उन्नाव : रात में थाने पर दिया धरना, सुबह होते ही विधायक ने मारी पलटी, बोले- नहीं दिया धरना
Unnao News in Hindi

उन्नाव : रात में थाने पर दिया धरना, सुबह होते ही विधायक ने मारी पलटी, बोले- नहीं दिया धरना
डीएम रवीन्द्र कुमार व एसपी रोहन पी कनय के साथ संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस करते भाजपा के सदर विधायक पंकज गुप्ता.

बीजेपी विधायक पंकज गुप्ता के धरने पर बैठने के मामले ने तूल पकड़ा. जिसके बाद पुलिस के खिलाफ धरना देने वाले सदर विधायक पंकज गुप्ता ने डीएम-एसपी के साथ कलेक्ट्रेट में संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 31, 2020, 12:14 AM IST
  • Share this:
उन्नाव. उन्नाव (Unnao) में देर रात कार्यकर्ताओं के हित को लेकर सदर कोतवाली में 5 घंटे समर्थकों के साथ धरने पर बैठने वाले भाजपा सदर विधायक (MLA) सुबह के 10 घंटे बीतने के बाद ही बैकफुट पर आ गए. कहा जा रहा है कि सरकार की किरकिरी होने से खफा सीएम ने विधायक को फोन कर गहरी नाराजगी व्यक्त की. जिसके बाद विधायक ने डैमेज कंट्रोल करने का प्रयास करते हुए आनन-फानन डीएम (DM) कार्यालय में शाम को डीएम रवीन्द्र कुमार व एसपी रोहन पी कनय के साथ एक संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस किया. सदर विधायक ने मामले में पुलिस को एक तरह से क्लीन चिट देते हुए प्रशासन का पूरा सहयोग होने की बात कही. वहीं धरना-प्रदर्शन करने से इनकार करते हुए कार्यकर्ताओं के साथ बैठने की बात कहकर सरकार की नजरों में सब ठीक होने का दावा करते नजर आए. जबकि उन्नाव पुलिस ने ट्वीट कर विधायक पर आरोपियों को छुड़ाने का जिक्र किया है. पुलिस मामले में उचित कार्रवाई करेगी, एसपी ने आश्वासन दिया है.

क्या था पूरा मामला

आपको बता दें कि उन्नाव सदर कोतवाली मोहल्ले के हिरन नगर में करीब एक बीघा से अधिक जमीन महिला थाने के नाम से दर्ज है. इस पर मोहल्ले के कुछ लोगों ने मंदिर का चबूतरा बना दिया और मूर्ति भी रख दी. इस बात की जानकारी होने पर बुधवार दोपहर सदर कोतवाली पुलिस ने मंदिर निर्माण को अवैध बताकर 4 नामजद व 30 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया. इस मामले में पुलिस ने 7 लोगों को हिरासत में लेकर कोतवाली ले आई. देर रात भाजपा सदर विधायक पंकज गुप्ता ने सीओ सिटी यादवेंद्र यादव से फोन पर बात कर बुजुर्गों के खिलाफ कारवाई न करने की बात कही. पंकज गुप्ता देर रात करीब 1:00 बजे उन्नाव सदर कोतवाली पहुंच गए. उन्नाव पुलिस का सदर विधायक के साथ व्यवहार बेहतर नहीं रहा. जिसके बाद सदर विधायक अपने कुछ समर्थकों के साथ सदर कोतवाली गेट के सामने धरने पर बैठ गए. विधायक समर्थकों ने पुलिस मुर्दाबाद जैसे नारे लगाए. धरने के दौरान अडिशनल एसपी विनोद कुमार पांडेय व सीओ सिटी ने बात की, लेकिन विधायक नहीं माने. जिसके बाद सुबह के 5 बजे तक सदर कोतवाली में भाजपा विधायक धरने पर बैठे रहे. सुबह लगभग 5:30 बजे डीएम रविन्द्र कुमार और एसपी रोहन पी कनय मौके पर सदर कोतवाली पहुंचे. डीएम रविन्द्र कुमार और एसपी रोहन पी कनय ने सदर विधायक पंकज गुप्ता से मुलाकात की और उनका धरना खत्म करवाया. विधायक ने डीएम-एसपी को शिकायती पत्र भी सौंपा. जिसके बाद डीएम ने पत्र लेते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई और निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया.



बीजेपी विधायक पंकज गुप्ता ने दी सफाई
बीजेपी विधायक पंकज गुप्ता के धरने पर बैठने के मामले ने मीडिया में तूल पकड़ा. जिसके बाद पुलिस के खिलाफ धरना देने वाले सदर विधायक पंकज गुप्ता ने डीएम-एसपी के साथ कलेक्ट्रेट में संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेंस की. विधायक ने डीएम, एसपी के साथ संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस कर मामले में प्रशासन को क्लीन चिट दे दी. वहीं धरना प्रदर्शन करने की बात पर पीछे हट गए.

डीएम रवींद्र कुमार का बयान

विधायक के साथ प्रेस कांफ्रेंस के दौरान डीएम रवीन्द्र कुमार ने कहा कि महिला थाने की जमीन को लेकर एक मुकदमा पंजीकृत हुआ था. पुलिस ने कल कुछ लोगों को गिरफ्तार किया था. उनलोगों ने विधायक को फोन किया था, जिस पर विधायक कोतवाली पहुंचे. इस दौरान विधायक ने मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारी सीओ से बात की. किसी भी तरह का कोई विवाद नहीं है. सारे बिंदु क्लियर हो गए हैं जो भी कार्रवाई हुई है. अब कोई इशू नहीं है. किसी भी तरह का कोई विवाद नहीं हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading