होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

अयोध्या: सितंबर तक पूरा हो जाएगा राम मंदिर की नींव भरने का काम, एक फीट मोटी होगी लेयर

अयोध्या: सितंबर तक पूरा हो जाएगा राम मंदिर की नींव भरने का काम, एक फीट मोटी होगी लेयर

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की नींव भरने का काम सितंबर तक पूरी होगा. (फाइल फोटो)

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की नींव भरने का काम सितंबर तक पूरी होगा. (फाइल फोटो)

अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर (Ram Mandir) की नींव भरने का काम शुरू हो चुका है. राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि नींव भरने का काम सितंबर महीने के अंत तक पूरा हो जाएगा.

अयोध्या. अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir) का काम कितना हुआ. अभी मंदिर निर्माण का कार्य किस चरण तक पहुंचा है, इस बात को जानने के लिए राम भक्त उत्सुक हैं. अयोध्या के सर्किट हाउस में राम मंदिर निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक संपन्न हुई. इसके बाद राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि राम मंदिर की नींव भराई का काम शुरू हो चुका है. उन्होंने कहा कि इंजीनियरिंग फील्ड मटेरियल की भराई शुरू हो चुकी है और एक फीट की लेयर बनने के बाद 10 से 12 टन के रोलर उस पर चलाए जाएंगे ताकि लगभग 2 मिली मीटर तक लेयर बैठ जाए.

उन्होंने बताया कि रोलर दो तरह के चलाए जाएंगे. एक सामान्य और दूसरा कंपन करने वाला. उन्होंने बताया कि एक फिट में लगभग 300 मिलीमीटर लेयर तैयार होती है. इसी तरह से राम मंदिर की नीव में 44 लेयर तैयार होंगे और लगभग 250 मिलीमीटर नींव रोलर से दबने के बाद बैठेगी. चंपत राय ने बताया कि लगभग 50 से 55 फीट का मलबा हटाया गया है. आने वाली बरसात को लेकर चंपत राय ने बताया कि इसके लिए भी रणनीति तैयार हो गई है. ढाई महीने का वर्षा काल माना जा रहा है और उम्मीद की जा रही है कि सितंबर तक नींव की भराई का काम पूरा हो जाएगा.

अयोध्या: पाकिस्तान में हिंदुओं की हत्या पर भड़के तपस्वी छावनी के महंत, PM इमरान खान का जलाया पोस्टर

चंपत राय ने बताया कि नींव में लगभग 1 लाख 25 हज़ार घन मीटर बैकफिलिंग की जाएगी. बरसात होने के पहले हम ऊंचाई पर आ जाएंगे. बैठक में यह इस बात पर भी मंथन हुआ राम जन्मभूमि परिसर में लाखों श्रद्धालु आएंगे इसके लिए उनके पानी पीने की व्यवस्था कैसे की जाएगी. इसके लिए उन्हें बताया कि तीन विकल्प तलाशे जा रहे हैं, ताकि परिसर में पानी पीने की दिक्कत ना हो. बैठक में इस बात पर भी मंथन हुआ कि राम जन्म भूमि परिसर में बरसात का पानी व वेस्ट पानी के निकास को लेकर क्या व्यवस्थाएं की जाएं. बैठक में राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय सदस्य अनिल मिश्र एलएनटी व टाटा कंसल्टेंसी के एक्सपर्ट भी मौजूद रहे.

Tags: Ayodhya News, Lord rama, Ram Mandir ayodhya, Up news in hindi

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर