सुल्तानपुरः पार्टी विरोधी कामों के चलते बसपा से निकाले गए पूर्व मंत्री विनोद सिंह

जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश गौतम ने बताया कि अनुशासनहीनता, पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहना और तानाशाही रवैये के आरोप के चलते विनोद सिंह को पार्टी से निष्कासित किया गया है


Updated: June 30, 2018, 9:01 PM IST

Updated: June 30, 2018, 9:01 PM IST
सुलतानपुर जिले के कद्दावर बसपा नेता व पूर्व मंत्री विनोद सिंह को पार्टी हाईकमान ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते शनिवार को बाहर का रास्ता दिखा दिया है. विनोद सिंह के खिलाफ पार्टी की कार्रवाई की जानकारी जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश गौतम ने मीडिया को दी, जिसके बाद से जिले के राजनीतिक गलियारों में हलचल बढ़ गई है.

यह भी पढ़ें-एससी/एसटी एक्ट में बदलाव: सुल्तानपुर में दलितों का विरोध प्रदर्शन

जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश गौतम ने बताया कि अनुशासनहीनता, पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहना और तानाशाही रवैये के आरोप के चलते विनोद सिंह को पार्टी से निष्कासित किया गया है. उन्होंने बताया कि पूर्व में दी गई कई बार चेतावनी के बाद भी जब पूर्व मंत्री की कार्यशैली में बदलाव नहीं आया तो पार्टी हाईकमान बहन मायावती के निर्देश पर विनोद सिंह पर कार्रवाई की गई.

यह भी पढ़ें-वरुण गांधी ने इशारों ही इशारों में कसा तंज, बोले- मुझे बाबा होना चाहिए था

गौरतलब है कुछ दिन पूर्व विनोद सिंह ने बसपा से इस्तीफा दे दिया था, लेकिन फिर उन्होंने दोबारा पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली थी. पूर्व मंत्री विनोद सिंह ने फरवरी में कांग्रेस कर ज्वाइन किया था. वर्ष 2006 से बसपा से जुड़े रहे और विनोद सिंह मायावती सरकार में स्वतंत्र प्रभार राज्यमंत्री थे.

(रिपोर्ट-आलिम, सुल्तानपुर)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर