राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुने गये बीजेपी नेता सैय्यद जफर इस्लाम, भाजपा के 7वें मुस्लिम सांसद होंगे
Lucknow News in Hindi

राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुने गये बीजेपी नेता सैय्यद जफर इस्लाम, भाजपा के 7वें मुस्लिम सांसद होंगे
सैय्यद जफर इस्लाम का फाइल फोटो.

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सैय्यद जफर इस्लाम को राज्यसभा (rajya sabha) के लिए निर्विरोध चुना लिया गया है. भाजपा के गोविंद नारायण ने अपना नाम वापस ले लिया इसके बाद उनका कोई प्रतिद्वंदी नहीं था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 4, 2020, 8:35 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में समाजवादी पार्टी के नेता अमर सिंह के निधन से रिक्त हुई राज्यसभा (Rajya Sabha) की सीट पर बीजेपी नेता सैय्यद जफर इस्लाम (Syed Zafar Islam) को निर्विरोध चुन लिया गया है. जफर बीजेपी के सातवें मुस्लिम सांसद होंगे.भारतीय जनता पार्टी (BJP) उत्तर प्रदेश के महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ला ने इस दौड़ से अपना नाम वापस ले लिया था. इसके बाद जफर को निर्विरोध चुना गया है. जफर का कार्यकाल नवंबर 2022 तक होगा. प्रदेश के वित्त, संसदीय कार्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश कुमार खन्ना की उपस्थिति में विधानसभा स्थित पुरुषोत्तम दास टंडन हाल में विशेष सचिव विधानसभा एवं निर्वाचन अधिकारी बृज भूषण दुबे द्वारा निर्वाचित होने का प्रमाण पत्र इस्लाम के अधिकृत प्रतिनिधि जेपीएस राठौर को प्रदान किया गया.

गोविंद नारायण शुक्ला ने वापस लिया नामांकन
निर्वाचन अधिकारी बृज भूषण दुबे ने बताया कि निर्वाचन के लिए प्रत्याशियों द्वारा प्रस्तुत किए गए नामांकन पत्र के नाम वापसी का आज अंतिम दिन था. उन्होंने बताया कि गोविंद नारायण शुक्ला द्वारा अपना नाम वापस ले लिया गया था. गोविंद नारायण के नाम वापस लिए जाने के उपरांत राज्यसभा निर्वाचन हेतु जफर इस्लाम को एकमात्र प्रत्याशी होने के कारण निर्विरोध रूप से निर्वाचित घोषित कर दिया गया. दुबे ने बताया कि अमर सिंह के निधन के उपरांत रिक्त हुई राज्यसभा सीट के लिए निर्वाचन हेतु बीजेपी समर्थित सैय्यद जफर इस्लाम एवं गोविंद नारायण और एक अन्य निर्दलीय प्रत्याशी महेश चंद शर्मा ने अपना नामांकन कराया था.

PHOTOS: काला चश्मा और ढोल-नगाड़े, दरोगा ने ऐसे उड़ाई सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां
उन्होंने बताया कि महेश चंद शर्मा का नामांकन पत्र कोई प्रस्तावक ना होने के कारण खारिज कर दिया गया था, जबकि  गोविंद नारायण ने अपना नाम वापस ले लिया. गौरतलब है कि यूपी बीजेपी के महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ला ने अंतिम तिथि को नामांकन किया था जिसके बाद कयास लगने शुरू हो गये थे कि कहीं बीजेपी के बाहरी प्रत्याशी पर यूपी की ब्राह्मण पालिटिक्स तो हॉवी नहीं हो जाएगी, लेकिन बिहार चुनाव को देखते हुए यह कहा जा यहा था कि मुहर जफर इस्लाम पर ही लगेगी.



कौन हैं सैय्यद जफर इस्लाम?
मध्य प्रदेश के कद्दावर नेता और भाजपा से राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया के बेहद करीबी सैय्यद जफर इस्लाम सात वर्ष ही भाजपा में शामिल हो गये थे. सैय्यद जफर इस्लाम भाजपा के प्रवक्ता और मीडिया के लिए जाना-माना चेहरा हैं. उन्होंने मध्य प्रदेश के दिग्गज ज्योतिरादित्य सिंधिया को कांग्रेस से लाकर भाजपा में शामिल होने की सभी प्रक्रियाओं को बेहद सुगम बनाया था. राजनीति में आने से पहले सैय्यद जफर इस्लाम एक विदेशी बैंक के लिए काम करते थे. वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रभावित होकर भाजपा में शामिल हुए थे.

अखिलेश यादव ने BJP पर कसा तंज, कहा- ये डबल इंजन नहीं, डबल दुर्गति वाली सरकार है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज