वैलेंटाइन डे पर गए थे दुल्हन लेने, पहुंच गए हवालात

14 फरवरी को जब सुधीर अपने भाई, मध्यस्थता करने वाले संजय और एक रिश्तेदार के साथ दुल्हन की विदाई कराने पहुंचा तो वधू पक्ष वालों ने उससे सच्चाई पूछी.

Alim sheikh | ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 15, 2018, 3:44 PM IST
वैलेंटाइन डे पर गए थे दुल्हन लेने, पहुंच गए हवालात
हवालात पहुंचा दूल्हा सुधीर दुबे. Photo: ETV/News18
Alim sheikh | ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 15, 2018, 3:44 PM IST
सुलतानपुर में अपने को पुलिस अधिकारी बताकर शादी करना एक दूल्हे के लिए महंगा पड़ गया. अपने भाई और रिश्तेदारों संग दुल्हन लेने पहुंचे धोखेबाज़ दूल्हे मियां अब हवालात में हैं. करौंदीकला थाना क्षेत्र के दसगरपारा गांव के रहने वाले शोभनाथ उपाध्याय ने अपनी बेटी की शादी जौनपुर के वरपुर लेंदुका गांव निवासी ओमकार दुबे के पुत्र सुधीर दुबे से की थी. शादी तय करते वक्त सुधीर ने अपने को पुलिस अधिकारी बताया था. उसके घरवालों ने भी शोभनाथ से यही बताया था. हैरानी की बात तो यह कि शादी की मध्यस्थता करने वाले जौनपुर निवासी संजय सिंह ने भी इस झूठ को छिपाए रखा.

12 फरवरी को धूमधाम से बारात आई और शादी की सभी रस्में पूरी हुई. इस दौरान दूल्हे के हावभाव और उठने बैठने के अंदाज से वधू पक्ष के लोगों को कुछ अजीब लगा. इसके बाद उन्हें सुधीर के पुलिस अधिकारी होने पर शक हुआ. बारात वाले दिन वधू पक्ष के लोग कुछ नहीं बोले लेकिन उन्होंने छानबीन शुरू कर दी. परिजनों ने पता किया तो सुधीर के झूठ का खुलासा हो गया.

14 फरवरी को जब सुधीर अपने भाई, मध्यस्थता करने वाले संजय और एक रिश्तेदार के साथ दुल्हन की विदाई कराने पहुंचा तो वधू पक्ष वालों ने उससे सच्चाई पूछी. पोल खुलती देख सुधीर ने बताया कि वह पुलिस अधिकारी नही बल्कि आबकारी में है. फिर बताया कि संविदाकर्मी है. इतने झूठ सुनकर शोभनाथ उपाध्याय ने बेटी की विदाई करने से मना कर दिया.

विदाई से मना करने पर हड़कम्प मच गया. पूरा दिन पंचायत हुई. इस दौरान गुस्साए परिजनों ने पुलिस को खबर दी. मामले की गम्भीरता देख मौके पर पहुंची पुलिस ने धोखेबाज दूल्हे और उसके साथ आए लोगों को हवालात में डाल दिया.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर