अपना शहर चुनें

States

विदेश से होती है लव जिहाद के नाम पर फंडिंग, लगती है हिंदू लड़कियों की बोली: साक्षी महाराज

विदेश से होती है लव जिहाद के नाम पर फंडिंग (File photo)
विदेश से होती है लव जिहाद के नाम पर फंडिंग (File photo)

उधर, योगी सरकार के लव जिहाद (Love Jihad) से जुड़े धर्म परिवर्तन वाले अध्यादेश को इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) में चुनौती दी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 12, 2020, 2:49 PM IST
  • Share this:
फिरोजाबाद. देश के दूसरे राज्यों की तरह उत्तर प्रदेश में भी 'लव जिहाद' (Love Jihad) के खिलाफ कानून लाने पर योगी सरकार (Yogi Government) ने अंतिम मुहर लगा दी है. इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के उन्नाव (Unnao) से भाजपा सांसद साक्षी महाराज (BJP MP Sakshi Maharaj) ने कहा है कि लव जिहाद के नाम पर हिंदू लड़कियों की बोली लगती है. लव जिहाद पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि लव बहुत अच्छा शब्द है, लव प्रेम विवाह की परंपरा सृष्टि हुई तब से चली आ रही है. उसमें किसी को कोई आपत्ति नहीं है. लेकिन जिहाद जुड़ने पर वह जहर हो जाता है.

शनिवार को फिरोजाबाद पहुंचे बीजेपी सांसद साक्षी महाराज आगे कहते हैं कि लव जिहाद हिंदू की लड़कियों को गलत नामों से अपने चक्कर में फंसा कर उनसे आतंकी पैदा किए जाते हैं और उन्हें छोड़ दिया जाता है. जबकि प्रेम विवाह 99 प्रतिशत सफल होते हैं लेकिन लव जिहाद 99 प्रतिशत असफल होते हैं. जबकि लव जिहाद का पैसा विदेशों से आता है. जहां कट्टर हिंदू की लड़की का रेट 11 लाख रुपए है. ब्राह्मण ठाकुर और ओबीसी के अलग-अलग रेट फिक्स है.साक्षी महाराज ने दावा करते हुए कहा कि इसका संचालन मदरसों और मस्जिदों से होता है. साथ ही उन्होंने योगी सरकार द्वारा लाया गए लव जिहाद कानून की सराहना की.

उधर, योगी सरकार के लव जिहाद से जुड़े धर्म परिवर्तन वाले अध्यादेश को इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) में चुनौती दी गई है. अध्यादेश को नैतिक व संवैधानिक रूप से अवैध बताते हुए उसे रद्द करने की मांग की गई है.



50 हजार रुपये तक का जुर्माना
उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल ने विवाह के लिए अवैध धर्मांतरण रोधी कानून के प्रस्ताव को मंगलवार को मंजूरी दे दी. इससे पहले राज्य सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में शादी के लिए धोखाधड़ी कर धर्मांतरण किए जाने की घटनाओं पर रोक लगाने संबंधी कानून के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. कैबिनेट में प्रस्ताव पास होने के बाद 15- 50 हजार तक का जुर्माना का प्रवधान है. वहीं शादी के नाम पर धर्म परिवर्तन अवैध घोषित कर दिया गया है. अगर कोई भी ग्रुप धर्म परिवर्तन कराता है तो उसे 3 से 10 साल की सजा होगी.

(रिपोर्ट- देवेंद्र सिंह चौहान)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज