होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

मथुरा जन्‍मभूमि में जन्‍माष्‍टमी की रात डेढ़ बजे तक मनेगा जन्‍मोत्‍सव, ये है पूरा शेड्यूल

मथुरा जन्‍मभूमि में जन्‍माष्‍टमी की रात डेढ़ बजे तक मनेगा जन्‍मोत्‍सव, ये है पूरा शेड्यूल

मथुरा स्थित श्रीकृष्‍ण जन्‍मभूमि में रात को 11 बजे से शुरू होगा जन्‍मोत्‍सव शेड्यूल.

मथुरा स्थित श्रीकृष्‍ण जन्‍मभूमि में रात को 11 बजे से शुरू होगा जन्‍मोत्‍सव शेड्यूल.

श्रीकृष्‍ण जन्‍मस्‍थान सेवा संस्‍थान मथुरा की ओर से दी गई जानकारी में बताया गया कि श्रीकृष्‍ण जन्‍मभूमि में 19 अगस्‍त की रात को कान्‍हा का महाभिषेक किया जाएगा. साथ ही रात को ठीक 12 बजे लाला का जन्‍म होगा. इस महाभिषेक कार्यक्रम की शुरुआत गणपति और नवग्रह स्‍थापना पूजन से होगी.

अधिक पढ़ें ...

मथुरा. देशभर में इस बार 19 अगस्‍त को श्रीकृष्‍ण जन्‍माष्‍टमी (Sri Krishna Janmashtami) मनाई जा रही है. हालांकि इस दिन मथुरा स्थित श्रीकृष्‍ण जन्‍मभूमि (Sri Krishna Janmbhoomi) में मनाया जाने वाला जन्‍मोत्‍सव सबसे खास और भव्‍य होता है. श्रीकृष्‍ण के जन्‍मस्‍थान पर सभी धार्मिक मान्‍यताओं का पालन किया जाता है और लाला के जन्‍म पर देर रात में महाभिषेक कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है. इस दिन देश-विदेश से भक्‍त श्रीकृष्‍ण (Sri Krishna) के जन्‍मोत्‍सव में शामिल होने के लिए जन्‍मभूमि आते हैं.

श्रीकृष्‍ण जन्‍मस्‍थान (Sri Krishna Janmsthan) सेवा संस्‍थान मथुरा की ओर से दी गई जानकारी में बताया गया कि श्रीकृष्‍ण जन्‍मभूमि में 19 अगस्‍त की रात को कान्‍हा का महाभिषेक किया जाएगा. साथ ही रात को ठीक 12 बजे लाला का जन्‍म होगा. इस महाभिषेक (Mahabhishek) कार्यक्रम की शुरुआत गणपति (Ganpati) और नवग्रह स्‍थापना पूजन से होगी. करीब ढ़ाई घंटे तक चलने वाले इस जन्‍म कार्यक्रम की हर छटा के दर्शन भक्‍तों को भी कराए जाएंगे.

जन्‍मभूमि पर ये रहेगा जन्‍मोत्‍सव कार्यक्रम का शेड्यूल

श्री गणपति एवं नवग्रह स्‍थापना पूजन आदि- रात्रि 11 बजे से
कमल पुष्‍प और तुलसीदल से सहस्‍त्रार्चन- 11:55 बजे तक
प्राकट्य दर्शन हेतु पट बंद- रात्रि 11:59 बजे
प्राकट्य दर्शन और आरती- 12 बजे से 12:5 बजे तक
पयोधर महाभिषेक कामधेनु- 12: 5 से 12: 20 बजे तक
रजत कमल पुष्‍प में विराजमान ठाकुरजी का जन्‍म महाभिषेक- 12: 20 से 12: 40 बजे तक
श्रंगार आरती- 12: 40 से 12: 50 बजे तक
शयन आरती- 1 बजकर 25 मिनट से 1 बजकर 30 मिनट तक

संस्‍थान की ओर से बताया गया कि इस पूरे कार्यक्रम में प्राकट्य उत्‍सव मनाने के साथ ही श्रीकृष्‍ण को नव वस्‍त्र पहनाकर श्रंगार आरती की जाएगी. इसके बाद शयन आरती के बाद दर्शन बंद कर दिए जाएंगे और 20 की सुबह प्रसाद वितरण होगा.

Tags: Janmashtami, Mathura news, Sri Krishna Janmashtami

अगली ख़बर