Home /News /uttar-pradesh /

बक्से से मिली ये 5 चीजें करती हैं इशारा, गुमनामी बाबा ही थे सुभाष चंद्र बोस

बक्से से मिली ये 5 चीजें करती हैं इशारा, गुमनामी बाबा ही थे सुभाष चंद्र बोस

देश में गुमनामी बाबा के नाम से मशहूर रहे इस शख्स के बख्शे से कुछ बंगाली भाषा में लिखीं किताबें मिली है. जिससे इस बात को और बल मिलने लगा है कि गुमनामी बाबा ही नेताजी सुभाष चंद्र बोस थे.

देश में गुमनामी बाबा के नाम से मशहूर रहे इस शख्स के बख्शे से कुछ बंगाली भाषा में लिखीं किताबें मिली है. जिससे इस बात को और बल मिलने लगा है कि गुमनामी बाबा ही नेताजी सुभाष चंद्र बोस थे.

देश में गुमनामी बाबा के नाम से मशहूर रहे इस शख्स के बख्शे से कुछ बंगाली भाषा में लिखीं किताबें मिली है. जिससे इस बात को और बल मिलने लगा है कि गुमनामी बाबा ही नेताजी सुभाष चंद्र बोस थे.

  • Pradesh18
  • Last Updated :
    देश में गुमनामी बाबा के नाम से मशहूर रहे इस शख्स के बख्शे से कुछ बंगाली भाषा में लिखीं किताबें मिली है. जिससे इस बात को और बल मिलने लगा है कि गुमनामी बाबा ही नेताजी सुभाष चंद्र बोस थे.
    गुमनामी बाबा के पास मिली ये 5 चीजें करती हैं इशारे
    1- भारत-चीन युद्ध पर लिखी किताबें
    2- नेताजी की मौत की जांच के लिए बने खोसला और शाहनवाज कमीशन की रिपोर्ट
    3- हाथ से बने नक्शे. इन नक्शों में उस जगह का भी जिक्र है जहां कथित तौर पर नेताजी की विमान दुर्घटना में मौत हो गई थी.
    4- नेताजी के परिजनों के लिखे पत्र और उनसे संबंधित अखबारों की कटिंग.
    5- बांग्ला और अंग्रेजी साहित्य.

    गौरतलब है कि फैजाबाद के गुमनामी बाबा के सामानों कि शिफ्टिंग कि प्रक्रिया शुक्रवार शुरू हो गयी है. फैजाबाद के कोषागार में रखा गुमनामी बाबा का सामान अयोध्या के इंटरनेशनल राम कथा संग्रहालय में संरक्षित किया जायेगा
    माना जा रहा है कि इस रहस्य से पर्दा भी उठ सकेगा कि ये सामान गुमनामी बाबा का है या फिर नेता जी सुभाष चन्द्र बोस का. इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ के 31 जनवरी 2013 आदेश के अनुपालन में फैजाबाद कोषागार के डबल लॉक को खोलकर गुमनामी बाबा के सामानों का परीक्षण कार्य शुरू हो गया. शिफ्टिंग कि इस प्रक्रिया में लगभग एक हफ्ते के समय लगाने कि उम्मीद है. शिफ्टिंग प्रक्रिया के पूर्व जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र ने कोषागार पहुंच कर गठित प्रशासकीय समिति को दिशा निर्देश दिए. इससे पहले नेताजी के रिश्तेदार भी उनके सामानों को सार्वजनिक करने की कई याचिकाएं दायर कर चुके हैं.

    Tags: Subhash Chandra Bose, फैजाबाद

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर