अपना शहर चुनें

States

Unnao Case: माखी कांड में CBI गवाह बने रेप पीड़िता के वकील की मौत, एक साल से थे कोमा में

वकील महेंद्र सिंह एक साल से कोमा में थे.
वकील महेंद्र सिंह एक साल से कोमा में थे.

उन्नाव के बहुचर्चित माखी रेप कांड (Unnao Rape Case) पीड़िता के वकील और सीबीआई गवाह महेंद्र सिंह की रविवार रात मौत गई. 28 जुलाई 2019 को हुए सड़क हादसे में घायल होने के बाद महेंद्र सिंह पिछले एक साल से कोमा (Coma) में थे.

  • Share this:
उन्नाव. उत्तर प्रदेश के उन्नाव के बहुचर्चित माखी कांड (Makhi Case) पीड़िता के वकील महेंद्र सिंह की मौत हो गई.  29 जुलाई 2019 को रायबरेली में रेप (Rape) पीड़िता की कार एक  ट्रक से टकरा गई थी. हादसे में कार सवार रेप पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी. वहीं रेप पीड़िता और वकील महेंद्र सिंह को गंभीर चोटें आईं थीं. रेप पीड़िता की हालत में अब सुधार है तो वहीं हादसे के बाद से कोमा में रहे वकील की जिला अस्पताल में मौत हो गई. पुलिस ने शव का पीएम कराकर परिजनों को सौंपा है. वहीं गांव में पुलिस बल को अलर्ट कर दिया गया है. बता दें मृतक वकील महेंद्र सिंह रेप पीड़िता के मुकदमों के प्रमुख पैरोकार भी थे. जबकि माखी कांड मामले में पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर जेल में बंद हैं.

बता दें कि उन्नाव का बहुचर्चित  रेप कांड 28 जुलाई 2019 को एक बार तब सुर्खियों में आया था , जब रेप पीड़िता अपनी मौसी, चाची और वकील महेंद्र सिंह के साथ रायबरेली जा रही थी. तभी रास्ते में एक ट्रक से पीड़िता कि कार की टक्कर हो गई थी.  हादसे में रेप पीड़िता की चाची और मौसी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी. वहीं रेप पीड़िता और वकील महेंद्र सिंह की स्थित नाजुक होने पर दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था.

ये भी पढ़ें: बुलेट की किश्त भरने बने चोर, फिल्म स्टाइल में व्यापारी से लूटे 18 लाख, अब होगी जेल 



हादसे के बाद से थे कोमा में 
करीब 6 महीने चले उपचार के दौरान पीड़िता की हालत में सुधार आने पर दिल्ली स्थित घर भेज दिया गया, वहीं हादसे में सीबीआई के गवाह रहे वकील कोमा में चले गए थे. करीब 11महीने पहले तबीयत में सुधार न होने पर एम्स हॉस्पिटल ने डिस्चार्ज कर घर भेज दिया था. जहां उन्नाव शहर स्थित सीबीआई के गवाह पारिवारिक सदस्य देवेन्द्र सिंह के घर पर ही सीआरपीएफ जवानों के सुरक्षा घेरे में घायल वकील का इलाज चल रहा था. रविवार की रात तबीयत बिगड़ने पर परिजन चेकअप के लिए जिला अस्पताल ले गए , जहां जांच के दौरान वकील को मृत घोषित कर दिया गया. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया और बाद में शव को परिजनों को सौंप दिया. वकील की मौत के बाद माखी थाना पुलिस को अलर्ट पर रखा गया है.

मृतक वकील के परिजन बोले

मृतक के पारिवारिक सदस्य देवेन्द्र सिंह ने बताया कि महेंद्र सिंह हादसे में गंभीर घायल हुए थे. एम्स से कोमा की हालत में डिस्चार्ज हुए थे. तब से घर पर ही इलाज चल रहा था. एक साल से कोमा में ही थे. कल रात तबीयत बिगड़ने पर जिला अस्पताल लाए, जहां मौत हो गई है. वहीं आपको बता दें कि माखी कांड मामले में पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर जेल में बंद हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज