उन्नाव: खतरे के निशान पर पहुंचा गंगा का पानी, बाढ़ से लगभग 400 गांव प्रभावित

डीएम देवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने बताया कि कटान की वजह से सड़कों पर बैरिकेडिंग लगवा दिया गया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 3, 2018, 11:21 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 3, 2018, 11:21 PM IST
उत्तर प्रदेश के उन्नाव में गंगा नदी का पानी खतरे के निशान 113 मीटर पर पहुंच गया है. बाढ़ से लगभग 4 सौ गांव प्रभावित हैं. बाढ़ से उन्नाव तहसील के 67, सफीपुर के 87, बांगरमऊ के 142, बीघापुर के 98 गांव बुरी तरह प्रभावित हैं. गंगा के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए ग्रामीण घर छोड़कर सुरक्षित स्थानों की ओर निकलने को मजबूर हैं. प्रशासन की ओर से समुचित व्यवस्था न मिलने से ग्रामीण नाराज हैं. जबकि प्रशासन हर तरह के इंतजाम का दावा कर रहा है.

बता दें, लगातार तो रही बारिश और गंगा में छोड़े गए पानी से उन्नाव जिले की चार तहसीलों में बाढ़ ने विकराल रूप ले लिया है. स्थानीय लोग भी ग्रामीणों की मदद कर रहे हैं. वहीं बाढ़ ग्रस्त इलाकों का दौरा करने परियर पहुंचे जिलाधिकारी ने पीड़ितों से मुलाक़ात की और हर सम्भव मदद का आश्वासन दिया.

डीएम देवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने बताया कि कटान की वजह से सड़कों पर बैरिकेडिंग लगवा दिया गया है. बाकी रात में प्रकाश के लिए मोमबत्ती, माचिस, मिट्टी का तेल आदि सामान लोगों को उपलब्ध करा दिया गया है. सभी को पॉलिथिन दे दी गई है ताकि वो अपना सामान सुरक्षित कर लें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर