Home /News /uttar-pradesh /

यमुना एक्सप्रेसवे के किनारे 3 नए शहरों का विदेशी कंपनी बना रही DPR,जानें खासियत

यमुना एक्सप्रेसवे के किनारे 3 नए शहरों का विदेशी कंपनी बना रही DPR,जानें खासियत

नए शहर में सड़कों पर रेड लाइट नहीं होगी. कमर्शियल वाहनों के लिए अलग लेन होगी. बिजली के तार अंडरग्राउंड होंगे. file photo

नए शहर में सड़कों पर रेड लाइट नहीं होगी. कमर्शियल वाहनों के लिए अलग लेन होगी. बिजली के तार अंडरग्राउंड होंगे. file photo

नए शहर में सड़कों पर ट्रैफिक रेड लाइट नहीं होगी. कॉमर्शियल वाहनों के लिए अलग लेन होगी. बिजली के तार अंडरग्राउंड होंगे. पानी की निकासी के लिए खुले नाले-नाली नहीं होंगे. सीवेज के पानी को ट्रीट करने के बाद पौधों को सींचने में इस्तेमाल किया जाएगा. शहर के कूड़े को रीसाइकल कर उसे शहर में ही इस्तेमाल किया जाएगा. नए शहर में बसने वाले लोगों को रोज़गार के लिए कहीं दूर न जाना पड़े और कारोबार भी अपने ही शहर में करने का मौका मिल जाए, इसके लिए यमुना अथॉरिटी नए शहर में ऑफिस, फैक्ट्री और दुकानों के लिए भी जमीन दे रही है.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. यमुना एक्सप्रेसवे के किनारे तीन नए शहर बसाने की तैयारी चल रही है. विदेशी कंपनी को नए शहरों की डीपीआर तैयार करने का काम दिया गया है. यमुना एक्सप्रेसवे डवलपमेंट अथॉरिटी नए शहर बसाने के प्लान पर काम कर रही है. यह तीन शहर होंगे टप्पल-बाजना, नया वृंदावन और एक शहर आगरा की सीमा पर बसाया जाएगा. नए शहरों की डीपीआर तैयार करने के लिए 20 से ज्यादा कंपनियों ने प्रेजेंटेशन दिया था. खास बात यह है कि नए शहर में बसने वाले लोगों को रोज़गार के लिए कहीं दूर न जाना पड़े और कारोबार भी अपने ही शहर में करने का मौका मिल जाए, इसके लिए यमुना अथॉरिटी (Yamuna Authority) नए शहर में ऑफिस, फैक्ट्री और दुकानों के लिए भी जमीन दे रही है.

    अथॉरिटी के अफसरों की मानें तो टप्पल-बाजना अर्बन सेंटर को कुल 11104 हेक्टेयर जगह में बसाया जाएगा. लेकिन इसमें से 1794.4 हेक्टेयर ज़मीन बिजनेस करने के लिए छोड़ी जाएगी. यहां लॉजिस्टिक और वेयर हाउसिंग कलस्टर विकसित किया जाएगा. वहीं 1608.3 हेक्टेयर ज़मीन आवासीय होगी. नया शहर टप्पल के पास बसाया जाएगा.

    मथुरा में राया के पास बसाया जाने वाले नया वृंदावन शहर पर्यटन के लिहाज से खासा खास होगा. यह शहर कुछ 9350 हेक्टेयर में बसाया जाएगा. नए शहर में 731 हेक्टेयर जमीन पर सिर्फ पर्यटन जोन बनेगा. इसके साथ ही 110 हेक्टेयर में रिवर फ्रंट डवलप करने की योजना है. यह यमुना नदी के किनारे होगा. तीसरा शहर यमुना एक्सप्रेसवे के किनारे आगरा की सीमा के पास बसाया जाएगा. तीनों ही शहरों को बसाने का पैटर्न एक ही होगा.

    नोएडा-ग्रेटर नोएडा में फ्लैट खरीदारों के हक में आया रेरा का यह बड़ा फैसला

    नए शहर में यह भी होगा खास
    नए शहर में यमुना अथॉरिटी की योजना स्मार्ट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम लागू करने की है. स्वच्छ पर्यावरण बनाए रखने और बेहतर ट्रांसपोर्ट सुविधा देने के लिए सड़कों पर निजी और कमर्शियल वाहनों के लिए अलग लेन बनाई जाएगी. वहीं शहर में कोई ट्रैफिक सिग्नल भी नहीं होगा.

    इतना ही नहीं नए शहरों से निकलने वाले सीवर के पानी को यमुना नदी में नहीं छोड़ा जाएगा. इस योजना को अंजाम देने के लिए सीवर के पानी को रिसाइकल किया जाएगा. रिसाइकल किए गए पानी को शहर में बागवानी के काम में लिया जाएगा.

    Tags: Agra news, Mathura news, Noida news, Yamuna Expressway

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर