सुल्तानपुर पहुंचा वीर सपूत नीलेश सिंह का शव, श्रद्धांजलि देने वालों का लगा तांता

शहीद का शव घर पहुंचे ही पूरे गांव में कोहराम मच गया. शहीद निलेश को श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा हुआ है.

Alim sheikh | News18 Uttar Pradesh
Updated: April 3, 2018, 10:29 AM IST
सुल्तानपुर पहुंचा वीर सपूत नीलेश सिंह का शव, श्रद्धांजलि देने वालों का लगा तांता
शहीद नीलेश कुमार सिंह की फाइल फोटो.
Alim sheikh | News18 Uttar Pradesh
Updated: April 3, 2018, 10:29 AM IST
सुल्तानपुर के जांबाज लांसनायक नीलेश सिंह जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में रविवार को आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हो गए. मंगलवार को शहीद नीलेश कुमार सिंह का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव कादीपुर तहसील के अखंडनगर लाया गया है. जहां शहीद का शव घर पहुंचे ही पूरे गांव में कोहराम मच गया. शहीद नीलेश को श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा हुआ है. परिजनों की मानें तो कुछ देर में शहीद का अंतिम संस्कार किया जाएगा. यहां उनके परिवारीजन को ढांढस बंधाने के लिए लोगों का तांता लगा हुआ है. घरवालों के चेहरे पर गम की छाया तो है लेकिन, उनको अपने बेटे पर गर्व है.

बता दें कि नीलेश सिंह (34) वर्ष 2003 में सेना में भर्ती हुए थे. वे लांसनायक के पद पर जम्मू कश्मीर के शोपियां सेक्टर में तैनात थे. रविवार को शोपियां में आंतकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों की संयुक्त कार्रवाई में लांसनायक नीलेश ने वीरता का परिचय दिया. वे इस मुठभेड़ में वीरगति को प्राप्त हुए. शहीद लांसनायक के पिता रामप्रताप सिंह को सेना के अफसरों ने इसकी सूचना दी. अचानक इस खबर से सभी स्तब्ध रह गए. गोंडा के प्राइमरी स्कूल में शिक्षिका शहीद की पत्नी अर्चना सिंह भी दोनों बेटों के साथ गांव आ गईं. शहीद की पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है. मौके पर सैंकड़ों की संख्या में ग्रामीण इकट्टा है.

शहीद के अंतिम संस्कार में प्रदेश के आबकारी एवं मद्य निषेध मंत्री जय प्रताप सिंह राज्य सरकार की ओर से शामिल होंगे. वहीं, सांसद वरुण गांधी ने भी शहीद के पिता से शोक संवेदना जताई और शीघ्र आने का वादा किया है. जिला प्रशासन के अधिकारी शहीद निलेश के घर पर मौजूद है.

 

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर