ने वहां जाने की कोशिश की थी, लेकिन पुलिस ने उन्‍हें हिरासत में ले लिया था. (फाइल फोटो)

सोनभद्र नरसंहार के वक्‍त भी प्रियंका गांधी वाड्रा ने वहां जाने की कोशिश की थी, लेकिन पुलिस ने उन्‍हें हिरासत में ले लिया था. (फाइल फोटो)

गौरतलब है कि 17 जुलाई को जमीन कब्जे को लेकर हुए इस नरसंहार (Sonbhadra Massacre) के बाद प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) उम्भा गांव जाने की कोशिश कर रही थीं, लेकिन प्रशासन ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया था.

  • Share this:
    कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) मंगलवार को सोनभद्र के उम्भा गांव का दौरा करेंगी. वह अपने दौरे के दौरान नरसंहार पीड़ित परिजनों से मुलाकात कर उनका दुख-दर्द साझा करेंगी. कांग्रेस की रणनीति है कि सोनभद्र नरसंहार (Sonbhadra Massacre) के मुद्दे को राष्ट्रीय स्तर पर जवलंत बनाए रखा जाए, ताकि सूबे की योगी सरकार को कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर घेरा जा सके.

    गौरतलब है कि 17 जुलाई को जमीन कब्जे को लेकर हुए इस नरसंहार के बाद प्रियंका गांधी उम्भा गांव जाने की कोशिश कर रही थीं, लेकिन प्रशासन ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया था. उन्हें चुनार के गेस्ट हाउस में रखा गया था, लेकिन प्रियंका के जिद के आगे प्रशासन ने पीड़ित परिजनों को चुनार गेस्ट हाउस ले जाकर उनकी मुलाक़ात करवाई थी.

    कांग्रेस के रणनीतिकारों का मानना है कि प्रियंका गांधी ने जिस तरह से इस मुद्दे को उठाया, वैसा मुख्य विपक्षी दल सपा और बसपा भी नहीं कर सके. इतना ही नहीं कांग्रेस ने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपए का चेक भी दिया. साथ ही घयलों की मदद भी की. अब एक बार फिर प्रियंका गांधी उम्भा गांव का दौरा कर इसे मुद्दे को फिर से गरमाने में जुटी हैं.

    रेणुका समिति शुरू करेगी जमीन कब्जाने की जांच

    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा सोनभद्र और मिर्जापुर जिले में कृषि सहकारी समितियां बनाकर जमीन हथियाने से जुड़े मामलों की जांच के लिए गठित उच्च स्तरीय रेणुका कमेटी इस मामले की जांच मंगलवार से शुरू करेगी. अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार की अध्यक्षता में गठित कमेटी की जांच में खुलासा हुआ था कि सोनभद्र नरसंहार की घटना के मूल में रही आदर्श कृषि सहकारी समिति की तरह ही सोनभद्र और मिर्जापुर में 39 कृषि सहकारी समितियां हैं, इनमें बड़ी मात्रा में जमीनों को कब्ज़ा किया गया है.


    ये भी पढ़ें - 
    अब स्मार्ट बॉल से खेला जाएगा क्रिकेट, गेंद में लगी माइक्रोचिप बताएगी सबकुछ, देखिए तस्वीरें
    अब घर बैठे देख पाएंगे फिल्म का फर्स्ट डे फर्स्ट शो, सिर्फ 700 रुपये में खरीदें Reliance Jio GigaFiber

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज