लाइव टीवी

उन्नाव रेप केस: कोर्ट में जज का फैसला सुनते ही रोने लगे MLA कुलदीप सेंगर और शशि सिंह

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 16, 2019, 4:37 PM IST
उन्नाव रेप केस: कोर्ट में जज का फैसला सुनते ही रोने लगे MLA कुलदीप सेंगर और शशि सिंह
उन्नाव रेप केस में कोर्ट में जज का फैसला सुनते ही रोने लगी शशि सिंह (प्रतीकात्मक तस्वीर)

उन्नाव गैंगरेप केस (Unnao Gang Rape Case) में दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने सह आरोपी शशि सिंह (Shashi Singh) को बरी कर दिया है. कोर्ट में जज का फैसला सुनते ही आरोपी कुलदीप सेंगर और शशि सिंह रोने लगे.

  • Share this:
नई दिल्ली. उन्नाव गैंगरेप केस (Unnao Gang Rape Case) में दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट का फैसला आ गया है. कोर्ट ने बीजेपी के निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को दोषी करार दिया है. वहीं, सह आरोपी महिला शशि सिंह (Shashi Singh) को बरी कर दिया गया. कोर्ट में जज का फैसला सुनते ही आरोपी कुलदीप सेंगर और शशि सिंह रोने लगे. हालांकि कोर्ट में शशि को बताया गया कि उन्हें बरी कर दिया गया है. लेकिन उसके बावजूद भी उनका रोना बंद नहीं हुआ.

वहीं, सेंगर अपनी बहन के बगल में रोता दिखाई दिया. कोर्ट ने मुख्य आरोपी कुलदीप सेंगर को भारतीय दंड संहिता और पॉक्सो अधिनियम के तहत दोषी करार दिया है, जबकि शशि सिंह (Shashi Singh)  को कोर्ट ने मामले में भूमिका को संदेह के घेरे में रखा. शशि ‌सिंह के खिलाफ पर्याप्त सबूत न होने और न ही मामले में सीधे तौर पर भूमिका स्पष्ट होने के चलते कोर्ट ने उन्हें संदेह का लाभ देते हुए मामले से बरी कर दिया.

सेंगर को इन धाराओं में दिया दोषी करार
तीस हजारी कोर्ट ने विधायक कुलदीप सेंगर को धारा 120बी (आपराधिक साजिश), 363 (अपहरण, 366 (शादी के लिए मजबूर करने के लिए एक महिला का अपहरण या उत्पीड़न), 376 (बलात्कार और अन्य संबंधित धाराओं) और POCSO के तहत दोषी करार दिया है. कोर्ट अब इस मामले में 19 दिसंबर को सजा पर बहस करेगा.

सीबीआई को फटकार
इसके साथ ही कोर्ट ने सीबीआई को भी जमकर फटकार लगाई. कोर्ट ने मामले की जांच में देर करने और चार्जशीट दाखिल करने में समय लगाने को लेकर सीबीआई को आड़े हाथ लिया. कोर्ट ने कहा कि सीबीआई ने चार्जशीट फाइल करने में एक साल लगा दिया. इससे जांच एजेंसी भी सवालों के घेरे में आती है. कोर्ट ने कहा कि जांच एजेंसी ने पीड़िता को बयान देने के लिए कई बार बुलाया जबकि सीबीआई के अधिकारियों को पीड़िता के पास बयान लेने के लिए जाना चाहिए था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए उन्नाव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 16, 2019, 3:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर