UP के इस शहर में दशहरे पर भगवान राम और रावण की सेना में होता है जमकर युद्ध

भगवान राम और रावण की सेना के बीच चल रहा कुप्पी युद्ध.
भगवान राम और रावण की सेना के बीच चल रहा कुप्पी युद्ध.

कौशांबी (Kaushambi) में राम (Rama) और रावण (Rawan) की सेनाओं के बीच होने वाले युद्ध (War) को कुप्पी युद्ध कहा जाता है. इसमें राम और रावण की सेनाएं (Army) एक-दूसरे पर प्लास्टिक की कुप्पियों से सच में हमला करती हैं. इस अनूठे कुप्पी युद्ध को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2020, 5:46 PM IST
  • Share this:
कौशांबी. दशहरे (Dussehra) पर सारी दुनिया में रावण के पुतले का दहन किया जाता है, लेकिन एक शहर ऐसा भी है, जहां पर इस दिन भगवान श्रीराम और रावण की सेना में युद्ध होता है. यह शहर उत्तर प्रदेश का कौशांबी है, जहां पर श्रीराम (Lord Rama) और रावण (Rawan) की सेनाओं के बीच रियल वार यानी सचमुच की लड़ाई होती है. इस लड़ाई को यहां पर कुप्पी युद्ध कहा जाता है.

कौशांबी में राम और रावण की सेनाएं एक-दूसरे पर प्लास्टिक की कुप्पियों से सच में हमला करती हैं. दोनों ओर की सेनाएं खुद को बचाते हुए दुश्मन की सेना पर वार करती हैं. इस लड़ाई में कई बार सैनिकों को चोट भी आ जाती है. कौशांबी में होने वाले इस अनूठे कुप्पी युद्ध को देखने के लिए दूर-दूर से सैकड़ों की तादात में लोग आते हैं. इस दौरान यहां सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये जाते हैं. कुप्पी युद्ध का आयोजन कौशांबी जिले के दारानगर इलाके की रामलीला कमेटी कराती है.





UP: अनुप्रिया पटेल के बाद राजू श्रीवास्तव ने 'मिर्जापुर वेब सीरीज' पर जताया विरोध, CM योगी से की अपील
यहां इस बार कोरोना की महामारी के बावजूद कुप्पी युद्ध का आयोजन किया गया. इस दौरान कोविड प्रोटोकॉल का पूरा पालन किया गया. सैनिकों ने मास्क लगा रखे थे तो पूरे कैम्पस को बार सैनेटाइज किया गया. यहां कुप्पी युद्ध की परंपरा सदियों पुरानी है. युद्ध में रावण की सेना काली और राम की भगवा ड्रेस में होती है. पहले दिन चार और दूसरे दिन तीन युद्ध होते हैं दोनों टीमों में पचीस पचीस सैनिक होते हैं. हालांकि कोरोना की वजह से सैनिकों की संख्या इस बार घटाकर दस- दस कर दी गई थी. यहां ज़्यादातर लड़ाई रावण की सेना ही जीतती है, अंतिम दिन निर्णायक युद्ध राम की सेना को प्रतीकात्मक तौर पर जिताया जाता है. इस अनूठे युद्ध को देखने के लिए हज़ारों की संख्या में भीड़ जुटती है. यहां आयोजन स्थल पर मेला भी लगा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज