Unlock 1.0: योगी सरकार से हरी झंडी मिलने के बावजूद नहीं खुलेंगे ये प्रमुख मंदिर, जानें क्‍या है वजह
Mathura News in Hindi

Unlock 1.0: योगी सरकार से हरी झंडी मिलने के बावजूद नहीं खुलेंगे ये प्रमुख मंदिर, जानें क्‍या है वजह
श्रद्धालुओं की सुरक्षा को ध्‍यान में रखते हुए सरकार द्वारा बनाएं गए नियमों के तहत ही मंदिर में दर्शन और पूजन संभव हो सकेगा.

योगी सरकार (Yogi Government) की ओर से हरी झंडी मिलने के बावजूद कई मंदिरों की कमेटियों ने धर्मस्‍थान को 8 जून से खोलने का विरोध किया.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के बीच मथुरा-वृन्दावन (Mathura and Vrindavan) के मंदिरों को लेकर बड़ा फैसला किया गया है. यूपी राज्य सरकार के सभी धार्मिक स्थलों (Religious place) को खोलने के आदेश के बावजूद 8 जून से मथुरा और वृन्दावन के कुछ प्रमुख मंदिर नहीं खोले जाएंगे. मथुरा श्रीकृष्ण जन्मभूमि को सोमवार से ही खोलने का ऐलान कर दिया गया है. ऐसे में जहां मथुरा में लोग तमाम सुरक्षा-व्यवस्थाओं के बीच भगवान के दर्शन कर सकेंगे, वहीं वृन्दावन में दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं को अभी इंतज़ार करना होगा.

मथुरा में श्री कृष्ण जन्मस्थान को 8 जून से खोलने का फैसला किया गया है. सुबह 7 बजे से दोपहर 12 बजे तक और शाम को 4 बजे से रात के 8 बजे तक श्रद्धालु यहां दर्शन कर सकेंगे. श्री कृष्ण जन्मस्थान सेवा संस्थान के सचिव कपिल शर्मा और सदस्य गोपेश्वर चतुर्वेदी ने बताया कि मंदिर खोलने के दौरान राज्य सरकार की ओर से दिए गए निर्देशों का पूरी तरह पालन किया जाएगा.

इस दौरान इंफ्रारेड स्कैनर, सेनिटाइजर, लिक्विड साबुन की व्यवस्था के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग के लिए मंदिर परिसर और मंदिर मार्ग में गोले बना दिए गए हैं. इसके साथ ही रोजाना दोपहर और रात में मंदिर को सैनिटाइज भी किया जाएगा. संस्थान के कर्मियों और सेवा में लगे पुलिसकर्मियों के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले जड़ी-बूटी युक्त काढे की भी व्यवस्था की गई है, जो उन्हें रोजाना पिलाया जाएगा. मंदिर प्रबंधन ने इस महामारी को हराने के लिए और श्रद्धालुओं को जागरूक करने के लिए बैनर भी लगाए हैं.



द्वारकाधीश 10 जून को खुलेगा, बलदेव दाऊजी पर 10 जून को होगा फैसला
मथुरा के द्वारकाधीश मंदिर को 10 जून से खोला जाएगा. इस सम्बंध में मंदिर के मीडिया प्रभारी राकेश तिवारी ने बताया कि प्रशासन के द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइजिंग की व्यवस्था की जा रही है. इसके बाद 10 जून को सुबह मंदिर खोला जाएगा. जिसकी समय सारिणी 9 जून को घोषित की जाएगी. वहीं, बलदेव के दाऊजी मंदिर को खोले जाने को लेकर 10 जून को फैसला होना है. इसके साथ ही आगरा में भी कोरोना को लेकर बड़ा फ़ैसला किया गया है. फिलहाल आगरा के सभी धार्मिक स्थल बंद रहेंगे.

government, religious place, banke bihari, shri krishna janmasthan, कोविड 19, तालाबंदी, मंदिर, मथुरा, वृंदावन, योगी आदित्यनाथ, यूपी सरकार, धार्मिक स्थल, बांके बिहारी, श्रीकृष्ण जन्मस्थान
सीएम योगी आदित्यनाथ.


वृन्दावन में मंदिर प्रबन्धक सख्त, ये प्रमुख मंदिर अभी रहेंगे बन्द
7 जून को मथुरा जिला प्रशासन ने मथुरा वृंदावन के प्रमुख मंदिर प्रबंधन सदस्यों के साथ बैठक की, जिसमें कोरोना के मौजूदा हालात के साथ ही राज्य सरकार की ओर से मंदिरों को खोले जाने को लेकर दिए गए दिशा-निर्देशों पर चर्चा की. इसके साथ ही सभी मंदिरों के प्रबंधकों से मंदिर खोले जाने पर विचार मांगे गए. जिसमें वृंदावन के मंदिर प्रबंधकों ने अभी मंदिर खोले जाने पर आपत्ति जताई.

अभी बंद रहेंगे ये प्रमुख मंदिर

बांके बिहारी मंदिर- 30 जून तक

राधावल्लभ मंदिर-30 जून तक, उसके बाद कमेटी करेगी फैसला

इस्कॉन टेम्पल(अंग्रेज मंदिर)- 30 जून तक

प्रेम मंदिर- 30 जून तक (साथ ही कहा कि बांके बिहारी खुलने के साथ ही खुलेगा प्रेम मंदिर)

रंगनाथ मंदिर- 31 जुलाई तक

राधारमण मंदिर-8 जून को नहीं खुलेगा

कात्यायनी मंदिर- अगली सूचना तक

राधा दामोदर मंदिर- 8 जून को नहीं खुलेगा

जिला प्रशासन बोला, मंदिर संभाले अंदर की व्यवस्था
मथुरा सिटी मजिस्ट्रेट मनोज कुमार सिंह ने News18hindi को बताया बताया कि सभी मंदिरों के लिए गाइड लाइंस जारी कर दी गई हैं. सभी मंदिर प्रबंधकों और प्रबंधन कमेटियों से कहा गया है कि वह कोरोना से निपटने के लिए राज्य सरकार की ओर से जारी की गई गाइडलाइन्स के अनुसार अपने यहां पर व्यवस्थाएं करें. मंदिरों में सेनिटाइजेशन के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग की व्यवस्था भी मंदिर प्रशासन को ही करनी होगी. वहीं मंदिर के बाहर की व्यवस्था जिला प्रशासन संभालेगा.

ये हैं मथुरा जिला प्रशासन की ओर से जारी की गईं गाइडलाइन्स

. मंदिर में सभी भक्त मेडिकल चेकअप के बाद ही प्रवेश कर सकेंगे.

. दर्शनार्थियों को मंदिर में फेस मास्क का उपयोग करना होगा.

. मंदिर में एक स्थान पर पांच श्रद्धालु ही एक साथ प्रवेश कर सकेंगे.

. मंदिर प्रबंधक को मंदिर के प्रवेश द्वार पर अल्कोहल युक्त सेनिटाइजर और इंफ्राटेड थर्मामीटर लगाना होगा.

. भक्तों को मंदिर के बाहर और अंदर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा.

. सभी श्रद्धालु कम से कम 6 फीट की दूरी पर खड़े हों.

. मूर्ति, पवित्र ग्रंथों या मंदिर परिसर को छूने की अनुमति नहीं होगी.

.मंदिर के अंदर किसी भी प्रकार का प्रसाद वितरण या जल का छिड़काव नहीं किया जा सकेगा.

.एक दूसरे को बधाई देने पर शारीरिक संपर्क से बचना होगा.

.सभी भक्त अपने जूते-चप्पल गाड़ियों में उतार कर आएं.

.एन-19 की ओर से आने वाले सभी वाहनों को मल्टी लेवल पार्किंग पर रोका जाएगा.

. वाहन पार्क कर थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही श्रद्धालु आगे मंदिर के लिए जा सकेंगे.

. यमुना एक्सप्रेस वे और मथुरा की ओर से आने वाले वाहनों को सौ शैय्या तिराहे पर रोका जाएगा.

ये भी पढ़ें:-

Unlock 1.0: कल से खुलेंगे मॉल-मंदिर और बॉर्डर, यहां जानें केजरीवाल सरकार ने आपको कितनी दी राहत

फिर बंद हो सकती है शाहीन बाग-कालिंदी कुंज सड़क, Delhi Police कमिश्नर और गृह सचिव को लिखा लैटर!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading