उन्नाव रेप केस: आरोपी MLA कुलदीप सिंह सेंगर के हथियार लाइसेंस रद्द

रेप मामले में निलंबित आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर जेल में हैं. लेकिन जब रेप पीड़िता की गाड़ी का एक्सीडेंट हुआ तो ये मामला एक बार फिर सुर्खियों में आ गया. जिला मजिस्ट्रेट देवेंद्र कुमार पांडेय ने प्रकरण की सुनवाई की.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 3, 2019, 8:49 AM IST
उन्नाव रेप केस: आरोपी MLA कुलदीप सिंह सेंगर के हथियार लाइसेंस रद्द
विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के शस्त्र लाइसेंस रद्द
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 3, 2019, 8:49 AM IST
उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के जानलेवा एक्सीडेंट के बाद उन्नाव जिला प्रशासन ने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के तीनों असलहों का लाइसेंस रद्द कर दिया है. सीतापुर जेल में बंद सेंगर के नाम पर एक बंदूक, एक राइफल और रिवाल्वर शामिल हैं. अप्रैल 2018 में बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ गैंगरेप की रिपोर्ट दर्ज हुई थी. जिसके बाद विधायक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था. फिलहाल उनपर सीबीआई कोर्ट में मुकदमा चल रहा है. इसके बाद पीड़ित पक्ष ने विधायक के शस्त्र लाइसेंस रद्द करने की मांग की थी.

डीएम ने दिए आदेश

रेप मामले में बीजेपी से निष्काषित आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर जेल में हैं. लेकिन जब रेप पीड़िता की गाड़ी का एक्सीडेंट हुआ तो ये मामला एक बार फिर सुर्खियों में आ गया. जिला मजिस्ट्रेट देवेंद्र कुमार पांडेय ने प्रकरण की सुनवाई की. हालांकि विधायक के पक्ष के वकील नहीं पहुंचे. इसके बाद जिला मजिस्ट्रेट ने आयुध लिपिक को कार्यालय बुलाकर शस्त्र लाइसेंस नियमावली के विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की. जिसके बाद जिला मजिस्ट्रेट ने विधायक के तीनों लाइसेंस रद्द करने का आदेश दिया.

एक्सीडेंट के बाद कानून व्यवस्था पर उठे सवाल

रेप मामले में निलंबित आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर जेल में बंद हैं. लेकिन जब रेप पीड़िता की गाड़ी का एक्सीडेंट हुआ तो ये मामला एक बार फिर सुर्खियों में आ गया. एक्सीडेंट के मामले में शक की सुई बीजेपी विधायक पर उठने लगी. घटना के बाद पूरे विपक्ष ने इस मुद्दे पर योगी सरकार और बीजेपी को घेरा. संसद से लेकर सड़क तक इस मुद्दे के बहाने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाकर सरकार और सीएम योगी आदित्यनाथ को कठघरे में खड़ा कर दिया गया.

पीड़ित युवती अपने परिजनों के साथ रायबरेली से उन्नाव लौट रही थी. रास्ते में उनके कार को ट्रक ने टक्कर मार दी जिससे मौके पर उसकी मौसी और चाची की मौत हो गई. वो और उसका वकील इस दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो गए.


यह है पूरा मामला 
Loading...

उन्नाव के विधायक कुलदीप सेंगर पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता अपने परिजनों समेत रायबरेली से उन्नाव लौटते समय रास्ते में सड़क हादसे का शिकार हो गई थी. उसकी कार और ट्रक के बीच हुई टक्कर में पीड़िता की चाची और मौसी की मौके पर मौत हो गई थी, जबकि वो खुद और उसके वकील महेंद्र सिंह चौहान गंभीर रूप से घायल हैं.

इन दोनों का लखनऊ के केजीएमयू ट्रॉमा सेंटर में इलाज चल रहा है. प्रशासन ने ऐलान किया है कि दुर्घटना में घायल दोनों लोगों (रेप पीड़िता और उसके वकील) के इलाज का सारा खर्च राज्य सरकार वहन करेगी.

कौन हैं विधायक कुलदीप सिंह सेंगर?
मूल रूप से फतेहपुर जिले के रहने वाले बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की माखी गांव में तूती बोलती है. यहां के माखी थाना क्षेत्र के सराय थोक पर उनका ननिहाल है. इसलिए वो यहीं आकर बस गए.

सेंगर उन्नाव के अलग-अलग विधानसभा सीटों से 4 बार से लगातार विधायक निर्वाचित हुए हैं. उन्होंने यूथ कांग्रेस से अपनी राजनीति की शुरूआत की और वर्ष 2002 में भगवंतनगर से बीएसपी के टिकट पर विधायक बने. इसके बाद 2007 और 2012 में सपा के टिकट पर चुने गए. इसके बाद साल 2017 में बांगरमऊ से बीजेपी के टिकट पर चुनकर विधानसभा पहुंचे.

(रिपोर्ट: अनुज गुप्ता)

ये भी पढ़ें:

साक्षी मिश्रा के MLA पिता से सुलह चाहते हैं अजितेश के पापा, CM योगी से की ये अपील...

चार दिन पहले दरोगा को मिली थी पोस्टिंग, सड़क हादसे में मौत
First published: August 3, 2019, 8:25 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...