10 माह बाद युवक के शव को कब्र से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया

उन्नाव जिले के असोहा क्षेत्र के सधारीखेड़ा गांव में बुधवार को जिलाधिकारी के आदेश पर एसडीएम पुरवा की देखरेख में सोनू नामक युवक के शव को मौत के 10 माह बाद कब्र से निकलवाकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 6, 2018, 3:27 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 6, 2018, 3:27 PM IST
उन्नाव जिले के असोहा क्षेत्र के सधारीखेड़ा गांव में बुधवार को जिलाधिकारी के आदेश पर एसडीएम पुरवा की देखरेख में सोनू नामक युवक के शव को मौत के 10 माह बाद कब्र से निकलवाकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया. मृतक के परिजनों ने अवैध संबंधों के चलते हत्या का आरोप लगा कोर्ट से मुकदमा दर्ज कराकर डीएम से शव का पोस्टमार्टम कराने की मांग की थी.

मौत के 10 माह बाद जिलाधिकारी उन्नाव के आदेश पर एसडीएम पुरवा राजेन्द्र कुमार और एसओ असोहा राजकुमार की अगुवाई में वीडियोग्राफी के साथ कब्र से खोदकर निकाला गया. कब्र की खुदाई सुबह 11.30 बजे शुरू हुई और लगभग 2 घंटे की खुदाई के बाद शव को बाहर निकाल पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया.

समाधा सहित आसपास के गांवों के लोग सुबह से ही कब्र की खुदाई देखने के लिए एकत्र हो गए. शव बाहर निकलने के बाद सोनू की मां का रो-रो रोकर बुरा हाल था. वहीं उनकी मां बार-बार घटना को अंजाम देने वालों को भी सजा देने की गुहार लगा रही थीं.

बताते चलें कि सोनू यादव अपनी बुआ के लड़के पुरवा कोतवाली के अमरापुर निवासी पप्पू, शिवम और अंकित के साथ हरियाणा के गुरुग्राम में रहकर नौकरी करता था. 28 अक्टूबर 2017 को सोनू की मौत गुरुग्राम में ही हो गई थी. 29 अक्टूबर को पप्पू, शिवम और अंकित सोनू का शव लेकर सधारी खेड़ा पहुंचे और अंतिम संस्कार कर दिया गया.

कुछ दिन बाद सोनू के परिजनों को सोनू की हत्या किए जाने की बात पता चली जिसके बाद परिजनों ने पप्पू, अंकित और शिवम से बात की तो सभी ने अलग-अलग जवाब दिए. अलग-अलग जवाब होने और शव की स्थिति को देखकर परिजनों को हत्या किए जाने का यकीन हो गया.

इसके बाद परिजनों ने असोहा पुलिस सहित उच्चाधिकारियों से शिकायत की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई तो परिजनों ने कोर्ट मे वाद दायर कर दिया. कोर्ट के आदेश पर 6 जुलाई 2018 को पप्पू, शिवम और अंकित पर हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ. मुकदमे के बाद परिजनों ने डीएम से शव का पोस्टमार्टम कराने की मांग की जिस पर डीएम देवेन्द्र कुमार ने कब्र को शव निकलवाने की संतुति दे दी.

रिपोर्ट - अनुज गुप्ता

ये भी पढ़ें -

शिकागो के विश्व हिंदू कांग्रेस में मुख्य वक्ता होंगे RSS प्रमुख मोहन भागवत

हापुड़ लिंचिंग केस : सुप्रीम कोर्ट ने आईजी को दिया जांच की निगरानी का आदेश
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर