नए लुक में दिवाली- गोवर्धन पूजा के लिए बिहार से मथुरा-वृंदावन पहुंचे तेज प्रताप

तेज प्रताप ने आरोप लगाते हुए कहा कि इस वक्त लोग यमुना का पानी नहीं दिल्ली का केमिकल पी रहे हैं.

तेज प्रताप ने आरोप लगाते हुए कहा कि इस वक्त लोग यमुना का पानी नहीं दिल्ली का केमिकल पी रहे हैं.

तेज प्रताप यादव (Tej pratap yadav) ने वर्ष 2018 में भी दिवाली (Diwali) मथुरा (Mathura) में ही मनाई थी. पत्नी से विवाद के बाद वह लगातार मथुरा-वृंदावन (Vrindavan) आते रहते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 27, 2019, 12:38 PM IST
  • Share this:

मथुरा. पिता लालू प्रसाद यादव  (Lalu pratap yadav) की तरह सुर्खियों में रहने वाले तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) एक बार फिर अपने नए लुक को लेकर सुर्खियों में हैं. इस नए लुक के साथ ही वह मथुरा-वृंदावन (Mathura-Vrindavan) पहुंचे हैं. दिवाली (Diwali) और गोवर्धन पूजा के लिए वह बिहार (Bihar) से यहां आए हैं. धनतेरस से ही तेज प्रताप ने पूजा-पाठ शुरू कर दिया था. गौरतलब रहे कि होली पर भी तेज प्रताप 3 से 4 दिन तक मथुरा-वृंदावन में रुके थे.

मथुरा में तेज प्रताप यादव के साथी लक्ष्मण प्रसाद शर्मा बताते हैं कि यह दूसरा मौका है जब तेज प्रताप यादव दिवाली पूजन के लिए मथुरा-वृंदावन आए हैं. बीते साल भी उन्होंने दिवाली पूजन मथुरा में ही किया था. भाईदूज और गोवर्धन पूजा करने के बाद ही वो वापस बिहार जाएंगे. धनतेरस वाले दिन वो मथुरा पहुंच गए थे. आने वाले तीन दिन तक वो पूजा-पाठ में व्यस्त रहेंगे.

यमुना का पानी पीने से बीमार श्रद्धालुओं को देखने पहुंचे तेज



लक्ष्मण प्रसाद शर्मा ने बताया कि कुछ दिन पहले रमेश बाबा की यात्रा के दौरान कई श्रध्दालु बीमार हो गए थे. सभी बीमार श्रद्धालु इस वक्त अस्‍पताल में भर्ती हैं.

दिवाली के मौके पर तेज प्रताप यादव वृंदावन में हैं.

शनिवार को बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप बीमारों को देखने के लिए हॉस्पिटल पहुंचे. उन्‍होंने सभी मरीजों का हालचाल जाना. साथ ही डॉक्टरों से भी उनकी हालत के बारे में जानकारी ली.

तेज प्रताप ने दी चेतावनी

दिवाली के मौके पर तेज प्रताप यादव वृंदावन में.

लक्ष्मण प्रसाद की मानें तो इस दौरान तेज प्रताप ने आरोप लगाते हुए कहा कि इस वक्त लोग यमुना का पानी नहीं, दिल्ली का केमिकल पी रहे हैं. साफ-सफाई के नाम पर धोखा दिया जा रहा है. यात्रियों के स्‍नान और आचमन करने से ही बीमारियां फैल रही हैं. सरकार को इसकी कोई चिंता नहीं है. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जल्द ही यमुना पर ध्यान नही दिया गया तो वह रमेश बाबा के यमुना आंदोलन में कूद पड़ेंगे.

ये भी पढ़ें-

दुकानदार ने प्लास्टिक की थैली में नहीं दिया सामान, गुस्साए ग्राहक ने पीट-पीटकर मार डाला

Kamlesh Tiwari ने हत्या से एक दिन पहले ट्विटर पर शेयर की थी 16 मंदिर-मस्जिदों के नाम वाली ये लिस्ट

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज