सोनभद्र नरसंहार: आरोपी ग्राम प्रधान के डर से बच्चों ने स्कूल जाना छोड़ा

उम्‍भा गांव के ग्रामीणों का भी कहना है कि नरसंहार की घटना के बाद बच्चों ने डर के मारे मूर्तियां गांव में स्थित मिडिल स्कूल जाना छोड़ दिया है. आरोपी ग्राम प्रधान मूर्तियां गांव का ही रहने वाला है.

ANOOP SRIVASTAVA | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 8, 2019, 12:18 PM IST
सोनभद्र नरसंहार: आरोपी ग्राम प्रधान के डर से बच्चों ने स्कूल जाना छोड़ा
ग्राम प्रधान के खौफ में सोनभद्र के उम्भा गांव के बच्चों ने स्कूल जाना छोड़ा
ANOOP SRIVASTAVA | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 8, 2019, 12:18 PM IST
सोनभद्र के जिस उम्भा गांव में जमीन विवाद को लेकर नरसंहार हुआ था, वहां के ज्यादातर बच्चों ने स्कूल जाना छोड़ दिया है. बच्चों का कहना है कि उच्च प्राथमिक स्कूल आरोपी ग्राम प्रधान यज्ञदत्त के गांव मूर्तियां में स्थित है और वहां के लोग उन्‍हें जान से मारने की धमकी दे रहे हैं. ऐसे में उम्भा गांव में रहने वाले उच्च प्राथमिक स्कूल के ज्यादातर बच्चों ने स्कूल जाना छोड़ दिया है.

ग्रामीणों का भी कहना है कि घटना के बाद बच्चों ने डर के मारे मूर्तियां गांव में स्थित मिडिल स्कूल जाना छोड़ दिया है. ग्रामीणों ने उम्भा गांव में ही उच्च प्रथमिक स्कूल खोले जाने की मांग की है.

उम्‍भा गांव में सिर्फ प्राथमिक स्‍कूल

सोनभद्र के गांव उम्‍भा में प्राथमिक स्तर का स्कूल तो है, लेकिन उच्च प्राथमिक स्कूल आरोपी ग्राम प्रधान के गांव मूर्तियां में स्थित है. बच्चों का आरोप है कि मूर्तियां गांव के लोग उन्हें धमकी देते हैं. छात्र अनुराग, लाल साहब और सविता ने बताया कि यही वजह है कि उन्होंने मूर्तियां गांव स्थित मिडिल स्कूल जाना छोड़ दिया है.

sonbhadra massacre, umbha village
छात्रा सविता ने बताया कि नरसंहार के आरोपी ग्राम प्रधान के गांव के लोग उन्‍हें धमकी देते हैं.


गांव में मिडिल स्कूल खोलने की मांग

ग्रामीण कैलाश और दिनेश ने बताया कि बच्चों को आगे की पढ़ाई के लिए मूर्तियां गांव जाना पड़ता है. यह गांव आरोपी प्रधान का है. गांव के लोग बच्चों को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं. ऐसे में यहां के बच्चों ने उच्च प्राथमिक स्कूल में जाना छोड़ दिया है. ग्रामीणों ने मांग की कि उच्च प्राथमिक स्तर तक का स्कूल उनके गांव में ही खोला जाए.
Loading...

sonbhadra umbha village
ग्रामीण दिनेश ने उम्‍भा गांव में उच्‍च प्राथमिक स्‍कूल खोलने की मांग की है.


उपस्थिति बढ़ाने की कोशिश जारी

वहीं, घोरावल के एबीएसए उदय चंद्र राय का कहना है कि घटना के शुरुआती दिनों में उपस्थिति कम थी. लेकिन, विभाग और पुलिस की सक्रियता की वजह से उपस्थिति बढ़ी है जो अब लगभग 50 प्रतिशत हो गई है. हम उच्च प्राथमिक स्कूल में उपस्थिति बढ़ाने का भरसक प्रयास भी कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें:
उन्नाव रेप पीड़िता के खून में खतरनाक बैक्टीरिया, 7 में से 6 एंटीबायोटिक बेअसर

मायावती के निशाने पर अब अखिलेश के यादव वोटर, मुसलमानों और ब्राह्मणों को भी साधा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सोनभद्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 8, 2019, 12:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...