अपना शहर चुनें

States

उन्नाव में किसानों के प्रदर्शन मामले में जांच के आदेश, DM बोले- सभी को दिया जा चुका है मुआवजा

उन्नाव में किसानों को प्रदर्शन पर जिला प्रशासन का कहना है कि मुआवजा पूरी तरह से दिया जा चुका है.
उन्नाव में किसानों को प्रदर्शन पर जिला प्रशासन का कहना है कि मुआवजा पूरी तरह से दिया जा चुका है.

उन्नाव (Unnao) के डीएम देवेंद्र कुमार पांडेय (DM Devendra Kumar Pandey) ने कहा कि यूपीएसआईडीसी (UPSIDC) की ट्रांस गंगा सिटी जो उन्नाव और कानपुर की सीमा पर निर्माणाधीन है. इसमें काफी समय से किसानों का आंदोलन चल रहा है. आज की तारीख में किसानों का कोई परिवाद शेष नहीं है.

  • Share this:
उन्नाव. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के उन्नाव (Unnao) में ट्रांस गंगा सिटी (Trans Ganga City) में जमीन अधिग्रहण (Land Acquisition) में मुआवजे (Compensation) को लेकर किसानों ने उग्र प्रदर्शन (Farmers Protest) किया है. मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं, डीएम उन्नाव का कहना है कि सभी किसानों को मुआवजा दिया जा चुका है. कुछ लोग हैं, जो निजी स्वार्थ में किसानों को भड़का रहे हैं. उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. उधर इस प्रदर्शन को लेकर सियासत तेज हो गई है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर मामले में यूपी सरकार पर हमला किया है. वहीं बीजेपी ने इस प्रदर्शन को राजनीतिक साजिश करार दिया है.

जांच के आदेश दिए गए, सब सच सामने आ जाएगा: बीजेपी

बीजेपी प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने कहा कि ये मुआवजे का नहीं राजनीति से जुड़ा प्रदर्शन है. उन्होंने कहा कि मामले में शासन की तरफ से 1925 किसानों को मुआवजा दिया जा चुका है, वहीं 114 किसानों को सिर्फ इसलिए मुआवजा नहीं मिल सका है क्योंकि उनकी जमीनों को लेकर उनके आपसी मुकदमे चल रहे हैं. उन्होंने कहा कि जाहिर है ये मुआवजे को लेकर प्रदर्शन नहीं है. इस प्रदर्शन के पीछे राजनीतिक साजिश है. उन्होंने कहा कि मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं, पूरे मामले की जांच की जाएगी और सब सच सामने आ जाएगा.



दिया जा चुका है मुआवजा, निजी स्वार्थ में कुछ लोग किसानों को भड़का रहे : डीएम
वहीं मामले में उन्नाव के डीएम देवेंद्र कुमार पांडेय ने कहा कि यूपीएसआईडीसी की ट्रांस गंगा सिटी जो उन्नाव और कानपुर की सीमा पर निर्माणाधीन है. इसमें काफी समय से किसानों का आंदोलन चल रहा है. आज की तारीख में किसानों का कोई परिवाद शेष नहीं है. 5 लाख 51 हजार रुपये जमीन का मुआवजा और 7 लाख रुपये एक्स ग्रेशिया का अलग से पेमेंट इन्हें किया जा चुका है. साथ ही 6 प्रतिशत जमीन किसानों को मुफ्त दी गई है. ये जमीन व्यावसायिक और घरेलू दोनों ही इस्तेमाल की है. उन्होंने कहा कि अब कोई मुद्दा ही नहीं रह गया है. ये मामला काफी समय से चल रहा है. इसमें करीब 700 किसानों ने हमें समर्थन पत्र भी दिया है कि उन्हें कोई आपत्ति नहीं है. डीएम ने कहा कि एक गुट ऐसा है जो किसानों को भड़का रहा है. पता चला है कि जो इस गुट से नेता हैं, उन्होंने खाली पड़ी जमीन को किराए पर दे रखा है. जाहिर है इसमें उनका निजी स्वार्थ निहित है.

DM Unnao
उन्नाव के डीएम देवेंद्र कुमार पांडेय ने कहा कि सभी को मुआवजा दिया जा चुका है.


भूमिहीन किसानो को भी दिया गया है मुआवजा

डीएम ने कहा कि यही हीं यहां जो भूमिहीन किसान थे, या जो यहां अवैध रूप से मकान बनाकर रह रहे थे, 50 हजार रुपये का मुआवजा उन्हें भी दिया गया है. शासन स्तर से पूरी धनराशि दी जा चुकी है. लोग बहकावे में आकर ऐसा प्रदर्शन कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें:

किसानों के प्रदर्शन में 2 FIR, 36 नामजद और 200 अज्ञात के खिलाफ केस

कांग्रेस MLA अदिति ने बताया- इस तरह जारी रहेगी उनकी और अंगद की सियासी पारी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज