उन्‍नाव रेप कांड: गवाह के परिजनों ने किया पोस्‍टमार्टम कराने से इनकार

उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा सीबीआई के साथ साझा की गई जानकारी के मुताबिक यूनुस नाम का गवाह पिछले कुछ समय से कथित तौर पर बीमार चल रहा था. वो माखी गांव में एक परचून की दुकान चलाता था.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 25, 2018, 1:47 PM IST
उन्‍नाव रेप कांड: गवाह के परिजनों ने किया पोस्‍टमार्टम कराने से इनकार
मुख्‍य गवाह यूनुस के परिजन
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 25, 2018, 1:47 PM IST
उन्‍नाव रेप कांड के सीबीआई का मुख्‍य गवाह यूनुस की मौत के बाद शव को आनन-फानन में दफनाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. शनिवार को यूनुस के परिजनों ने पोस्‍टमार्टम कराने से इनकार कर दिया है. मौके पर पुलिस प्रशासन के अधिकारी परिजनों को समझाने का प्रयास कर रहे है. हालांकि परिजन शव को दोबारा बाहर नहीं निकलवाना चाहते हैं और इसका विरोध कर रहे हैं. गांव में भारी संख्‍या में ग्रामीण इकट्ठा हो गए हैं. मामले की गंभीरता को देखते हुए जिला प्रशासन ने भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई है.

गौरतलब है कि दुष्कर्म के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से जुड़े प्रकरण में पीड़िता के पिता की हत्या में सीबीआई के मुख्य गवाह की रहस्यमयी ढंग से मौत हो गई है. पुलिस और सीबीआई को सूचना दिए बिना ही परिजनों ने आनन-फानन में शव को दफना दिया. पीड़िता के चाचा ने इसकी साजिशन हत्या किए जाने की बात कहते हुए पोस्टमार्टम कराने की मांग है.

उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा सीबीआई के साथ साझा की गई जानकारी के मुताबिक यूनुस नाम का गवाह पिछले कुछ समय से कथित तौर पर बीमार चल रहा था. वो माखी गांव में एक परचून की दुकान चलाता था. पीड़िता और विधायक भी इसी गांव में रहते हैं. उन्होंने बताया कि उसे कुछ दिनों से लीवर संबंधी बीमारी थी और पिछले हफ्ते उसकी मौत हो गई थी. जर्मनी में मौजूद राहुल गांधी ने एक खबर का हवाला देते हुए ट्विटर पर आरोप लगाया कि मामले के मुख्य गवाह की “रहस्यमय परीस्थितियों में मौत हुई‘’ और “शव का पोस्टमार्टम किए बिना ही उसे जल्दबाजी में दफनाया गया.”

किस मामले में गवाह था यूनुस

यूनुस सीबीआई के उस मामले में एक गवाह था जो विधायक अतुल सिंह सेंगर के भाई और चार अन्य द्वारा बलात्कार पीड़िता के पिता की बुरी तरह पिटाई करने से जुड़ा है. इस पिटाई की वजह से पीड़िता के पिता की मौत हो गई थी. बलात्कार पीड़िता के पिता की जेल में मौत हो गई थी जहां उसे आर्म्स एक्ट के कथित झूठे आरोपों के तहत रखा गया था. उन्नाव में सफीपुर के मंडल अधिकारी विवेक रंजन राय ने बताया कि यूनुस की मौत शनिवार को लीवर सिरोसिस की वजह से हुई थी.

(रिपोर्ट: अनुज गुप्ता)

इसे भी पढ़ें :-

उन्नाव गैंगरेप: गवाह की मौत पर राहुल ने उठाए सवाल, PM पर भी साधा निशाना

जानिए क्यों नौजवान शूटर्स के आगे फीके पड़ गए मेरठ के नामी कुख्यात

लखनऊ की सड़क पर दिखा UP पुलिस का ‘थर्ड डिग्री’ टॉर्चर, वीडियो वायरल
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर