West UP में जमकर हो रही है इस अधिकारी की तारीफ, महिलाओं को ऐसे दे रहे हैं रोज़गार

बुलंदशहर में बिजली के बिल की वसूली करती है समूह की एक महिला.
बुलंदशहर में बिजली के बिल की वसूली करती है समूह की एक महिला.

सरकार भी खुश है कि बड़ी ही आसानी से ऐसा राजस्व (Revenue) उन्हें मिल रहा है जिसके मिलने की उम्मीद कम ही होती है. पहले महीने में ही 384 महिलाओं को यह रोज़गार (Employment) मिला है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 29, 2020, 9:36 AM IST
  • Share this:
मेरठ. पश्चिमी यूपी (West UP) के 14 ज़िलों में एक आलाधिकारी की चारों तरफ जमकर तारीफ हो रही है. यह अधिकारी बिजली विभाग के हैं. इनकी तारीफ बिजली के बिलों (Electricity Bill) को माफ करने के लिए नहीं, बल्कि महिलाओं (Womens) को रोज़गार देने के चलते हो रही है. रोज़गार भी ऐसा कि शुरुआत के पहले महीने में ही महिलाओं ने हज़ारों रुपये की कमाई की है. वहीं सरकार भी खुश है कि बड़ी ही आसानी से ऐसा राजस्व (Revenue) उन्हें मिल रहा है जिसके मिलने की उम्मीद कम ही होती है. पहले महीने में ही 384 महिलाओं को यह रोज़गार (Employment) मिला है.

एमडी ने यह बनाया है महिलाओं के लिए बिजनेस प्लान

पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम के एमडी एएम बंगारी ने बिजली बिल की वसूली और महिलाओं को रोज़गार देने का ऐसा तरीका निकाला है कि काम करने के लिए महिलाओं के लगातार आवेदन आ रहे हैं. एमडी ने बताया कि हमारे पश्चिमांचल में 14 ज़िले आते हैं. यह ज़िले हैं नोएडा, गाज़ियाबाद, बुलंदशहर, मेरठ, बागपत, सहारनपुर, मुरादाबाद, संभल, हापुड़, रामपुर, अमरोहा, बिजनौर, मुजफ्फरनगर और शामली हैं. इन ज़िलों का एक बड़ा हिस्सा ग्रामीण क्षेत्र में भी है.



यह भी पढ़ें- इन आंकड़ों के दम पर कहती है Delhi की केजरीवाल सरकार- हमारी पढ़ाई औरों से अच्छी
ग्रामीण इलाकों से बिजली के बिल की वसूली 20 से 25 फीसद ही हो पाती है. बिजली का बिल लेने की प्रक्रिया कोई साल में एक-दो बार तो होती नहीं है. यह हर महीने की प्रक्रिया है. इस लिहाज से यह बड़ी समस्या थी. इसी को ध्यान में रखते हुए एक बिजनेस प्लान बनाया गया है. यह प्लान ऐसा है कि इसमे हमारे विभाग को राजस्व मिल रहा है तो महिलाओं के समूह को रोज़गार.

UP Vidyut Vitran Nigam, Electricity officer, West UP, employment, women, meerut, noida, ghaziabad, यूपी विघुत वितरण निगम, बिजली अधिकारी, वेस्ट यूपी, रोजगार, महिला, मेरठ, नोएडा, गाजियाबाद
यह हैं पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम के एमडी अरविंद मल्लपा बंगारी.


बिजनेस प्लान से ऐसे हो रही है महिलाओं की कमाई

एमडी एएम बंगारी ने ने बिजनेस प्लान के बारे में बताया कि हम हर ज़िले में महिलाओं के समूह को इस रोज़गार का अवसर दे रहे हैं. इसके तहत 2 हज़ार रुपये से कम का एक बिल वसूलने पर महिलाओं को कमीशन के रूप में 20 रुपये मिलते हैं. लेकिन जब यही महिलाएं 2 हज़ार रुपये से ज़्यादा के बिल की वसूली करती हैं तो उन्हें उस एक बिल पर एक फीसदी का कमीशन भी दिया जाता है.

यह भी पढ़ें- Delhi में केजरीवाल सरकार इनको दे रही है 400 यूनिट तक मुफ्त बिजली, आप भी उठाएं लाभ

एक महीने में 384 महिलाओं ने वसूले 11 लाख रुपये

अगर इस बिजनेस प्लान के पहले महीने यानि सितम्बर पर निगाह डालें तो यह अभी खत्म नहीं हुआ है, लेकिन 12 समूहों की 384 महिलाओं ने 11 लाख रुपये से ज़्यादा के बिल की वसूली की है. दो ज़िलों में अभी महिलाओं के समूहों की तैनाती नहीं हो पाई है. यह महिलाएं अपने हाथ में बिल की पर्ची बनाने वाली इलेक्ट्रोनिक्स बिल मशीन साथ लेकर चलती हैं.

महिलाओं की पहले महीने की कामयाबी को देखते हुए अब अधिकारियों को भी भरोसा हो चला है कि अब उन्हें वो बिल भी मिल सकेंगे जो कई-कई महीनों से नहीं मिल पाए हैं. चर्चा यह भी है कि पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम के इस बिजनेस प्लान को दक्षिणांचल और पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम अपने यहां भी लागू कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज