सोनभद्र नरसंहार की रिपोर्ट आई सामने, जांच में 700 करोड़ के जमीन घोटाले का खुलासा
Sonbhadra News in Hindi

सोनभद्र नरसंहार की रिपोर्ट आई सामने, जांच में 700 करोड़ के जमीन घोटाले का खुलासा
योगी सरकार में भ्रष्टाचार और अनुशासनहीनता नहीं होगी बर्दाश्त (फाइल फोटो)

प्रमुख सचिव रेणुका कुमार (Renuka Kumar) की अगुवाई में गठित जांच कमिटी ने अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को सौंपी है.

  • Share this:
सोनभद्र. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सोनभद्र (Sonbhadra) जिले के उम्भा गांव में जमीन विवाद को लेकर हुई 10 लोगों की हत्या मामले में सरकार को रिपोर्ट सौंप दी गई है. राज्य की अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार (Renuka Kumar) की अगुवाई में गठित जांच कमिटी ने अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को सौंपी है. इस रिपोर्ट में लगभग 700 करोड़ रुपए की सरकारी जमीन पर अवैध कब्जे की बात सामने आई है. रिपोर्ट में कांग्रेस के कई नेता और पुराने अफसरों पर भी जमीन कब्जा जमाने का आरोप लगा है.

1 हजार एकड़ से अधिक जमीन पर अवैध कब्ज़ा

अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने अपने रिपोर्ट में कहा है कि एक हजार एकड़ से अधिक जमीन पर अवैध कब्जा किया गया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि 650 एकड़ से अधिक जमीन पर सहकारी समितियों का कब्जा है. इस जमीन की कीमत लगभग 700 करोड़ रुपए आंकी गई है. अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार की अध्यक्षता में गठित 6 सदस्यीय जांच समिति ने रिपोर्ट सौंपी है. रेणुका कुमार ने 1100 पेज की रिपोर्ट सौंपी है.



रिपोर्ट में 660 करोड़ रुपये की सरकारी जमीन पर अवैध कब्जे का खुलासा हुआ है. सोनभद्र की 3 और मिर्जापुर की 4 सहकारी समितियों ने अवैध रूप से 6602 एकड़ सरकारी जमीन कब्जाई. दोनों जिलों की 12380 एकड़ सरकारी जमीन की जांच में सामने ये सच सामने आया. जांच समिति ने 1952 से 2019 तक के दस्तावेज के आधार पर ये रिपोर्ट तैयार की है.
कांग्रेसी नेताओं के पास भी हजारों एकड़ अवैध जमीन

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि कई कांग्रेसी नेताओं के पास भी हजारों एकड़ अवैध जमीन है. रिपोर्ट में कहा गया है कि दस्तावेजों में फेरबदल कर सरकारी जमीन अपने नाम ली गई. इसके साथ ही कई पुराने अफसरों के नाम भी रिपोर्ट में शामिल हैं. अपर मुख्य सचिव ने अपनी जांच रिपोर्ट में बड़े जमीन घोटाले का खुलासा करते हुए कहा है कि सरकारी और वन विभाग की जमीन को सत्ता और रसूख के चलते कब्जा किया गया. अब इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद कहा जा रहा है कि कई बड़े पूर्व नेताओं और पूर्व अफसरों पर बड़ी कार्रवाई हो सकती है.

बड़ी कार्रवाई की उम्मीद

बता दें कि जुलाई 2019 में दस लोगों के नरसंहार के बाद यह बात सामने आई थी कि नेताओं और नौकरशाहों की मिलीभगत से सैकड़ों एकड़ जमीन पर कब्जा किया गया है. जमीन कब्जाने को लेकर ही यह नरसंहार हुआ था. जिसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसकी जांच के आदेश दिए थे. उधर रिपोर्ट पर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा सड़कों पर विलाप करने वाले लोगों अब बचेंगे नहीं. उनके खिलाफ कार्रवाई होगी.  ऊर्जा मंत्री ने कहा प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा को जमीन घोटाले में पीएचडी है. कांग्रेस के लोगों ने सोनभद्र में हजारों एकड़ जमीन हड़पी. अब रिपोर्ट से इस बात का खुलासा हुआ है. किसी भी पूर्व अफसर व घोटाले में शामिल कांग्रेसी नेता को छोड़ा नहीं जाएगा. सीएम योगी का सख्त आदेश है. घोटाले करने वालों को सलाखों के पीछे भेजा जाएगा. बड़े पैमाने पर घोटाला किया गया है. कागजों में फेरबदल किया गया है जांच रिपोर्ट के बाद अब कार्रवाई होगी.

(इनपुट: अजीत प्रताप सिंह)

ये भी पढ़ें:

सपा की सरकार बनने पर CAA का विरोध करने वालों की दी जाएगी 'संविधान रक्षक' की उपाधि
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading