उन्नाव रेप: सेंगर के रिश्तेदार बोले- पॉलीग्राफ और नार्को टेस्ट कराओ, सामने आएगा सच

आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के रिश्तेदार ने दावा किया कि वो बेकसूर हैं. यदि उन्होंने कुछ गलत किया है तो क्यों नहीं वैज्ञानिक तौर पर मामले की जांच की जा रही है. पॉलीग्राफ टेस्ट होना ही चाहिए.

News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 11:26 AM IST
उन्नाव रेप: सेंगर के रिश्तेदार बोले- पॉलीग्राफ और नार्को टेस्ट कराओ, सामने आएगा सच
उन्नाव के बांगरमउ क्षेत्र से विधायक सेंगर पर आरोप है कि उन्होंने नाबालिग लड़की से रेप और उसका यौन शोषण किया था
News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 11:26 AM IST
उन्नाव रेप कांड में आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के रिश्तेदार उनके बचाव में सामने आने लगे हैं. उनके ‌रिश्तेदार निपेंद्र सिंह ने सेंगर का पॉलीग्राफ और नार्को टेस्ट करवाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि इसके माध्यम से सच सामने आएगा. उन्होंने दावा किया कि सेंगर बेकसूर हैं. यदि उन्होंने कुछ गलत किया है तो क्यों नहीं वैज्ञानिक तौर पर मामले की जांच की जा रही है. पॉलीग्राफ टेस्ट होना ही चाहिए.

नहीं हो सकता डीएनए टेस्‍ट
न्यूज़ एजेंसी ANI को दिए इंटरव्यू में निपेंद्र ने कहा कि पीड़िता ने पांच महीने बाद मामले की रिपोर्ट दर्ज करवाई. ऐसे में डीएनए टेस्ट नहीं हो सकता था. केवल नार्को या फिर पॉलीग्राफ टेस्ट के जरिए ही सच्चाई सामने आएगी. इसके बाद ही हम किसी नतीजे पर पहुंच सकते हैं.

साजिश का शिकार हैं सेंगर

उन्होंने कहा कि सेंगर बेकसूर हैं और वो साजिश का शिकार हो रहे हैं. स्‍थानीय 'राजपूत' नेताओं ने उन्हें फंसाया है. किसी ने भी मामले की तह तक जाने की कोशिश नहीं की. उन्नाव में राजपूतों का बोलबाला है, लेकिन कुलदीप ने कभी भी जातिवाद नहीं किया, सही कारण से कुलदीप इस क्षेत्र से जीतते आए क्योंकि लोगों को जातिवाद नहीं पसंद है. यह स्‍थानीय राजपूतों को पसंद नहीं आया और उनके खिलाफ यह साजिश रची गई.

रेप के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के रिश्तेदार निपेंद्र सिंह ने कहा कि यदि वैज्ञानिक तरीके से जांच करवाई जाए तो सच्चाई सामने आ जाएगी


अपराध में शामिल रहा है पीड़िता का परिवार
Loading...

निपेंद्र ने बताया कि पीड़िता का परिवार आपराधिक गतिविधियों में शामिल रहा है. जब राज्य में योगी सरकार ने अपराध के खिलाफ कार्रवाई करनी शुरू की तो उनके खिलाफ वारंट निकाले गए. इसको लेकर उन लोगों ने कुलदीप से मदद मांगी और वारंट रद्द करवाने की मांग की. लेकिन सेंगर ने साफ मना कर दिया. जिसके बाद यह साजिश रची गई.

निपेंद्र की मांग है कि पीड़िता और उसके परिवार का भी पॉलीग्राफ टेस्ट करवाना चाहिए. सभी के सामने सच आना जरूरी है. उन्होंने कहा कि पीड़िता का एक करीबी रिश्तेदार अभी भी मर्डर के एक मामले में जेल में बंद है.

ये भी पढ़ें: राम जन्मभूमि पर केवल रामलला का अधिकार है, निर्मोही अखाड़ा का नहीं: VHP

AMU रिसर्च स्कॉलर के साथ छेड़खानी, विरोध करने पर पीटा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए उन्नाव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 9, 2019, 11:22 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...