प्रेमी ने युवती की हत्या कर शव को खेत में दफनाया, डेढ़ साल बाद पुलिस ने बरामद किया कंकाल

मामला उन्नाव के अजगैन कोतवाली अंतर्गत कस्बा नवाबगंज का है.
मामला उन्नाव के अजगैन कोतवाली अंतर्गत कस्बा नवाबगंज का है.

पुलिस ने तीन दिन पहले आरोपी सूरज को कानपुर (Kanpur) से हिरासत में लिया और पूछताछ की तो उसने सच बयान कर दिया.

  • Share this:
उन्नाव. उत्तर प्रदेश के उन्नाव (Unnao) में 18 माह बाद बेटी का शव कब्र से निकला तो परिजनों में कोहराम मच गया. जिस बेटी ने प्यार में घर बार छोड़ कर प्रेमी के साथ जीवन भर रहने की कसमें खाई थीं, वही प्रेमी जान का दुश्मन बन गया. प्रेमी ने प्रेमिका की हत्या कर शव दफना दिया. युवती की हत्या शादी के लिए दबाव बनाए जाने को लेकर की गई है. यह बात प्रेमी ( Lover) ने पुलिस पूछताछ में स्वीकार की है. करीब डेढ़ साल तक अजगैन व माखी थाना पुलिस युवती की खोजबीन में जुटी हुई थी. इसके बाद भी पुलिस को सफलता नहीं मिली. इसके बाद पुलिस ने सर्विलांस (Surveillance) का सहारा लिया तो फरार चल रहा प्रेमी कानून के चंगुल में फंस गया. पुलिस की सख्त पूछताछ में प्रेमी टूट गया. उसने पुलिस को बताया कि प्रेमिका की हत्या करने के बाद शव को खेत में दफना दिया था. पुलिस ने शव (कंकाल) को बाहर निकाल कर पीएम करवाया. वहीं, प्रेमी को हिरासत में लेकर आगे की कारवाई की जा रही है. पुलिस मामले में अन्य लोगों के शामिल होने की भी जांच कर रही है. वहीं, मुख्य आरोपी सूरज के मददगार रहे अनिल मिश्रा (Anil Mishra) को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है. एक आरोपी अभी भी पुलिस पकड़ से दूर है.

जानकारी के मुताबिक, मामला उन्नाव के अजगैन कोतवाली अंतर्गत कस्बा नवाबगंज का है.  मोहल्ला झकरी निवासी 26 वर्षीय शालू पुत्री रमेश बीते 2 अप्रैल 2019 को घर से अचानक लापता हो गई थी.  मृतका की मां रानी ने माखी थाना क्षेत्र के गांव पंडित खेड़ा के रहने वाले सूरज पर बेटी को भगा ले जाने व अपहरण का मुकदमा अजगैन कोतवाली में दर्ज कराया था. वहीं, माखी व अजगैन कोतवाली पुलिस युवती की खोज पाने में असफल रही. मामला कुछ दिनों पहले स्वाॅट टीम के हवाले हुआ तो अजगैन पुलिस के साथ मिलकर स्वाट टीम ने खोजबीन शुरू की. अभियान में लगे स्वॉट टीम प्रभारी मोहम्मद फिरोज खान, अजगैन कोतवाली प्रभारी संतोष कुमार व चौकी इंचार्ज जितेन्द्र यादव ने फरार चल रहे आरोपी सूरज  का मोबाइल सर्विलांस पर लगवाया और छानबीन शुरू की.

हिरासत में लिया और पूछताछ की तो उसने सच बयान कर दिया.
पुलिस ने तीन दिन पहले आरोपी सूरज को कानपुर से हिरासत में लिया और पूछताछ की तो उसने सच बयान कर दिया. आरोपी की निशानदेही पर पुलिस ने माखी थाना क्षेत्र के पंडित खेड़ा गांव में एक खेत से प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में कब्र से शव को बाहर निकाला. इसके बाद पुलिस ने देखा कि शव के नाम पर सिर्फ नर कंकाल है. लेकिन फिर भी कपड़ों, जंजीर व उसमें पड़े लॉकेट से युवती के पिता ने शव की पहचान की. पुलिस ने शव ( कंकाल) पीएम को भेजा है. बता दें कि जिस युवती को पुलिस महीनों से तलाश कर रही थी, उसके शव  को माखी थाना से महज 8 किलोमीटर दूरी पर प्रेमी ने अपने गांव के बाहर दोस्त अनिल मिश्रा के खेत में दफना दिया था. खुलासे के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली है. मृतका के पिता ने बताया कि बेटी की शादी सूरज के साथ तय की थी. सूरज के परिजनों के द्वारा शादी में कार की मांग की गई थी, जिसे पूरा करने में असमर्थता जताई. इसके बाद बेटी लापता हो गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज