दिन में डॉक्टरों ने दिया सामूहिक इस्तीफा, रात को डीएम ने कहा - वापस लिया!

सीएमओ दफ्तर में इस्तीफा सौंपते डॉक्टर.

सीएमओ दफ्तर में इस्तीफा सौंपते डॉक्टर.

Uttar Pradesh News : बदइंतज़ामी और मनमाना दबाव बनाए जाने के आरोप लगाने वाले डॉक्टरों के साथ डीएम आज मुलाकात करेंगे. वहीं, प्रभारी डॉक्टरों के सामूहिक इस्तीफे के बाद स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन में हड़कंप मच गया.

  • Share this:

उन्नाव. कोविड-19 के दौर में स्वास्थ्य विभाग की व्यवस्थाओं और अफ़सरशाही पर अब खुद डॉक्टरों ने ही नाराज़गी जताई तो हडकंप भी मचा और अच्छा खासा ड्रामा भी चलता रहा. पहले बुधवार को दिन में डॉक्टरों ने सामूहिक तौर पर इस्तीफा दिया और देर रात ज़िले के कलेक्टर ने इस आशय का एक पत्र पोस्ट किया कि डॉक्टरों ने अपना इस्तीफा वापस ले लिया है. हालांकि कलेक्टर और इस्तीफा देने वाले डॉक्टरों के बीच आज गुरुवार की दोपहर बातचीत होगी.

मामला कुछ इस तरह है कि कोरोना संक्रमण में लगातार सेवाएं देने वाले डॉक्टर यानी 14 सीएचसी-पीएचसी प्रभारियों ने प्रशासनिक व्यवस्थाओं और अधिकारियों से तंग आकर सामूहिक रूप से इस्तीफा देने का पत्र डिप्टी सीएमओ तनमय कक्कड़ को सौंप दिया. इसके बाद मामले ने तूल पकड़ लिया. बताया जा रहा है कि फतेहपुर चौरासी और असोहा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के प्रभारियों पर दंडात्मक कार्रवाई किए जाने के बाद सामूहिक इस्तीफा दिया गया.

Youtube Video

ये भी पढ़ें : उत्तराखंड, हिमाचल में बहुत भारी बारिश का अलर्ट, इन राज्यों में भी बदल रहा है मौसम!
डॉक्टरों ने क्या आरोप लगाए?

डिप्टी सीएमओ तनमय कक्कड़ को प्रभारी पद से इस्तीफा देते हुए प्रभारियों ने कई गंभीर आरोप लगाए. इनमें सबसे प्रमुख यही रहा कि ज़िला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग से जुड़े वरिष्ठ अधिकारी उन पर नाजायज़ दबाव बना रहे हैं. डॉक्टरों ने स्वास्थ्य विभाग के अफसरों पर दंडात्मक कार्रवाई करने, अमर्यादित बर्ताव और असहयोगात्मक रवैया अपनाने के आरोप लगाए.

UP news, unnao news, corona in uttar pradesh, corona crisis in uttar pradesh, उत्तर प्रदेश न्यूज़, उन्नाव न्यूज़, उत्तर प्रदेश में कोरोना, यूपी में कोरोना संकट
डॉक्टरों ने विस्तृत इस्तीफा दिया, जिसमें सिस्टम पर आरोप भी लगाए.



आरोपों और इस्तीफे की इस कवायद के बाद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी सीएचसी, पीएचसी प्रभारियों को मनाते हुए दिखे. दिन भर चली खींचतान के बाद देर रात डीएम उन्नाव ने ज़िले के इन्फॉर्मेशन ग्रुप पर वह पत्र डाला जिसमें प्रभारी डॉक्टरों के त्यागपत्र वापस लिये जाने की बात थी. यह भी बताया गया कि आज दोपहर सीएचसी व पीएचसी प्रभारी जिलाधिकारी उन्नाव रविन्द्र कुमार के साथ मुलाकात कर अपनी समस्याएं बताएंगे.

ये भी पढ़ें : दिल्ली यूनिवर्सिटी में कोरोना का तांडव, अब तक 30 से ज़्यादा टीचर्स की मौत

कुमार के मुताबिक सीएमओ ने नाराज़ डॉक्टरों से बात की है, जल्द ही समस्या सुलझा ली जाएगी. डीएम ने यह भी कहा कि एसीएमओ के स्तर पर भी डॉक्टरों से वार्ता जारी है. सभी डॉक्टर टीम का अहम हिस्सा हैं. 'अगर उनकी कुछ समस्याएं हैं तो उनका निराकरण कर दिया जाएगा.'

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज