Unnao news

उन्नाव

अपना जिला चुनें

Unnao News: 1500 रुपये के लिए पोते ने दादी को उतारा मौत के घाट, गिरफ्तार

1500 रुपये के लिए पोते ने दादी को उतारा मौत के घाट

1500 रुपये के लिए पोते ने दादी को उतारा मौत के घाट

सीओ सिटी (CO City) ने बताया कि उसकी दादी उसे अक्सर जेब खर्च के लिए पैसे देती थी, इस बार पैसे न मिलने से उसने इस कदम को उठाया.

SHARE THIS:
उन्नाव. उत्तर प्रदेश के उन्नाव (Unnao) जिले में पुलिस और एसओजी की संयुक्त टीम ने रविवार को सनसनीखेज हत्या (Murder) का खुलासा कर दिया. बीते 15 जुलाई को उन्नाव सदर कोतवाली के औद्योगिक इकाई की एक फैक्ट्री के अंदर एक बुजुर्ग महिला का शव पड़ा मिला था, जिस मामले में पुलिस की टीमें लगातार काम कर रही थीं. जिसके बाद पुलिस ने घटना का खुलासा करते हुए आरोपी पोते को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. बताया जा रहा है कि पोते ने महज 1500 रुपये न देने पर अपनी ही दादी शमीम बानो की हत्या कर दी थी और घटनास्थल से फरार हो गया.

बता दें कि 18 जुलाई को उन्नाव सदर कोतवाली के दही चौकी क्षेत्र स्थित प्रेम सागर मिल बोध फैक्ट्री के अंदर बुजुर्ग महिला का खून से सना शव पड़ा मिला था. बुजुर्ग महिला उस फैक्ट्री में चौकीदारी का काम करती थी और जिले के ही आसीवन थाना क्षेत्र की रहने वाली थी. बताया जा रहा है कि मृतका का पोता फरीद अक्सर पैसों को लेकर अपनी दादी से मारपीट भी करता था. क्योंकि आरोपी फरीद नशे का आदी था, इसलिए मृतका उससे नाराज रहती थी.

इटावा: मोहब्बत में आड़े आई दोनों की 'जाति', फांसी लगाकर प्रेमी युगल ने दी जान

घटना के दिन भी फरीद अपनी दादी से 1500 रूपये लेने गया था, दादी ने नशे की आदत के चलते पैसे न होने की बात कही. जिसके बाद गुस्से में पोते फरीद ने अपनी दादी की पीटकर हत्या कर दी और मौके से फरार हो गया. सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया तो आरोपी की घड़ी वहीं पड़ी मिली. जिसके बाद पुलिस ने आरोपी पोते फरीद से कड़ी पूछताछ के बाद आरोपी ने गुनाह कबूल करते हुए पूरी घटना बता दी.

नशे की लत ने बनाया कातिल
इस पूरे खुलासे को लेकर सीओ सिटी कृपा शंकर ने बताया कि आरोपी पोते ने दादी से पैसे मांगे थे, पैसे देने से मना करने पर उसने अपनी ही दादी की हत्या कर दी और मौके से फरार हो गया. सीओ सिटी ने बताया कि उसकी दादी उसे अक्सर जेब खर्च के लिए पैसे देती थी, इस बार पैसे न मिलने से उसने इस कदम को उठाया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

UP विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित की फिसली जुबान, जानिए क्यों किया महात्मा गांधी के साथ राखी सावंत का जिक्र

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ यूपी विधानसभा अध्यक्ष ह्रदय नारायण डिस्कहीत का विवादित बयान

Unnao News: वीडियो वायरल होने के बाद हृदयनारायण दीक्षित ने कहा कि उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया. अगर कोई पूरा भाषण सुनेगा तो पता चलेगा कि वे गांधी जी की प्रशंसा कर रहे थे.

SHARE THIS:

उन्नाव. बीजेपी के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन (BJP Prabuddh Varg Sammelan) में पहुंचे उत्तर प्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित (UP Speaker Hridaynarayan Dikshit) ने रविवार को विवादित बयान दे डाला. विधानसभा अध्यक्ष प्रबुद्ध वर्ग का उदाहरण दे रहे थे, इस दौरान उनकी जुबान फिसल गई. विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित ने कहा कि हम लोगों की दृष्टि में कोई किताबें पढ़ कर प्रबुद्ध नहीं बन जाता. मैंने तो 6 हजार किताबें पढ़ी हैं, जिनमें से 31 बिंदु विश्लेषण पर हैं. विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि गांधी जी अखबार पढ़ा करते थे, कम कपड़े पहनते थे और धोती ओढ़ते थे. गांधी जी को देश ने बापू कहा. इस बीच उन्हें राखी सावंत याद आ गई और उन्होंने कहा कि अगर कपड़े उतारने से कोई महान बन जाता तो राखी सावंत महान बन जाती.

उन्नाव में बीजेपी द्वारा चलाये जा रहे प्रबुद्ध सम्मेलन में बांगरमऊ के श्याम कला रिसॉर्ट में  विधानसभा अध्यक्ष मुख्य अतिथि के रूप में पहुचे थे. जहां उनके विवादित बयान का वीडियो वायरल हो गया. हालांकि बाद में सफाई देते हुए विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित ने कहा कि उनके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया. उन्होंने कहा कि वे गांधी जी की तारीफ कर रहे थे.

क्या कहा था विधानसभा अध्यक्ष ने 
प्रबुद्ध वर्ग सम्मलेन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ” गांधी जी कम कपड़े पहनते थे. धोती पहनते थे. गांधी जी को बापू कहा गया. अब अगर कपड़े उतारने से कोई महान हो जाता है तो राखी सावंत महात्मा गांधी से बड़ी बन जाती.” वीडियो वायरल होने के बाद दीक्षित ने कहा कि उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया. अगर कोई पूरा भाषण सुनेगा तो पता चलेगा कि वे गांधी जी की प्रशंसा कर रहे थे. उन्होंने कहा कि कोई भी महान ऐसे नहीं बनता. महान बनने के लिए कठीन परिश्रम करनी पड़ती है.

Unnao News: 'सबको राम-राम' लिख एक साथ फांसी पर झूले पति-पत्नी, मचा कोहराम

Unnao News: 'सबको राम-राम' लिख एक साथ फांसी पर झूले पति-पत्नी

UP Crime News: दरअसल, उन्नाव के थाना गंगाघाट कोतवाली क्षेत्र के सर्वोदय नगर मोहल्ले में आशुतोष तिवारी के मकान में रहने वाले एक किराएदार राजू और उसकी पत्नी का पिछले 3 दिनों से मोहल्ले में ना देखना लोगों के मन में शंका का विषय बन गया.

SHARE THIS:

उन्नाव. यूपी के उन्नाव (Unnao) जिले में शुक्रवार देर रात एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहां पति पत्नी ने एक साथ साड़ी से फांसी लगाकर अपनी जान दे दी. सुबह दोनों के शवों को एक साथ फांसी के फंदे पर झूलता हुआ देख हड़कंप मच गया. पुलिस ने दोनों शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है. आनन फानन पुलिस ने फॉरेंसिक टीम को बुलाया और मामले की जांच पड़ताल में जुटी है.

दरअसल, उन्नाव के थाना गंगाघाट कोतवाली क्षेत्र के सर्वोदय नगर मोहल्ले में आशुतोष तिवारी के मकान में रहने वाले एक किराएदार राजू और उसकी पत्नी का पिछले 3 दिनों से मोहल्ले में ना देखना लोगों के मन में शंका का विषय बन गया. शुक्रवार देर शाम मोहल्ले के ही लोगों ने फोन मिलाया तो स्विच ऑफ बताया. जिसके बाद पड़ोस के रहने वाले एक पड़ोसी ने हिम्मत कर घर का दरवाजा खटखटाया तो आवाज नहीं आई. सूचना पर चौकी इंचार्ज विनोद कुमार ने दरवाजा खटखटा कर खुलवाने का प्रयास किया. जब कोई नहीं बोला तो दरवाजा तोड़ दिया. दरवाजा तोड़ते ही दुपट्टे से दोनों के अलग- अलग छत से शव लटकते मिले. यह देख लोग दंग रह गए.

सुसाइड नोट बरामद

सुसाइड नोट बरामद

मौके पर पहुंचे प्रभारी निरीक्षक ने आसपास लोगों से पूछताछ की है. इसके साथ ही मौके से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है. जिसमें तीन लोगों के मोबाइल नंबर और अंत में सब को राम- राम लिखा है. वहीं दम्पति की सुसाइड की सूचना पर सीओ सदर कृपा शंकर ने घटनास्थल का जायजा कर मामले की तफ्तीश की. सीओ सदर कृपा शंकर ने बताया की सूचना मिली की एक मकान बंद है, सूचना पर तत्काल मौके पर पहुंची. सीओ ने बताया की घर के दरवाजे को तोड़कर अंदर देखा गया तो पति-पत्नी लटके मिले हैं. सीओ सिटी ने बताया की प्रथमदृष्टया सुसाइड का मामला सामने आ रहा है, शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है और मामले की तफ्तीश की जा रही है.

UP: ड्रम में बंद मिला लापता बैंक कर्मी विशाल अग्रवाल का शव

ड्रम में बंद मिला लापता बैंक कर्मी विशाल अग्रवाल का शव.

Bank Employee Murder : कानपुर के एक प्राइवेट बैंक कर्मी की हत्या कर शव को ड्रम में बंद कर फेंक दिया गया. शव दही थाना क्षेत्र के सराय कटियांन में झाड़ियों के पास ड्रम के अंदर मिला था. शव की शिनाख्त कानपुर के रहने वाले विशाल अग्रवाल के रूप में की गई है.

SHARE THIS:

उन्नाव. उन्नाव (Unnao) से बड़ी खबर सामने आई है. यहां कानपुर (Kanpur) के एक प्राइवेट बैंक कर्मी की हत्या कर शव को ड्रम में बंद कर फेंक दिया गया. यह शव शुक्रवार को दही थाना क्षेत्र के सराय कटियांन में शारदा नहर के पास झाड़ियों में ड्रम के अंदर मिला था. शव की शिनाख्त कानपुर के रहने वाले विशाल अग्रवाल (Vishal Agarwal) के रूप में की गई है. विशाल कानपुर का रहने वाला था और प्राइवेट बैंक में काम करता था. फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

उन्नाव के दही थाना क्षेत्र के सराय कटियांन शारदा नहर के पास ड्रम में शव मिलने से सनसनी फैल गई थी. शव की शिनाख्त कानपुर के रहने वाले प्राइवेट बैंक कर्मी विशाल अग्रवाल के रूप में हुई. विशाल की हत्याकर शव को ड्रम में डालकर सुनसान इलाके में फेंक दिया गया. ग्रामीणों ने ड्रम में शव देखकर पुलिस को सूचना दी. सूचना पर दही थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को ड्रम से शव बाहर निकलवाया. मृतक विशाल अग्रवाल 7 सितंबर की शाम से लापता था, जिसकी सूचना परिजनों ने पुलिस को देकर गुमशुदगी दर्ज करवाई थी.

मृतक के परिजनों ने बताया की काफी जगहों पर सीसीटीवी चेक किए, लेकिन कुछ पता नहीं चला. मृतक के जीजा ने बताया की घर पर कोई व्यक्ति आया था, उसने उन्नाव में अज्ञात शव मिलने की बात बताई. किसी से कोई झगड़े की बात नहीं सामने आई है. पुलिस इस मामले की जांच कर रही है.

उन्नाव: नहीं बदलेगा अचलगंज नगर पंचायत का नाम, टकराव के बाद थाने में साफ हुई तस्वीर

अचलगंज नगर पंचायत का नाम बदलने को लेकर विरोध प्रदर्शन करते लोग.

Unnao News : उन्नाव में नवगठित नगर पंचायत अचलगंज का नाम बदले जाने की चर्चा के बाद हंगामा हो गया. दो पक्ष समर्थन और विरोध को लेकर आमने - सामने आ गए. इसका नाम बदलकर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पंडित गया प्रसाद शुक्ल स्नेही के नाम पर किए जाने की चर्चा थी. विरोध के बाद अफसरों ने बैठक कर दोनों पक्षों को साफ कर दिया कि इस तरह को कोई प्रस्ताव नहीं है.

SHARE THIS:

उन्नाव. उन्नाव (Unnao) में नवगठित नगर पंचायत अचलगंज (Nagar Panchayat Achalganj) का नाम प्रसिद्ध कवि व स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पंडित गया प्रसाद शुक्ल स्नेही (Gaya Prasad Shukla Snehi) के नाम पर किए जाने की सुगबुगाहट के बाद इसके समर्थन और विरोध का सिलसिला शुरू हो गया है. यहां अचलगंज कस्बे के नागरिक व व्यापारी वर्ग नाम बदले जाने का बीते 3 दिनों से जमकर विरोध कर रहे थे, वहीं हड़हा क्षेत्र के लोग नगर पंचायत अचलगंज का नाम ‘सनेही’ के नाम पर किए जाने के समर्थन में लामबंद हो गए.

जानकारी के मुताबिक बीते 3 दिनों से दोनों पक्षों में धरना प्रदर्शन चल रहा था. व्यापारियों ने बाजार बंद कर एक दूसरे का विरोध भी किया, वहीं शुक्रवार को हड़हा क्षेत्र के हजारों लोगों ने डीएम कार्यालय में पहुंचकर नगर पंचायत अचलगंज का नाम ‘सनेही’ नगर पंचायत किए जाने की मांग रखी. वहीं कुछ लोगों ने सनेही के नाम पर नगर पंचायत का नाम न रखे जाने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी थी. दोनों पक्षों के आमने-सामने आने से विवाद गहरा रहा था. अचलगंज के लोगों ने नगर पंचायत अचलगंज रहने के समर्थन में हस्ताक्षर अभियान चलाया, वहीं DM के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजा है.

अचलगंज कस्बे के लोगों व हड़हा क्षेत्र के लोगों के आमने सामने होने से सामाजिक सौहार्द बिगड़ने की आशंका पर डीएम उन्नाव रविंद्र कुमार ने शनिवार को दोनों पक्षों से वार्ता करने के लिए एडीएम राकेश कुमार सिंह, एसडीएम सदर व Co को मौके पर भेजा. एडीएम राकेश कुमार सिंह ने अचलगंज कस्बे के प्रबुद्ध वर्ग व हड़हा के प्रबुद्ध वर्ग के लोगों को मीटिंग के लिए अचलगंज थाना परिसर में बुलाया.

थाने में ही होने लगा हंगामा

एडीएम की अध्यक्षता में बातचीत का दौर शुरू हुआ तो दोनों पक्ष अपनी- अपनी मांग को लेकर अड़ गए और एक दूसरे के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी. प्रशासन के अधिकारियों ने सख्त रुख अपनाया तो हंगामा कर रहे लोग शांत हो गए. करीब 2 घंटे चली बैठक के बाद दोनों पक्षों की बात सुनते हुए एडीएम ने साफ किया कि नगर पंचायत अचलगंज के नाम बदलने की कोई प्रक्रिया प्रशासन की तरफ से नहीं की गई है. इसलिए अभी नगर पंचायत अचलगंज का नाम ही रहेगा. अधिशाषी अधिकारी ने भी नाम परिवर्तन की अफवाह का खंडन करा दिया. जिससे अचलगंज क्षेत्र के लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई. वहीं एडीएम ने दोनों पक्षों के लोगों से से आपसी सौहार्द बनाए रखने की अपील की. इसके अलावा जिला प्रशासन ने माहौल को देखते हुए पुलिस बल को अलर्ट पर रखा है. खुफिया टीम की भी इस पर नजर है.

शासन को नहीं भेजा प्रस्ताव

एडीएम राकेश कुमार सिंह ने मीडिया से बातचीत में बताया कि बीते कुछ दिनों से व्यापारी जगह-जगह ज्ञापन दे रहे थे कि अचलगंज नगर पंचायत का नाम बदला जा रहा है. उसी कन्फ्यूजन को लेकर थाना अचलगंज में दोनों पक्षों से बातचीत की गई है. दोनों पक्षों को विश्वास दिलाया गया है कि अभी तक अचलगंज नगर पंचायत के नाम बदलने की कोई भी प्रक्रिया शासन स्तर पर नहीं भेजी गई है.

उन्नाव: BJP MP साक्षी महाराज बोले- मुस्लिमों को भारत माता की जय और वंदे मातरम गाना पड़ेगा

उन्नाव में साक्षी महाराज ने कहा कि मुस्लिम वह है जिसका ईमान मुस्लिम है. सुन्नत से कोई मुसलमान नहीं होता है.

sakshi maharaj : उन्नाव में साक्षी महाराज ने कहा कि मुस्लिम वह है जिसका ईमान मुस्लिम है. सुन्नत से कोई मुसलमान नहीं होता है. मुसलमानों को समझना पड़ेगा कि यह देश उनका है. यहां भारत माता की जय करनी पड़ेगी और वंदे मातरम गीत गाना पड़ेगा.

SHARE THIS:

उन्नाव. मुस्लिमों को लेकर बीजेपी के सांसद साक्षी महाराज (Sakshi Maharaj) ने एक बार फिर कड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि वो लोग मुसलमान (Muslim) नहीं हैं जो देश में रहकर देश का विरोध करते हैं, बल्कि वो आस्तीन के सांप हैं. सच्चा मुस्लिम वो है जिसका ईमान मुस्लिम है. सुन्नत से कोई मुसलमान नहीं होता है. मुसलमानों को समझना पड़ेगा कि यह देश उनका भी है. यहां भारत माता की जय करनी पड़ेगी और वंदे मातरम गाना पड़ेगा.

मंगलवार को यहां पत्रकारों से बात करते हुए बीजेपी सांसद ने कहा कि मैंने मुस्लिमों का कभी विरोध नहीं किया. मैं उनका विरोध करता हूं जो हिंदुस्तान में आकर पाकिस्तान का गीत गाते हैं. ऐसे लोगों का मैं खुलकर विरोध करता हूं. यह देश हिंदुओं का भी है, मुसलमानों का भी है. मुसलमानों को यहां भारत माता की जय करनी पड़ेगी और वंदे मातरम गीत भी गाना पड़ेगा.

उन्होंने कहा कि भारत में रहकर पाकिस्तान के प्रति प्रेम नहीं चलेगा. हिंदुस्तान में रहकर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वालों पर कानून कार्रवाई करेगा. उन्होंने कहा कि भारत में रहने वाले मुसलमान खुश किस्मत हैं. यहां भारत विरोध करके वह कहां जाएंगे, क्योंकि पाकिस्तान में उनके लिए जगह कहां है. अफगानिस्तान में भी उनके लिए जगह नहीं है. मुसलमानों के लिए भारत से अच्छी धरती पूरे विश्व में नहीं है और उन्हें इसे चूमना चाहिए.

2022 में दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा

भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने कहा कि 2022 में दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा. भाजपा यहां दोबारा रिकॉर्ड जीत के साथ सरकार बनाएगी. भाजपा के आने के बाद देश में अमन व शांति है. योगी- मोदी के कार्यकाल में एक भी दंगा नहीं हुआ.

Unnao: ज्वेलर को फर्जी केस में जेल भेजा, अब दरोगा खुद है जेल में, जानें पूरा मामला

आरोपी दरोगा सर्वेश राणा फिलहाल जेल में है.

bribe case : दुकान से घर लौट रहे ज्वेलर को दरोगा सर्वेश राणा ने रोका. गाड़ी में गहने मिलने पर दरोगा ने चोरी के गहने खरीदने का आरोप लगा घूस मांगा. घूस की पूरी रकम नहीं मिलने पर दरोगा ने ज्वेलर को फर्जी मामले में फंसाकर जेल भेज दिया.

SHARE THIS:

उन्नाव. उत्तर प्रदेश के उन्नाव के असोहा थाना के एक दरोगा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर गिरफ्तार कर लिया गया. कोर्ट ने घूसखोरी के आरोपी दरोगा को जेल भेज दिया है. असोहा थाना के दरोगा सर्वेश राणा ने एक सर्राफा व्यापारी से घूस ली थी और घूस की रकम पूरी न मिलने पर सर्राफा व्यापारी को फर्जी मुकदमे में फंसाकर जेल भेज दिया था.

पुलिस में दर्ज मामले के मुताबिक, उन्नाव के सोहरामऊ थाना क्षेत्र के सरावा गांव के रहनेवाले सोनू सोनी की बिलौरा गांव में जेवर की दुकान है. सोनू का आरोप है कि शनिवार शाम करीब 7:00 बजे वह दुकान बंद कर वापस घर लौट रहे थे, तभी असोहा थाना क्षेत्र में पड़ने वाले रानीपुर चौराहा के पास असोहा थाना के दरोगा सर्वेश राणा मो वाहन चेकिंग के नाम पर रोका. दरोगा ने वाहन की जांच की. उस समय गाड़ी में दुकान के सोने-चांदी के जेवरात मौजूद थे. तब दरोगा ने चोरी के गहने खरीदने की बात कहते हुए सोनू को पकड़ लिया. असोहा थाना में लाने के बाद दरोगा ने छोड़ने के बदले में 50 हजार रुपये की डिमांड की. पैसा न देने पर फर्जी मुकदमे में जेल भेजने की धमकी दी. रात करीब 12 बजे दोस्त से 20 हजार रुपये मंगा कर सोनू ने दरोगा सर्वेश राणा को दिए, तब दरोगा ने थाने से उन्हें जाने दिया. छोड़ने से पहले तय हुआ कि रविवार की सुबह शेष 30 हजार रुपये सोनू देंगे. न देने पर उन्हें गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया जाएगा.

इसे भी पढ़ें : SDM ने उजाड़ा दिव्यांग का आशियाना, BJP MLA ने फिर से कब्जा दिलाकर शुरू कराया निर्माण

दरोगा की करतूत से डरे सोनू ने पूरे मामले की जानकारी पुरवा विधायक अनिल सिंह को दी. रात करीब 1:00 बजे विधायक अनिल सिंह पीड़ित को लेकर असोहा थाना पहुंच गए. विधायक करीब 2 घंटे तक थाने में मौजूद रहे. विधायक ने मौके से ही एसपी उन्नाव अविनाश चंद्र पांडे को दरोगा के कारनामे की शिकायत की. दरोगा पर गंभीर आरोप लगने पर एसपी ने CO पुरवा को तत्काल थाने पर भेजकर पूरे मामले की रिपोर्ट तलब की.

इसे भी पढ़ें : DGP ने किया हजरतगंज कोतवाली का औचक निरीक्षण, इंस्पेक्टर पर गिरी गाज

पुलिस सूत्रों की मानें, तो सीओ की जांच में पाया गया कि दरोगा सर्वेश राणा की करतूत सीसीटीवी कैमरे से हुई है. सीओ की जांच रिपोर्ट पर एसपी उन्नाव ने आरोपी दरोगा सर्वेश राणा को तत्काल पुलिस हिरासत में लेने का आदेश दिया. दरोगा को हिरासत में लेकर पीड़ित की तहरीर के आधार पर पुलिस ने दरोगा के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत गंभीर धारओं में मुकदमा दर्ज कर रविवार देर शाम जिला न्यायालय एडीजी कोर्ट में पेश किया गया. जहां से न्यायालय के आदेश पर आरोपी दरोगा को जेल भेज दिया गया है.

इसे भी पढ़ें : पोस्टमैन ने ग्राहकों को लगाया 5 करोड़ का चूना, मुख्य सचिव ने दिए कार्रवाई के आदेश

एएसपी शशि शेखर सिंह ने बताया कि कल असोहा थाना के उप निरीक्षक सर्वेश राणा के खिलाफ सर्राफा व्यवसायी सोनू ने अवैध वसूली की शिकायत की थी. CO पुरवा से मामले की जांच कराई गई, जिसमें वसूली की शिकायत सही पाई गई. उप निरीक्षक सर्वेश राणा को गिरफ्तार कर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत पीड़ित की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है. आरोपी दरोगा को जेल भेज दिया गया है. मामले में आगे की विधिक कार्रवाई की जा रही है.

UP में BJP विकास, कानून व्यवस्था व राष्ट्रवाद के नाम पर लड़ेगी चुनाव : स्वतंत्र देव सिंह

स्वतंत्र देव सिंह उन्नाव में एमएलसी स्वर्गीय अजीत सिंह की पुण्यतिथि के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने आए थे.

UP assembly elections : उन्नाव में स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि यूपी में हम विकास के नाम पर चुनाव लड़ेंगे, कानून व्यवस्था के आधार पर चुनाव लड़ेंगे, राष्ट्रवाद के नाम पर चुनाव लड़ेंगे.

SHARE THIS:

उन्नाव. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में बीजेपी की स्ट्रैटजी को लेकर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि बीजेपी यूपी में विकास, कानून व्यवस्था और राष्ट्रवाद के नाम पर चुनाव लड़ेगी. स्वतंत्र देव सिंह ने यह बयान उन्नाव में दिया है, जहां वह एमएलसी स्वर्गीय अजीत सिंह की पुण्यतिथि के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आए थे.

उन्नाव पहुंचे बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को जिला पंचायत अध्यक्ष शकुन सिंह और बीजेपी कार्यकर्ताओं ने स्मृति चिह्न दिया. इस मौके पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने केंद्र और प्रदेश सरकार के विकास कार्य गिनवाए. वहीं, उन्होंने विपक्षियों पर धावा भी बोला. उन्होंने 2022 उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सीटों को लेकर पूछे गए सवाल पर कहा कि विकास, कानून व्यवस्था और राष्ट्रवाद के नाम पर चुनाव लड़ेंगे. पूर्व मंत्री मनोज पांडेय के बयान को लेकर पूछे गए सवाल पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सपा की सोच क्या है, सब कोई जानता है. उन्होंने कहा की सपा की सरकार में इन लोगों ने राज्य को खूब लूटा है.

इसे भी पढ़ें : सिर्फ छोटे दलों के साथ गठबंधन करेगी कांग्रेस – प्रदेश अध्यक्ष

उन्नाव में स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि आज अजीत सिंह की पुण्यतिथि पर आने का अवसर मिला है. यूपी में हम विकास के नाम पर चुनाव लड़ेंगे, कानून व्यवस्था के आधार पर चुनाव लड़ेंगे, राष्ट्रवाद के नाम पर चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि हमेशा मैं कहता हूं एक हाथ में विकास का एजेंडा और जब विकास की बात करता हूं तो गरीब के कल्याण की बात करता हूं, गरीब की संपूर्ण खुशहाली की बात करता हूं. उन्होंने कहा कि गरीब की आवश्यकता है पक्के मकान की, शौचालय की, बिजली की, सौभाग्य योजना की, गैस सिलेंडर की, आयुष्मान इलाज की, किसान निधि की. इन सभी जरूरतों की पूर्ति के लिए हमने कई योजनाएं चलाईं.

इसे भी पढ़ें : राकेश टिकैत बोले- आजादी का आंदोलन 90 साल चला, नहीं पता कब तक चलेगा किसान आंदोलन?

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि एक गरीब के जन्म से लेकर लड़की की शादी तक परिवार की चिंता करना हम सबका काम है. इसके लिए हम निरन्तर एक एक कदम आगे बढ़ रहे हैं, दूसरा राज्य की कानून व्यवस्था आज किसी गरीब की झोपड़पट्टी में कोई कब्जा नहीं कर सकता है, गरीब की खुशहाली के लिए हम काम करते हैं, दूसरा नेता योगी जी जैसा नेतृत्व वाला कोई नेता नहीं है, नहीं प्रधानमंत्री मोदी जी जैसा गरीबों की खुशहाली करने का नेतृत्व इमानदारी का नेतृत्व कभी ना छुट्टी लेने वाला नेतृत्व रात दिन परिश्रम की परकाष्ठा करने का नेतृत्व इस तरह का नेतृत्व किसी दल के पास नहीं है तो नेता के नाम पर वोट मांग, गरीबों की नाम पर वोट . वहीं सपा सरकार में मंत्री रहे मनोज पांडेय के पीएम को लेकर दिए गए बयान पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा की सपा की सोच क्या है, इनकी सरकारों में इन्होंने सिर्फ जनता को लूटा है, राज्य को लूटा है .

Crime in UP: तालाब से बरामद किया गया महिला का अस्थिपंजर, पति और चाचा अरेस्ट

खेत में महिला की लाश की तलाश (बाएं) और हत्या के आरोपी चाचा ससुर ने तालाब से निकाली महिला की साड़ी.

crime against woman : उन्नाव एसपी कार्यालय में विवाहिता की मां ने अपने दामाद के खिलाफ तहरीर दी थी कि दामाद न ही बेटी से बात करवाता है और न मिलने देता है. विवाहिता की मां ने किसी अनहोनी की आशंका जताई थी.

SHARE THIS:

उन्नाव. पिछले छह महीने से लापता विवाहिता का अस्थिपंजर उन्नाव पुलिस ने बरामद कर लिया है. यह मामला उन्नाव के माखी थानाक्षेत्र के कुशलीखेड़ा गांव का है. पुलिस ने इस हत्या कांड में महिला के पति अनिल और उसके चाचा रामरतन को गिरफ्तार कर लिया है.

मां ने दर्ज कराई दमाद के खिलाफ शिकायत

दरअसल, उन्नाव एसपी कार्यालय में विवाहिता की मां ने अपने दामाद के खिलाफ तहरीर दी थी कि दामाद न ही बेटी से बात करवाता है और न मिलने देता है. विवाहिता की मां ने किसी अनहोनी की आशंका जताई थी. महिला की यह शिकायत उन्नाव के एसपी ने माखी थाने को भेजा और मामले में जांच का निर्देश दिया. एसपी ऑफिस से पत्र पहुंचते ही थानेदार एक्टिव हो गए और मामले में तफ्तीश शुरू कर दी. लोकल सर्विलांस की मदद से पुलिस को जानकारी मिली कि घर से जुड़ा कोई मामला है. तब पुलिस ने पूछताछ के लिए पति को हिरासत में लिया. कड़ाई से पूछताछ में पति ने राज उगला कि अपने चाचा के साथ मिलकर उसने पत्नी की हत्या कर शव खेत में दफना दिया है.

तालाब से मिले अस्थिपंजर

पति की निशानदेही पर पुलिस ने तालाब से अस्थिपंजर व साड़ी बरामद कर ली है. एसपी अविनाश चन्द्र पांडेय ने इस बारे में प्रेसवार्ता कर बताया कि आरोपी पति और उसके चाचा को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि मारी गई महिला का नाम लक्ष्मी है. लक्ष्मी की शादी कुशलीखेड़ा के अनिल से हुई थी. शादी के बाद कुछ दिन तक दोनों में प्यार रहा, फिर तकरार शुरू हो गई. तकरार इतनी बढ़ी कि पति अनिल ने अपने चाचा रामरतन के साथ मिलकर लक्ष्मी की हत्या कर दी और शव को साइकिल से ले जाकर दूर खेत में दफन कर दिया.

इसे भी पढ़ें : ड्रोन व CCTV की निगरानी में रहेगी कल होने वाली मुजफ्फरनगर की किसान महापंचायत

खेत से निकाल कर तालाब में फेंक दी लाश

पुलिस के मुताबिक, लक्ष्मी के परिजनों द्वारा मुकदमा दर्ज करवाए जाने की भनक मिलते ही अनिल और उसके चाचा ने खेत में दफन शव को पास के तालाब में फेंक दिया. इधर, एसपी कार्यालय से दबाव पड़ते ही पुलिस सक्रिय हो गई. सीओ सफीपुर डॉक्टर बीनू सिंह के नेतृत्व में माखी थाना प्रभारी राजेश सिंह ने तफ्तीश तेज कर दी. पति अनिल से कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने बताया कि चाचा रामरतन के साथ मिलकर पत्नी की हत्या कर दी है. अनिल की निशानदेही पर पुलिस ने अस्थिपंजर, साड़ी और साइकिल बरामद कर ली है.

इसे भी पढ़ें : यूपी में होगी 26 हजार महिला मेट की भर्ती, देखें पूरी डिटेल

पुरस्कृत की गई पुलिस टीम

इस मामले में उन्नाव एसपी अविनाश पाडेय ने बताया कि पति-पत्नी के बीच अनबन रहती थी. उम्र के अंतर को लेकर दोनों के बीच अक्सर झगड़े होते थे. तब अनिल ने अपने चाचा के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दे दिया. एसपी ने बताया कि इस वारदात का खुलासा करने वाली माखी पुलिस टीम को दस हजार रुपये का इनाम दिया गया है.

Unnao News: BJP MP साक्षी महाराज के विवादित बोल- अब तक 40 लाख मुसलमानों का कत्‍ल

सांसद साक्षी महाराज के विवादित बयान से चढ़ा सियासी पारा.

Unnao News: बीजेपी सांसद साक्षी महाराज (BJP MP Sakshi Maharaj) द्वारा उन्नाव में मुसलमानों (Muslims) के खिलाफ विवादित बयान देने का मामला सामने आया है. उन्‍होंने एक कार्यक्रम में कहा कि अब तक लगभग 40 लाख मुसलमानों का कत्ल हुआ है, लेकिन ये सब कलमा पढ़-पढ़ कर मौलवियों ने मरवाए हैं. इसके अलावा उन्‍होंने मुसलमानों को धरती का दुश्मन करार दिया है.

SHARE THIS:

उन्नाव. उत्‍तर प्रदेश के उन्नाव में एक बार फिर बीजेपी सांसद साक्षी महाराज (BJP MP Sakshi Maharaj) मुसलमानों के खिलाफ विवादित बयान देकर सुर्खियों में आ गए हैं. उन्नाव के सांसद ने कहा कि अब तक लगभग 40 लाख मुसलमानों (Muslims) का कत्ल हुआ है. अगर कोई मुसलमान है तो कान खोलकर सुन ले, 40 के 40 लाख मुसलमान किसी आरएसएस (RSS) या बजरंग दल वाले ने नहीं मारे बल्कि कलमा पढ़-पढ़ कर मौलवियों ने मरवाए हैं. बीजेपी सांसद साक्षी महाराज के बयान से यूपी का सियासी पारा चढ़ गया है.

उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज यह बयान 31 अगस्त का देर शाम बीजेपी सदर विधायक पंकज गुप्ता द्वारा सरोसी ब्लॉक में आयोजित जन्माष्टमी कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होने के दौरान दिया था. इस कार्यक्रम में सफीपुर विधायक बंबालाल के अलावा बीजेपी के कई जनप्रतिनिधि शामिल हुए थे. जबकि इस कार्यक्रम में सैकड़ों की भीड़ भी मौजूद थी. सांसद साक्षी महाराज ने भीड़ को संबोधित करते हुए वर्ग विशेष के खिलाफ जमकर बयानबाजी की, जिसका वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

साक्षी महाराज ने दिया ये विवादित बयान
साक्षी महाराज ने मंच से विवादित बयान देते हुए कहा है कि अब तक लगभग 40 लाख मुसलमानों का कत्ल हुआ है. कोई मुसलमान हो तो कान खोलकर सुने, 40 के 40 लाख मुसलमान किसी आरएसएस या फिर बजरंग दल वाले ने नहीं मारे बल्कि कलमा पढ़-पढ़ कर मौलवियों ने मरवाए हैं. उन्‍होंने कहा कि ताजिए में कहते हैं ‘हाय हुसैन हम न हुए’. हुसैन का कत्ल कर्बला की धरती पर कुरान की आयतें पढ़-पढ़ कर किया. ये लोग तालिबानी सोच के लोग हैं, ये धरती के दुश्मन हैं. अफगानिस्तान से भगा दिए गए तो हिंदुस्तान आ गए. हिंदुस्तान अगर उन्हें भगा दे तो समुद्र में डूब मरने के अलावा उनके पास कोई जगह नहीं है. हिन्दुतान स्वतंत्र रहे आनंद में रहे इसके लिए प्रदेश में योगी और केंद्र में मोदी का रहना जरूरी है.

ये भी पढ़ें- UP Elections 2022: मुलायम-स्वतंत्र देव सिंह की मुलाकात, सपा संरक्षक ने दिया पार्टी में शामिल होने का न्योता?

बहरहाल, 1 मिनट 41 सेकंड के वीडियो में सांसद साक्षी महाराज ने मुसलमानों पर जमकर हमला बोला है. अपने बयान में बीजेपी सांसद ने कहा कि देश की सुरक्षा के लिए मोदी का रहना बहुत जरूरी है. वैसे सांसद साक्षी महाराज के बयान से एक बार फिर राजनीतिक सियासत तेज हो गई है.

Unnao News: अंतर्जनपदीय लुटेरे गैंग की पुलिस से हुई मुठभेड़, तीन बदमाश घायल 

उन्नाव पुलिस एनकाउंटर में तीन लुटेरे घायल

Unnao Police Encounter: लखनऊ-कानपुर हाईवे पर गंगा घाट थाना क्षेत्र में काफी समय से रात के अंधेरे में ट्रक, डंपर, बस व अन्य बड़े वाहन से डीजल चोरी करने वाला एक गैंग सक्रिय था. गैंग कई वारदातों को अंजाम देकर उन्नाव पुलिस के लिए सिरदर्द बना था.

SHARE THIS:

उन्नाव. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के उन्नाव (Unnao) जनपद में अंतर्जनपदीय वाहन डीजल चोर गिरोह की पुलिस (Police) से मुठभेड़ (Encounter) हो गई. मुखबिर की सूचना पर कई थानों की पुलिस ने हाईवे के लुटेरे गैंग की घेराबंदी कर पकड़ने की कोशिश की. एक इनोवा कार सवार 6 से अधिक लुटेरों ने पुलिस से खुद को घिरता देख ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. पुलिस की जवाबी फायरिंग में वाहन छोड़ भाग रहे दो लुटेरों के पैर में तो एक के  कमर में गोली लगने से तीन लुटेरे पुलिस के हत्थे चढ़ गए. बदमाशों व पुलिस के बीच कई राउंड फायरिंग से हाईवे पर हड़कंप मच गया. एसपी उन्नाव ने घटनास्थल का निरीक्षण कर पुलिस व स्वाट टीम कि सफलता की सराहना की.

बता दें लखनऊ-कानपुर हाईवे पर गंगा घाट थाना क्षेत्र में काफी समय से रात के अंधेरे में ट्रक, डंपर, बस व अन्य बड़े वाहन से डीजल चोरी करने वाला एक गैंग सक्रिय था. गैंग कई वारदातों को अंजाम देकर उन्नाव पुलिस के लिए सिरदर्द बना था. हाईवे पर डीजल चोरी की घटनाओं को रोकने के लिए पुलिस ने मुखबिरों का जाल बिछाया और सर्विलांस टीम को एक्टिव किया. एसपी के निर्देश पर स्वाट प्रभारी गौरव कुमार, अचलगंज थाना पुलिस व गंगा घाट थाना पुलिस के साथ संयुक्त रूप से कई दिनों से हाईवे पर चेकिंग अभियान चला रहे थे.

घिरता देख बदमाशों ने पुलिस पर की फायरिंग, 3 भाग निकले 
रविवार की सुबह करीब 5 बजे स्वाट टीम प्रभारी ने गंगाघाट व अचलगंज थाना पुलिस के साथ लखनऊ कानपुर हाईवे पर त्रिभुवन खेड़ा के पास एक इनोवा व अन्य कार सवार युवकों की घेराबंदी करते हुए पीछा किया. लुटेरों ने खुद को घिरता देख पुलिस टीम पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. जिस पर जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस टीम ने भी फायरिंग शुरू कर दी. पुलिस की गिरफ्त में खुद को फंसता देख लुटेरे वाहन छोड़कर पैदल भागने लगे. इस दौरान पुलिस टीम ने फायरिंग करते हुए पीछा किया. पुलिस की फायरिंग से कानपुर के रहने वाले बताये जा रहे अन्तर्राजिय लुटेरे गैंग के सदस्य सोहेल व शोएब के पैर में गोली लगने से मौके पर ही गिर पड़े. वहीं एक और लुटेरे सानू के कमर में गोली लगने से वह भी पुलिस के हत्थे चढ़ गया. जबकि मौके से 3 से अधिक लुटेरे भागने में सफल रहे. पुलिस टीम ने घायल लुटेरों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया है, जबकि फरार हुए लुटेरों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम की ताबड़तोड़ दबिश जारी है.

एसपी ने घटनास्थल का किया निरीक्षण
एसपी उन्नाव अविनाश चंद्र पांडे ने घटनास्थल का निरीक्षण कर पुलिस टीम की कार्रवाई पर खुशी जाहिर की. लुटेरों से पकड़े गए वाहन इनोवा व एक इंडिगो कार को जब्त किया गया. पकड़े गए डीजल के डिब्बों को फॉरेंसिक टीम ने जांच किया। पुलिस और बदमाशों कि कई राउंड फायरिंग से क्षेत्र में काफी देर तक अफरा तफरी का माहौल बना रहा. एसपी अविनाश चन्द्र पांडेय ने बताया कि जॉइन करने के बाद एक मीटिंग व्यपारी बन्धुओं के साथ की गई थी. जिसमे व्यापारियों ने हाईवे पर डीजल व पेट्रोल चोरी की घटनाओं को प्रमुखता से उठाया था. जिस पर स्वाट टीम, गंगाघाट पुलिस, अचलगंज पुलिस, सदर कोतवाली पुलिस को अलर्ट किया गया. रात में स्वाट टीम के इंचार्ज को सूचना मिली एक गैंग इनोवा से डीजल लूट करने जा रहा है. जिसके बाद पुलिस ने इनोवा का पीछा किया. खुद को घिरता देख इन अपराधियों ने फायर करना शुरु किया। पुलिस ने भी जवाबी फायर किया. जिसमे दो लुटेरों के पैर में और एक लुटेरे की कमर मे गोली लगी. जख्मी लुटेरों को जिला अस्पताल मे भर्ती कराया गया. इनोवा गाड़ी की तलाशी मे अवैध असलहे और आठ केन डीजल बरामद हुआ है, जो लुटा हुआ प्रतीत हो रहा है. आगे की जांच चल रही है.

BJP और सपा पर जमकर बरसे सतीश चंद्र मिश्रा, बोले- बसपा सरकार बनने पर बिकरू कांड की दोबारा होगी जांच

उन्नाव में बीजेपी और सपा पर जमकर बेस बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा

Unnao BSP Meet: यूपी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर मंगलवार को बसपा की प्रबुद्ध वर्ग विचार संगोष्ठी में भाजपा और सपा पर जमकर हमला बोला गया. बीएसपी महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि 16 फीसदी ब्राह्मण, 23 फीसदी दलित व अल्पसंख्यक समाज से बीएसपी की सरकार बनेगी.

SHARE THIS:

उन्नाव. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के उन्नाव (Unnao) जिले में मंगलवार को बीएसपी (BSP) की प्रबुद्ध वर्ग विचार संगोष्ठी आयोजित हुई. इस संगोष्ठी में बीएसपी महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा (Satish Chandra Moshra) ने ब्राह्मणों को बीएसपी से जुड़ने की अपील की और बीएसपी को ब्राह्मण समाज का हितैषी करार दिया. बता दें कि बसपा वहीं पार्टी है, जिसमें एक जमाने में ‘तिलक (ब्राह्णण), तराजू (बनिया) और तलवार (क्षत्रिय), मारो इनको जूते चार’ का नारा गूंजा करता था.

बहरहाल यूपी में जल्द होने जा रहे विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर अन्य पार्टियों की तरह बसपा भी ब्राह्मणों को लुभाने के लिए सम्मेलन बैठकें कर रही हैं. इस काम में लगे बीएसपी महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने प्रबुद्ध वर्ग विचार संगोष्ठी में बीजेपी व सपा सरकार पर जमकर हमला बोला और कहा कि 16 फीसदी ब्राह्मण, 23 फीसदी दलित व अल्पसंख्यक समाज से बीएसपी की सरकार बनेगी.
बीजेपी व सपा एक ही सिक्के के दो पहलू है. ब्राह्मण समाज के लोगों की हत्या कराई जा रही है. सपा में महिलाएं असुरक्षित थी. ब्राह्मण समाज अपमानित रहा था. धर्म के नाम पर वोट मांगने वालों को पहचानना है और 2022 में बीएसपी की सरकार बननी है.

राम मंदिर का भूमिपूजन नहीं, बल्कि ईंट पूजन हुआ
सतीश चंद्र मिश्रा यहीं नहीं रुके और कहा कि राम मंदिर का भूमि पूजन नहीं, ईंट पूजन किया गया. इसके बाद ईंटों को सरयू नदी में फेंक दिया गया या और कहीं, पता नहीं. उन्होंने कहा कि बिकरू कांड की बीएसपी सरकार बनने पर दोबारा जांच होगी. बीएसपी महासचिव ने कांग्रेस पर पूरी नरमी बरती और पूरे भाषण में कोई पलटवार नहीं किया. वहीं माहौल को भांपते हुए अयोध्या, काशी विश्वनाथ व मथुरा वृन्दावन का जिक्र कर यहां के विकास को छलावा बताया.

ब्राह्मण समाज के 85 लोगों को टिकट का वादा
उन्नाव के निराला प्रेक्षागृह में बीएसपी जिला इकाई की तरफ से प्रबुद्ध वर्ग विचार संगोष्ठी आयोजित की गई. संगोष्ठी में ब्राह्मण समाज के नेताओं व वरिष्ठजनों को आमंत्रित किया गया था. शाम करीब 4.30 बजे कार्यकर्म के मुख्य अतिथि बीएसपी महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा व पूर्व मंत्री नकुल दुबे के साथ पहुंचे. बीएसपी पदाधिकारियों ने सतीश चन्द्र मिश्रा का 11 किलो की भारी भरकम माला पहनाकर स्वागत किया. वहीं जिला उपाध्यक्ष पंकज मिश्रा ने चांदी का मुकुट(Silver Crown) भेंट कर अभिनंदन किया। कुछ पदाधिकारियों ने फरसा भेंटकर बीएसपी महासचिव का स्वागत किया. जिसके बाद आचार्यों ने शंखनाद व मंत्रोच्चार कर कार्यक्रम की शुरुआत की. बीएसपी महासचिव ने ब्राह्मणों को बीएसपी से जोड़ने के लिए पूर्व की बीएसपी सरकार में ब्राह्मण हित मे किए गए कार्यों व 85 ब्राह्मण समाज के लोगों को विधानसभा का टिकट देने की याद दिलाकर एक बार फिर से बीएसपी से जुड़ने की अपील की.

अयोध्या में कुछ भी विकास नहीं हुआ
बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि नौकरी देने के बजाए छीनने का काम किया. उद्योगपतियों को सबकुछ बेच दिया. देश की सम्पत्ति को कौड़ियों के भाव में बेचने को काम किया. किसानों को दोगुना आमदनी का सपना दिखाया, जबकि किसान की आमदनी शून्य हो गई. कृषि कानून पर कहा कि बीजेपी को किसान आंदोलन से कोई फर्क नहीं पड़ रहा है. बीजेपी ने जमीन दिलाने का वादा किया था. अब तक 500 से ज्यादा किसानों की मौत हो चुकी है. हम किसानों के साथ है. सतीश मिश्रा ने भीड़ की नब्ज को पकड़ते हुए अयोध्या का जिक्र करने से भी नहीं भूले. उन्होंने कहा कि अयोध्या में कुछ भी विकास नहीं हुआ है. अयोध्या बेहाल है. अयोध्या सबसे ज्यादा खराब जिला है. राम मंदिर के निर्माण पर लोगों को झोला देकर भेज दिया। 10 हजार करोड़ से ज्यादा फिर इकठ्ठा कर लिया. भूमि पूजन दिखावा और छलावा था.

GSVM Medical College Recruitment 2021: सीनियर रेजिडेंट  के पदों पर नौकरियां, इस तारीख को होगा इंटरव्यू  

GSVM Medical College Recruitment 2021: जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज ने सीनियर रेजिडेंट के पदों पर भर्तियां निकाली हैं.

GSVM Medical College Recruitment 2021. जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज ने सीनियर रेजिडेंट के पदों पर भर्तियां निकाली हैं. इन पदों पर अभ्यर्थियों का चयन इंटरव्यू के जरिए किया जाएगा.

SHARE THIS:

GSVM Medical College Recruitment 2021. जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज , कानपुर ने नॉन पीजी जूनियर रेजिडेंट और सीनियर रेजिडेंट  के पदों पर भर्तियों के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है. इन पदों के लिए अभ्यर्थी मेडिकल कॉलेज की आधिकारिक वेबसाइट gsvmmedicalcollege.com के जरिए आवेदन कर सकते हैं. जारी नोटिफिकेशन के अनुसार कुल 53 रिक्त पदों पर भर्तियां की जाएगी.  पदों पर भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं. इच्छुक और योग्य आवेदक जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज, कानपुर नौकरी अधिसूचना 2021 के लिए निर्धारित आवेदन प्रारूप के माध्यम से 08 सितंबर 2021 तक या उससे पहले आवेदन कर सकते हैं.

इन रिक्त पदों पर होगी भर्तियां
नॉन पीजी जूनियर रेजिडेंट – 30 पद
सीनियर रेजिडेंट – 23 पद

शैक्षणिक योग्यता
इन पदों के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्याल से एमबीबीएस की डिग्री होनी चाहिए. अधिक शैक्षणिक योग्यता संबंधी जानकारी के लिए अभ्यर्थी जारी आधिकारिक नोटिफिकेशन को देख सकते हैं.

आयु सीमा
इन पदों के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी की उम्र  18 वर्ष से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए.

चयन प्रक्रिया
इन पदों पर अभ्यर्थियों का चयन इंटरव्यू के जरिए किया जाएगा.

यह भी पढ़ें –
Sarkari Naukri 2021: यूपी, उत्तराखंड, एमपी, हरियाणा सहित इन राज्यों में बंपर नौकरियां, जल्द करें आवेदन
Sarkari Naukri 2021: CISF, BSF, ITBP में बंपर नौकरियां, आवेदन से पहले जान लें सबकुछ

इन तिथियों का रखें ध्यान
आवेदन शुरू होने की तिथि – 19 अगस्त 2021
आवेदन की अंतिम तिथि – 5 सितंबर 2021
इंटरव्यू की तिथि- 8 सितंबर 2021
आधिकारिक वेबसाइट – gsvmmedicalcollege.com

ये भी पढ़ें

SSC Phase-7 Recruitment : एसएससी ने रद्द की प्रूफ रीडर की भर्ती, देखें डिटेल

Indian Army: सेना अधिकारियों की वर्दी के ‘कॉलर टैब्‍स’ से भी होती है उनके पद की पहचान, जानें कैसे…

UP News: फिर बदलेगा नाम, अब उन्नाव का मियागंज बनेगा मायागंज, डीएम ने भेजा प्रस्ताव

माना जा रहा है कि अब जल्द ही उन्नाव की ग्राम पंचायत मियांगंज का नाम बदल कर मायागंज कर दिया जाएगा. (फाइल फोटो)

Unnao News: ग्राम पंचायत मियांगंज की खुली बैठक के दौरान प्रस्ताव पारित कर नाम बदल मायागंज करने पर सहमति हुई. जिसके बाद अब DM ने शासन से नाम बदलने को लेकर संस्तुति की है.

SHARE THIS:

उन्नाव. उत्तर प्रदेश में जिलों और रेलवे स्टेशनों के नाम बदलने के साथ ही ग्राम पंचायतों के नाम में भी बदलाव हो रहा है. इसी क्रम में अब उन्नाव की ग्राम पंचायत मियांगंज का नाम भी बदलने की संस्तुति कर दी गई है. मियांगंज का नाम बदलकर अब मायागंज रखने की तैयारी है. इस संबंध में उन्नाव के डीएम रवींद्र कुमार ने उत्तर प्रदेश शासन को एक पत्र भी भेजा है. माना जा रहा है कि जल्द ही मियांगंज का नाम बदल जाएगा और फिर इसे मायागंज के नाम से जाना जाएगा.
उल्लेखनीय है कि ग्राम पंचायत मियांगंज की खुली बैठक में ये प्रस्ताव पारित किया गया था कि अब नाम परिवर्तित कर मियांगंज को मायागंज किया जाए. जिसके बाद जिला कलेक्टर को इस संबंध में संस्तुति की गई थी. डीएम ने अब आगे की कार्रवाई करते हुए शासन को संस्तुति पत्र भेजा है.

उल्लेखनीय है कि नाम बदलने के क्रम में सबसे पहले मुगलसराय स्टेशन का नाम बदल कर पंडित दीन दयाल उपाध्याय स्टेशन कर दिया गया. बाद में मुगलसराय तहसील का नाम भी पंडित दीन दयाल उपाध्याय कर दिया गया.

लगातार बदले जा रहे हैं नाम
उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद से ही लगातार शहरों और रेलवे स्टेशनों के नाम बदले जा रहे हैं. इलाहबाद का नाम बदल कर प्रयागराज कर दिया गया है. इसके बाद प्रयागराज के चार रेलवे स्टेशनों के नाम भी बदले गए. पहले इलाहबाद जंक्‍शन को प्रयागराज जंक्‍शन कर दिया गया, फिर इलाहाबाद सिटी स्टेशन, रामबाग और इलाहाबाद छिवकी स्टेशन का भी नाम बदल दिया गया है. साथ ही प्रयागराज घाट का नाम बदलकर प्रयागराज संगम कर दिया गया.
वहीं फैजाबाद जिले का नाम बदल कर भी अयोध्या कर दिया गया है. पहले अयोध्या शहर फैजाबाद के अंतर्गत आता था लेकिन अब पूरे जिले का ही नाम फैजाबाद कर दिया गया है.

सपा और कांग्रेस को रामभक्तों का नहीं, सिर्फ चाहिए मुसलमानों का वोट- बीजेपी सांसद साक्षी महाराज

सपा और कांग्रेस को रामभक्तों का नहीं, चाहिए मुसलमानों का वोट- साक्षी महाराज (फाइल फोटो)

इससे पहले रविवार को कन्नौज से बीजेपी (BJP) सांसद सुब्रत पाठक ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) पर हमला बोला था.

SHARE THIS:

रिपोर्ट- प्रति/दिल्ली/लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह (Kalyan Singh) के निधन पर भी सियासत गरमा गई है. उनके अंतिम दर्शन के लिए जब समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव नहीं पंहुचे, तो उन्नाव से बीजेपी सांसद साक्षी महाराज (BJP MP Sakshi Maharaj) ने दोनों नेताओं पर तीखे प्रहार किए हैं. साक्षी महाराज ने कहा कि कल्याण सिंह के अंतिम दर्शन के लिए अखिलेश यादव, सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका का ना पहुंचना यह दर्शाता है कि इनको रामभक्तों का वोट नहीं चाहिए. कल्याण सिंह पर यही तो आरोप था कि उनके रहते बाबरी मस्जिद को गिराया गया था और इसलिए अखिलेश यादव उनके अंतिम दर्शन के लिए नहीं गए. उनको सिर्फ मुसलमानों का वोट चाहिए. बीजेपी सांसद ने कहा कि मैं इस बात की कड़ी निंदा करता हूं और आने वाले समय में अखिलेश यादव को इसका जवाब जनता देगी.

उन्होंने कहा कि यह बहुत ही हृदय विदारक करने वाली घटना है. कल्याण सिंह मेरे मार्गदर्शक थे. पूरा देश कल्याण सिंह को आंसुओं की विदाई कल दे रहा था. उनका अंतिम संस्कार किया गया लेकिन लखनऊ से लेकर अलीगढ़ तक अखिलेश यादव कहीं दिखाई नहीं दिए. कांग्रेस की सोनिया, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी यह नहीं दिखाई दिए. साक्षी महाराज ने कहा कि मुझे लगता है कांग्रेस और सपा को राम भक्तों का वोट नहीं चाहिए, केवल मुसलमानों का वोट चाहिए. क्योंकि कल्याण सिंह ने मस्जिद तोड़ी थी इसलिए उनके अंतिम समय में श्रद्धा के सुमन अर्पित करने के लिए हम लोग नहीं जाएंगे. दरअसल इनको सिर्फ मुसलमानों का वोट चाहिए.

महानायकों जैसी हुई रामभक्त कल्याण सिंह की अंतिम विदाई – सीएम योगी आदित्यनाथ

इससे पहले कन्नौज से बीजेपी (BJP) सांसद सुब्रत पाठक ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) पर हमला बोला था.. सोमवार को बीजेपी सांसद ने ट्वीट कर लिखा, ‘हिंदू हृदय सम्राट स्व. बाबू कल्याण सिंह जैसे जनप्रिय नेता को अगर मुलायम सिंह और अखिलेश यादव श्रद्धांजलि और सम्मान नहीं देंगे… तो इससे बाबू जी के कद पर कोई असर नहीं पड़ेगा… लेकिन हां ये सच है कि अगर लखनऊ में ये दोनों कल्याण सिंह जी के आखिरी दर्शन कर लेते तो इससे कार सेवकों पर गोली चलवाने वाली समाजवादी पार्टी को अपने पाप धोने का आखिरी मौका जरूर मिल जाता… लेकिन विनाशकाले विपरीत बुद्धि… और यही इनकी तालिबानी मानसिकता को दर्शाता है.’

UP के आशीष दीक्षित ने यूरोप की सबसे ऊंची चोटी Elbrus पर फहराया तिरंगा

यूपी का बेटा आशीष दीक्षित यूरोप की सबसे ऊंची चोटी एल्ब्रस पर तिरंगा फहराकर लौटा अपने देश

यूरोप स्थित 5,692 मीटर की सबसे ऊंची चोटी एल्ब्रस फतह कर ATS (आतंकवाद निरोधी दस्ता) के कमांडो आशीष दीक्षित वतन लौट आए हैं. आशीष ने 15 अगस्त को एल्ब्रस चोटी पर भारतीय तिरंगा फहराया था.

SHARE THIS:

उन्नाव. यूरोप (Europe) की 5,692 मीटर की सबसे ऊंची चोटी एल्ब्रस (elbrus peak) फतह कर एटीएस (आतंकवाद निरोधी दस्ता) के कमांडो आशीष दीक्षित (ashish dixit) वतन लौट आए हैं. वह सीधे अपने घर पहुंचे हैं. आशीष ने 15 अगस्त को एल्ब्रस चोटी पर भारतीय तिरंगा फहराया था. आशीष ने 60 किमी प्रति घंटा तेज रफ्तार से चल रही हवाओं और माइनस 20 डिग्री के तापमान में एल्ब्रस की चढ़ाई कर देश का मान बढ़ाया है. चोटी फतह करने के बाद उन्नाव पहुंचे आशीष दीक्षित का शुक्लागंज में भव्य स्वागत समारोह किया गया. आशीष ने अपनी सफलता का श्रेय अपनी माता को दिया है.

उन्नाव सदर कोतवाली क्षेत्र के कर्मी बिजलामऊ के रहने वाले लाल आशीष दीक्षित लखनऊ के सरोजनीनगर क्षेत्र के बिजनौर स्थित एटीएस मुख्यालय में प्रशिक्षक हैं. आशीष यूपी एटीएस की स्पेशल पुलिस ऑपरेशन टीम का भी हिस्सा हैं. वह 2020 में उत्तर प्रदेश पुलिस महानिदेशक के प्रशंसा चिन्ह से सम्मानित भी हो चुके हैं.

माइनस तापमान पर की कठिन चढ़ाई

गौरतलब है कि 11 अगस्त की रात यूरोप की सबसे ऊंची चोटी एल्ब्रस के लिए चढ़ाई शुरू की थी. तेज हवाओं और माइनस तापमान में कठोर चढ़ाई चढ़ते हुए 15 अगस्त को एल्ब्रस की चोटी पर पहुंच गए. उन्होंने स्वतंत्रता दिवस पर यूरोप की सबसे ऊंची चोटी पर तिरंगा फहरा दिया था. आशीष 2015 बैच के सिपाही हैं. एनसीसी के दौरान उन्होंने माउंटेन ट्रैकिंग का प्रशिक्षण लिया था. उन्होंने बताया कि वर्ष 2020 में गणतंत्र दिवस के अवसर पर दक्षिण अफ्रीका महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट किलिमंजारो, तंजानिया पर तिरंगा और पुलिस ध्वज फहराया. आशीष ने सिक्किम, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर में भारतीय चोटियों पर पर्वतारोहण की शुरुआत की थी.

मीडिया से बातचीत में कमांडो प्रशिक्षक व पर्वतारोही आशीष दीक्षित ने कहा कि पर्वतारोहण एक अलग ही अनुभव है और खेल में इसको विशेष श्रेणी मे रखा गया है. हमें इस बात की खुशी है कि हमने अपने देश, प्रदेश और जिले का नाम रोशन किया है. इससे पहले मैंने इंडिया में 6 पिक सम्मिट की हैं. 2020 में अफ्रीका की हाइएस्ट मोन्टेन क्लीन बंजारों को सम्मिट किया. 2015 मे यूपी पुलिस जॉइन किया था फिर जब मैंने एटीएस जॉइन किया, देहरादून में 10 दिन के कैम्प में गया. वहां से ज्यादा एक्सपोजर मिले तब मैंने कश्मीर और सिक्किम से कोकोज शो किये. मैं माउन्ट ट्रेनिंग फील्ड में पूरी तरह आ गया. अभी आगे का मेरा लक्ष्य अन्नपूर्णा धौलागिरी को पूरा करने का है. फिर अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी को फतेह करने का मेरा लक्ष्य है.

UP: उन्नाव में तेज रफ्तार डंपर ने वैन में मारी टक्कर, ड्राइवर समेत 6 महिला टीचर घायल

UP: उन्नाव में तेज रफ्तार डंपर ने वैन में मारी टक्कर

जानकारी के मुताबिक शहर के सिकंदरपुर सरोसी ब्लॉक के प्राथमिक स्कूलों में तैनात छह शिक्षिकाओं (Teachers) को वैन में बिठाकर चालक प्रदीप स्कूल ले जा रहा था.

SHARE THIS:

उन्नाव. यूपी के उन्नाव (Unnao) जिले में शनिवार को एक सड़क हादसा सामने आया है. जहां सरकारी शिक्षिकाओं से भरी कार में डंपर ने टक्कर मार दी. हादसे में वैन ड्राइवर समेत छह शिक्षिकाएं जख्मी हो गई. घायलों को एम्बुलेंस से जिला अस्पताल की इमर्जेंसी पर भर्ती कराया गया. हादसा उस समय हुआ जब कार चालक शिक्षिकाओं को स्कूल ले जा रहा था. सूचना मिलने पर बीएसए जय सिंह व नगर शिक्षाधिकारी संजय यादव तथा सरोसी ब्लॉक के बीईओ आशीष चौहान आदि इमरजेंसी पहुंच घायल शिक्षिकाओं का हालचाल लिया है. घटना के बाद डंपर चालक मौके से फरार हो गया.

सदर कोतवाली क्षेत्र के सफीपुर रोड की है. जानकारी के मुताबिक शहर के सिकंदरपुर सरोसी ब्लॉक के प्राथमिक स्कूलों में तैनात छह शिक्षिकाओं को वैन में बिठाकर चालक प्रदीप स्कूल ले जा रहा था. इसी दौरान दोस्तीनगर गांव स्थिति कृषि फार्म के पास तेज रफ्तार डंपर ने कार में टक्कर मार दी. हादसे के समय कार में सवार सहायक शिक्षिकाओं में कानपुर के बर्रा निवासी सुमन शुक्ला, प्रियंका पत्नी, एकता शिखा के अलावा शहर के सिविल लाइन मोहल्ला निवासी मनीषा, कामिनी और चालक प्रदीप जख्मी हो गई.

Bareilly News: झोलाछाप डॉक्टर की गोली मार कर हत्या, शव के पास पड़ा मिला बाइक और तमंचा

हादसा देख ग्रामीणों ने एम्बुलेंस को फोन पर बुलवाया और घायलों को जिला अस्पताल की इमर्जेंसी पर भर्ती करवाया गया. सभी घायलों का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है. डॉक्टर के मुताबिक सभी शिक्षिकाएं खतरे से बाहर हैं. एक टीचर को मामूली चोट आई हैं, फिलहाल सभी का स्वास्थ्य बेहतर है.

उन्नाव: मैरिज लॉन में चल रहा था जिस्मफरोशी का धंधा, छापे में पकड़ा गया सभासद का बेटा

मैरिज लॉन में अनैतिक कृत्य करते पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया. ( प्रतीकात्‍मक चित्र )

Unnao Sex Racket Busted: उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में हाई प्रोफाइल जिस्मफरोशी गिरोह के संचालन का खुलासा पुलिस (Police) ने किया है. अपनी छापेमारी में पुलिस ने एक सभासद के बेटे, 2 युवतियों समेत 6 लोगों को गिरफ्तार किया है.

SHARE THIS:

उन्नाव. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के उन्नाव (Unnao) जिले में हाई प्रोफाइल जिस्मफरोशी गिरोह (Sex Racket) का खुलासा पुलिस (Police) ने किया है. उन्नाव के मोहल्ला पीडी नगर स्थित एक मैरिज लॉन(Marriage Lawn) में बीते बुधवार की रात पुलिस ने छापा मारकर देह व्यापार गिरोह के सदस्यों को पकड़ने का दावा किया है. मौके से एक सभासद के बेटे व दो युवतियों समेत छह लोगों को गिरफ्तार करने का दावा पुलिस ने किया है. पुलिस ने पूछताछ के बाद आरोपियों पर कानूनी कार्रवाई की. गिरोह से शहर के हाई प्रोफाइल लोगों के जुड़े होने का अंदेशा पुलिस जता रही है.

उन्नाव कोतवाली के प्रभारी अनिल सिंह ने मीडिया से चर्चा में बताया कि पुलिस टीम रात में वाहन चेकिंग में लगी थी. इसी दौरान सूचना मिली कि पीडी नगर स्थित एक मैरिज लॉन में देह व्यापार चल रहा है. इसपर फोर्स के साथ मैरिज लॉन में दबिश दी गई. मौके से दो युवतियां व चार युवकों को अनैतिक कार्य करते हुए पकड़ लिया गया. युवतियाें में एक लखनऊ व दूसरी प्रतापगढ़ की रहने वाली बताई जा रही है. अन्य आरोपियों में मोहल्ला पश्चिमखेड़ा निवासी राहुल कश्यप, मोतीनगर निवासी पीयूष चौहान, नवीन मंडी निवासी राजेश मिश्र व सिविल लाइन निवासी गौरव त्रिपाठी शामिल हैं.

मालिक और मैनेजर पर भी कार्रवाई
पुलिस के मुताबिक पकड़े गए आरोपियों में एक सभासद का पुत्र और मैरिज लॉन के मालिक और मैनेजर भी हैं. सभी के खिलाफ अनैतिक व्यापार निवारण अधिनियम (Immoral Traffic Prevention Act) के तहत रिपोर्ट दर्ज कर कोर्ट में पेश किया गया, वहां सभी को जेल भेजा गया है.

देह व्यापार होने पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश
उन्नाव के एएसपी शशिशेखर सिंह (ASP Shashi Shekhar Singh) ने बताया कि सभी थानों की पुलिस को होटल, ढाबों का निरीक्षण कर देह व्यापार होने पर कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया गया है. होटल, ढाबा व मैरिज लॉन के संचालकों को भी कड़ी हिदायत देने के लिए कहा गया है. बताया जा रहा है कि शहर में पकड़ा गया मैरिज लॉन ही अकेला नहीं है, जहां देह व्यापार चलता है. शहर के कई होटलों विशेष रूप से हाईवे के कई होटलों में यह अवैध धंधा होने की पुलिस को सूचनाएं मिल रही हैं.

उन्नाव में गौ-तस्करों से पुलिस एनकाउंटर, 2 पुलिसकर्मी और 3 तस्कर घायल, 2 को दौड़ाकर पकड़ा

UP: उन्नाव में पुलिस और गौतस्करों के बीच एनकाउंटर हो गया है.

Unnao News: उन्नाव में अजगैन थाना क्षेत्र के दरिया बाग में पुलिस और गौ तस्करों के बीच मुठभेड़ हो गई. मुठभेड़ में दो पुलिसकर्मी जख्मी हो गए, जबकि जवाबी फायरिंग में 3 गौ तस्कर गोली लगने से घायल हो गए. पुलिस ने 2 गौ तस्करों को दौड़ा कर दबोच लिया.

SHARE THIS:

उन्नाव. उत्तर प्रदेश के उन्नाव (Unnao) से खबर है. यहां पुलिस और गौ-तस्करों के बीच मुठभेड़ (Encounter) हुई है. बताया जा रहा है कि अजगैन थाना क्षेत्र में मुखबिर की सूचना पर गौ-तस्करों की सूचना पर दही थाना पुलिस व एसओजी टीम मौके पर पहुंची. जिस पर गौ-तस्करों ने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी. फायरिंग में दो पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है.

वहीं मुठभेड़ में पुलिस की गोली से 3 गौ-तस्कर भी जख्मी हो गए. भाग रहे 2 गौ तस्करों को पुलिस ने दबोच लिया है. घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस अब गिरफ्तार हुए गौ तस्करों का नेटवर्क खंगालने में जुटी है.

उन्नाव में पुलिस के ऑपरेशन प्रहार में बड़ी सफलता हाथ लगी है. अजगैन थाना क्षेत्र के दरिया बाग में देर रात पुलिस और गौ तस्करों के बीच मुठभेड़ हो गई. पुलिस और गौ-तस्करों के बीच मुठभेड़ में दो पुलिसकर्मी जख्मी हो गए, जबकि पुलिस की जवाबी फायरिंग में तीन गौ तस्कर गोली लगने से घायल हो गए. पुलिस ने 2 गौ तस्करों को दौड़ा कर दबोच लिया.

पुलिस मुठभेड़ में उन्नाव के रहने वाले सलमान, लखनऊ के रहने वाले लकी और मंगल कश्यप घायल हुए हैं, जबकि उन्नाव के रहने वाले कल्लू और मोनू राजपूत को गिरफ्तार कर लिया है. सभी घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

6 आरोपी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं. एएसपी शशिशेखर सिंह ने बताया कि सूचना मिली थी कि जंगल में कुछ गौ-तस्कर गोवध करने की फिराक में हैं. एसओजी टीम, थाना दही, प्रभारी इंस्पेक्टर सोहरामऊ, हसनगंज व औरास मौके पर पहुंचे. उनके द्वारा मौके पर अभियुक्तों को ललकारा गया. इस मुठभेड़ में तीन अभियुक्तों को गोली लगी है. बदमाशों की फायरिंग में पुलिस के 2 हेड कांस्टेबल, 1 कांस्टेबल को गोली लगी है. सभी खतरे से बाहर हैं.

उन्होंने बताया कि दो अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया, तीन जो घायल हैं, उन्हें अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. साथ ही जो मौके से भाग गए हैं, उन पर कार्रवाई की जाएगी. गैंगस्टर की कार्रवाई भी होगी. यही नहीं इन अपराधियों ने जो भी संपत्ति अर्जित की है, उसके विरूद्ध दंडात्मक कार्रवाई करेंगे.

Unnao Rape Case: कोर्ट का उन्नाव रेप पीड़िता को निर्देश- जरूरी होने पर ही बाहर जाएं, सुरक्षाकर्मी को सूचित करें

दिल्‍ली के कोर्ट ने उन्नाव रेप पीड़िता को एक बड़ा आदेश दिया है.

Delhi Court to Unnao Rape Survivor: दिल्‍ली के कोर्ट ने उन्नाव रेप पीड़िता मामले को लेकर एक बड़ा निर्देश दिया है. कोर्ट ने कहा, ' केवल जरूरी होने पर ही बाहर जाएं और कहीं जाने के पहले अपने निजी सुरक्षा अधिकारियों को सूचित जरूर करें. सीआरपीएफ (CRPF) को आपकी सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है.

SHARE THIS:

नई दिल्‍ली. उन्नाव रेप पीड़िता मामले (Unnao Rape Case) की सुनवाई कर रही देश की राजधानी दिल्ली की एक कोर्ट ने सोमवार को बड़ा निर्देश दिया है. कोर्ट ने रेप पीड़िता को सुनवाई पूरी होने तक केवल जरूरी होने पर ही बाहर जाने और कहीं जाने के पहले अपने निजी सुरक्षा अधिकारियों को सूचित करने का आदेश दिया है. बता दें कि उन्नाव रेप पीड़िता को सीआरपीएफ (CRPF) की सुरक्षा मिली हुई है. यह निर्देश जिला एवं सत्र न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने दिया है.

दरअसल, उन्नाव रेप पीड़िता ने कोर्ट में अर्जी दाखिल करते हुए निजी सुरक्षा अधिकारियों पर उत्पीड़न का आरोप लगाया था. इसके बाद कोर्ट ने ये निर्देश जारी किया है. जिला एवं सत्र न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने कहा, ‘कहीं जाने से पहले उन्हें (सुरक्षा अधिकारियों को) सूचित करें. उन्हें आपकी सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है. आपको इस तरह से योजना बनानी चाहिए कि आपको हर दिन बाहर ना निकलना पड़े. जरूरी होने पर ही बाहर निकलें. मामला खत्म होने तक आपको सावधानी बरतनी चाहिए.’

उन्नाव रेप पीड़िता और निजी सुरक्षा अधिकारी के बीच बनी सहमति
इसके अलावा कोर्ट बताया कि रेप पीड़िता और उसके निजी सुरक्षा अधिकारी के बीच इस मुद्दे को सौहार्दपूर्ण ढंग से सुलझाने के लिए सहमत हुए हैं. वहीं, कोर्ट ने कहा कि अगर पीड़िता या फिर उसके परिवार के सदस्य लंबित मामलों में अपने वकील से मिलना चाहते हैं, तो उन्हें एक दिन पहले ही बताने का प्रयास करना चाहिए.

ये भी पढ़ें- Agra Crime News: पुलिस ने हाईवे और एक्‍सप्रेसवे पर सवारियों के साथ लूटपाट करने वाले गैंग का किया भंडाफोड़, 6 बदमाश गिरफ्तार

भाजपा विधायक को मिली सजा
बता दें कि उन्नाव रेप मामले में भाजपा के बर्खास्त विधायक कुलदीप सिंह सेंगर जेल में है. उन्‍होंने युवती को 2017 में अगवा कर उससे रेप किया था और वह उस वक्त नाबालिग थी. जबकि इस मामले में 20 दिसंबर 2019 को सेंगर को आजीवन कारावास की सजा सुनायी गयी थी. इसके अलावा कोर्ट ने 2019 में सीआरपीएफ को रेप पीड़िता, उसकी मां और परिवार के अन्य सदस्यों को सुरक्षा मुहैया कराने का निर्देश दिया था. यही नहीं, इस मामले को लेकर यूपी और देश की सियासत में भी भूचाल आ गया था.

बीजेपी MP साक्षी महाराज का अखिलेश पर तंज, बोले- हम राफेल उड़ा रहे हैं, उन्हें साइकिल चलाने दो!

UP: बीजेपी MP साक्षी महाराज का अखिलेश पर तंज

UP Politics: यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी के अभियान पर भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने कसा तंज. पेगासस जासूसी कांड को लेकर केंद्र सरकार पर लगे आरोपों को बताया निराधार.

SHARE THIS:

उन्नाव. अपने बयानों को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहने वाले बीजेपी के सांसद साक्षी महाराज (Sakshi Maharaj) ने शुक्रवार शाम उन्नाव में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान विपक्षी दलों पर ताबड़तोड़ हमले किए. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की साइकिल पर बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने कहा की हम राफेल उड़ा रहे हैं, उन्हें साइकिल चला लेने दो. वहीं कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के नेताओं द्वारा ब्राह्मणों को लेकर बीजेपी पर सवाल उठाने को लेकर साक्षी महाराज ने प्रतिक्रिया दी है, उन्होंने ब्राह्मणों के एनकाउंटर पर बोलते हुए कहा कि जो माफिया हैं और गलत हैं, उनकी जाति नहीं होती.

सांसद साक्षी महाराज ने कहा कि माफिया केवल माफिया होते हैं और माफियाओं का इलाज पुलिस का डंडा होता है. वहीं वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी द्वारा बीजेपी में सीएम पद के ब्राह्मणों के चेहरे पर दिए गए बयान को लेकर सांसद ने कहा कि बीजेपी चेहरे पर नहीं, सबका साथ सबका विकास सबके विश्वास और विकास के नाम पर चुनाव लड़ती है और विकास के मुद्दे पर सपा, कांग्रेस, बसपा बात करना चाहे तो कर सकती है. साक्षी महाराज ने कहा कि चुनाव विकास के नाम पर ही होगा. उन्होंने केंद्र सरकार पर लगे जासूसी के आरोपों को निराधार बताया.

लखनऊ: LDA की अंसल एपीआई, गर्व बिल्डटेक पर बड़ी कार्रवाई, टाउनशिप का दायरा घटा

इससे पहले बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने उन्नाव में आयोजित हुए कार्यक्रम में यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर जमकर हमला बोला था. सांसद साक्षी महाराज ने मंच से बोलते हुए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि अखिलेश यादव से कह दो योगी जी को ठोकना आता है, जरा बच के रहें, कहीं उनका नंबर न आ जाये.

अखिलेश ने दिया था बयान
दरअसल अभी कुछ दिन पूर्व सीएम और सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव उन्नाव आये थे. जहां उन्होंने मंच से बोलते हुए कहा था कि योगी जी को कंप्यूटर चलाना नही आता, बल्कि उन्हें ठोंकना आता है. जिस पर आज उन्नाव से बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने पलटवार किया है.

Load More News

More from Other District