उन्नाव रेप केस: मुख्‍य गवाह यूनुस की FSL रिपोर्ट में नहीं हुई जहर से मौत की पुष्टि

बीते 25 अगस्त की देर रात प्रशासन ने कड़ी सुरक्षा के बाद यूनुस के शव को कब्र से निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा था. जहां तीन डॉक्टरों के पैनल ने यूनुस का पोस्टमार्टम किया था.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 2, 2018, 2:19 PM IST
उन्नाव रेप केस: मुख्‍य गवाह यूनुस की FSL रिपोर्ट में नहीं हुई जहर से मौत की पुष्टि
यूनुस के परिजनों की फोटो
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 2, 2018, 2:19 PM IST
उन्‍नाव रेप केस में सीबीआई के मुख्‍य वाह यूनुस के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में जहर से मौत की पुष्टि नहीं हुई है. रविवार को एफएसएल की रिपोर्ट आने के बाद तस्वीर साफ हो गई कि यूनुस की मौत संदिग्ध परिस्थितियों में नहीं हुई थी. वहीं यूनुस के परिजन पहले से ही इससे समान्य मौत बता रहे थे. बता दें, कि रेप पीड़ित के पिता के साथ हुई मारपीट के बाद मौत के मामले में सीबीआई ने बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के भाई के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया था. चूंकि घटना यूनुस के दुकान के ठीक सामने हुई थी, इसलिए सीबीआई ने यूनुस को सरकारी गवाह बनाया था.

बीते 25 अगस्त की देर रात प्रशासन ने कड़ी सुरक्षा के बाद यूनुस के शव को कब्र से निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा था. जहां तीन डॉक्टरों के पैनल ने यूनुस का पोस्टमार्टम किया था. वहीं यूनुस के परिजन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के लिए लखनऊ पहुंचे थे, जहां सीएम योगी से मुलाकात नहीं होने पर नाराज परिजनों ने आत्मदाह करने का प्रयास भी किया था.

गौरतलब है कि उन्नाव में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की कथित संलिप्तता वाले रेप और हत्या के मामले के एक गवाह की 23 अगस्त को कथित तौर पर बीमारी से मौत हो गई थी. यूनुस रेप पीड़िता के पिता को भाजपा विधायक के भाई और अन्य लोगों द्वारा पीटे जाने का गवाह था.

यह भी पढ़ें:

मुजफ्फरनगर की महिला के साथ हरिद्वार के एक होटल में सामूहिक गैंगरेप

खबर का असर: 68,500 पदों की शिक्षक भर्ती में छूट रहे इन 6 हजार अभ्यर्थियों की भी होगी नियुक्ति

जन्माष्टमी विशेष: कान्हा के लिए कानपुर के बाजार में मौजूद है मोबाइल से लेकर लैपटॉप
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर