उन्नाव गैंगरेप मामला: सीबीआई ने माखी थाने से लिए उन्नाव गैंगरेप मामले के दस्तावेज

सीबीआई ने उन्नाव गैंगरेप मामले से जुड़े अहम दस्तावेज उन्नाव के माखी थाने से अपने कब्जे में ले लिए हैं. CBI ने पीड़िता के घायल वकील के परिजनों और ग्रामीणों से भी इस मामले की पूछताछ की है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 3, 2019, 6:45 PM IST
उन्नाव गैंगरेप मामला: सीबीआई ने माखी थाने से लिए उन्नाव गैंगरेप मामले के दस्तावेज
सीबीआई ने माखी थाने से लिए उन्नाव गैंगरेप मामले के दस्तावेज. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 3, 2019, 6:45 PM IST
सीबीआई ने उन्नाव गैंगरेप मामले से जुड़े अहम दस्तावेज उन्नाव के माखी थाने से अपने कब्जे में ले लिए हैं. सूत्रों के अनुसार, सीबीआई की टीम गैंगरेप और हत्या से जुड़े अहम दस्तावेज ले गई है. CBI ने पीड़िता के घायल वकील के परिजनों और ग्रामीणों से भी इस मामले की पूछताछ की है. सीबीआई की टीम मामले से जुड़ी कड़ियों को जोड़ने और कुछ अन्य लोगों से पूछताछ करने के लिए लगभग 4 घण्टे तक गांव और थाने में घूमती रही. पूछताछ और दस्तावेज लेने के बाद सीबीआई की टीम रवाना माखी थाना क्षेत्र के माखी गांव से रवाना हो गई.

रायबरेली सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल उन्नाव रेप पीड़िता और उसके वकील की हालत छठे दिन भी जस की तस बनी हुई है. पीड़िता अब भी वेंटीलेटर पर है जबकि उसके वकील पर से वेंटीलेटर को हटा लिया गया है. लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के सीएमएस डॉ. एसएन शंखवार ने मीडिया से बातचीत में कहा कि उन्नाव पीड़िता की हालत स्थिर बनी हुई है. पीड़िता के वकील की हालत में थोड़ा सुधार को देखते हुए उन पर से वेंटीलेटर को पूरी तरह से हटा लिया गया है. उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के निर्देश के बाद दोनों का मुफ्त इलाज हो रहा है. फिलहाल पीड़िता वेंटीलेटर पर है.

सीबीआई टीम ट्रामा सेंटर पहुंची
इससे पहले शनिवार सुबह सीबीआई की टीम पीड़ित परिवारवालों से मिलने के लिए लखनऊ के ट्रामा सेंटर पहुंची थी. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई की सक्रियता बढ़ गई है. इससे पहले केजीएमयू के ट्रामा सेंटर प्रभारी डॉ. संदीप तिवारी ने कहा, 'युवती की कई हड्डियां टूटी हैं, साथ ही उसके सीने में भी चोट है. उसकी हालत में मामूली सुधार हुआ है लेकिन अभी इसे संतोषजनक नहीं कहा जा सकता है.'


एयरलिफ्ट की सूचना नहीं
इस बीच खबर है कि पीड़िता की हालत पहले जैसी है. डॉक्टरों की टीम लगातार 24 घंटे उसकी निगरानी कर रही है और अभी भी वो वेंटीलेटर पर है. डॉक्टर ने बताया कि घायल वकील महेंद्र सिंह को बीते गुरुवार को भी दिन में कुछ देर के लिए वेंटीलेटर से हटाकर देखा गया था. इस दौरान उनकी तबियत स्थिर रही. बाद में फिर उन्हें वेंटीलेटर पर कर दिया गया. डॉ. तिवारी से जब पूछा गया कि क्या बेहतर इलाज के लिये पीड़िता को एयर लिफ्ट कर कहीं बाहर ले जाने की संभावना है. इस पर उन्होंने जवाब दिया कि अभी उनके पास ऐसी कोई सूचना नहीं है.
Loading...

यह है पूरा मामला 
उन्नाव के विधायक कुलदीप सेंगर पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता अपने परिजनों समेत रायबरेली से उन्नाव लौटते समय रास्ते में सड़क हादसे का शिकार हो गई थी. उसकी कार और ट्रक के बीच हुई टक्कर में पीड़िता की चाची और मौसी की मौके पर मौत हो गई थी, जबकि वो खुद और उसके वकील महेंद्र सिंह चौहान गंभीर रूप से घायल हैं. दोनों घायलों का लखनऊ के केजीएमयू ट्रॉमा सेंटर में इलाज चल रहा है. प्रशासन ने ऐलान किया है कि दुर्घटना में घायल दोनों लोगों (रेप पीड़िता और उसके वकील) के इलाज का सारा खर्च राज्य सरकार उठाएगी.

रिपोर्ट - अनुज गुप्ता

ये भी पढ़ें - 
First published: August 3, 2019, 6:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...