उन्नाव: भरभराकर गिरी कच्चे मकान की छत, 3 मासूम समेत 8 लोग दबे

मकान की छत गिरने से आठ लोग दबे
मकान की छत गिरने से आठ लोग दबे

करीब दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस व ग्रामीणों के संयुक्त रेस्क्यू अभियान के चलते सभी को मलबे से सुरक्षित बाहर निकाला गया और सीएचसी में भर्ती करवाया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 11:10 AM IST
  • Share this:
उन्नाव. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के उन्नाव (Unnao) जनपद में कच्चे मकान की छत एक झटके में भरभरा कर ढह गई. हादसे में परिवार के सभी 8 लोग मलबे में दब गए, जिसमें तीन मासूम बच्चे भी शामिल थे. धमाके जैसी तेज़ आवाज सुनकर ग्रामीणों कि भीड़ दौड़ पड़ी. ग्रामीणों ने इंसानियत का परिचय देते हुए मलबे में दबे परिवार के लोगों का रेस्क्यू शुरू किया और पुलिस (Police) को सूचना दी. करीब दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस व ग्रामीणों के संयुक्त रेस्क्यू अभियान के चलते सभी को मलबे से सुरक्षित बाहर निकाला गया और सीएचसी में भर्ती करवाया गया. एक महिला की हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल उन्नाव रेफर किया गया. बांगरमऊ एसडीएम ने घटनास्थल का निरीक्षण कर परिवार को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है.

बता दें कि उन्नाव के बांगरमऊ कोतवाली मोहल्ला सराय गांव के रहने वाले बराती अपनी पत्नी जयबुन, बेटे व बहू समेत 8 सदस्यों के साथ घर पर मौजूद थे, इस बीच कच्चे मकान की छत एक झटके में अचानक भारभरा के ढह गई और सभी मलबे में दब गए. तेज़ आवाज़ के बीच चीख पुकार सुनकर ग्रामीणों की भीड़ बराती के घर की तरफ दौड़ पड़ी. ग्रामीणों ने पुलिस को हादसे कि सूचना देने के साथ ही रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया. वहीं पुलिस कर्मी भी लोगों के बचाव कार्य में जुट गए. ग्रामीणों व पुलिस के संयुक्त प्रयासों के चलते मलबे में दबे बराती, जयबुन के अलावा निजामुद्दीन, नरगिस, अमीर जहां, 13 साल की हिना , अहमद 4 वर्ष , दो साल के मासूम निजात का रेस्क्यू कर आनन-फानन बांगरमऊ सीएचसी में भर्ती कराया गया, जहां पर सभी का इलाज चल रहा है. वहीं एक गंभीर घायल महिला को जिला अस्पताल रेफर किया गया है.

एसडीएम ने कही ये बात 
वहीं बांगरमऊ एसडीएम दिनेश कुमार ने घटनास्थल का निरीक्षण कर घायलों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है. एसडीएम ने परिवार की आर्थिक स्थिति को जानने के बाद रिपोर्ट तैयार कर डीएम को भेंजेगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज