लाइव टीवी

उन्नाव गैंगरेप: पीड़िता की बहन को मिला नौकरी का आश्वासन, परिवार ने किया अंतिम संस्कार

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 8, 2019, 1:26 PM IST
उन्नाव गैंगरेप: पीड़िता की बहन को मिला नौकरी का आश्वासन, परिवार ने किया अंतिम संस्कार
परिजानों ने अधिकारियों से आश्वासन मिलने के बाद पीड़िता का रविवार को अंतिम संस्कार किया.

उन्नाव गैंगरेप (Unnao Gang Rape) पीड़िता के परिजन ने इससे पहले कहा था कि वे पीड़िता का तब तक अंतिम संस्कार नहीं करेंगे, जब तक उत्तर प्रदेश को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) उनसे मिलने नहीं आते.

  • Share this:
उन्नाव. उन्नाव गैंगरेप (Unnao Gang Rape) पीड़िता के परिवार ने जिला प्रशासन और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की ओर से आश्वासन मिलने के बाद पीड़िता का रविवार को अंतिम संस्कार किया. इससे पहले पीड़िता के परिजन ने कहा था कि वे पीड़िता का तब तक अंतिम संस्कार नहीं करेंगे, जब तक उत्तर प्रदेश को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उनसे मिलने नहीं आते. वहीं पीड़िता की बहन ने राज्य सरकार से उसे भी सरकारी नौकरी देने की मांग की थी.

हालांकि जिला प्रशासन के काफी मनाने के बावजूद पीड़िता के परिजन अंतिम संस्कार के लिए राजी नहीं हुए. इसके बाद लखनऊ के मंडलायुक्त मुकेश मेश्राम ने परिजन से करीब आधे घंटे बातचीत की और उन्हें समझाया-बुझाया. जानकारी के मुताबिक, जिला प्रशासन के अधिकारियों ने पीड़िता की बहन को सरकारी नौकरी देने का आश्वासन दिया है, जिसके बाद परिजन पीड़िता के अंतिम संस्कार के लिए मान गए.



इसके बाद कड़ी सुरक्षा के बीच शव को गांव के बाहर एक खेत में उनके दादा-दादी की समाधि के पास ही दफना दिया गया. अंतिम संस्कार में मंत्रियों स्वामी प्रसाद मौर्य और कमल रानी वरुण के अलावा मेश्राम तथा अन्य आला अधिकारी भी शामिल हुए. सपा के नेता भी गांव में मौजूद हैं, जो अंतिम संस्कार के बाद उन्नाव जिला मुख्यालय पर आयोजित शोक कार्यक्रम में शामिल होंगे.नौकरी की मांग
फिलहाल, अप्रिय घटना को रोकने के लिए गांव में भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात कर दिया गया है. दमकल की गाड़ियां भी मौके पर मौजूद हैं. वहीं, गांव में पुलिस-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी सुबह से ही डेरा डाले हुए हैं.

बता दें कि पीड़िता का शुक्रवार को इलाज के दौरान देर रात 11:40 बजे निधन हो गया था. पीड़िता की मौत गंभीर रूप से जलने की वजह से हुई. उत्‍तर प्रदेश सरकार ने पीड़िता के परिवार को 25 लाख रुपये और प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर देने का ऐलान किया है.

पीड़िता के भाई का दुख
आपको बता दें कि 23 वर्षीय पीड़िता को गुरुवार तड़के बलात्कार के दो आरोपियों सहित पांच लोगों ने पीड़िता को जला दिया था. एम्बुलेंस के जरिए पीड़िता का शव उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले स्थित उनके गांव लाया गया. उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के भाई ने शनिवार को पत्रकारों से कहा, ‘मेरी बहन को तभी न्याय मिलेगा जब सभी आरोपियों को वहीं भेजा जाएगा 'जहां वह चली गई'.’ उन्होंने कहा, ‘उसने (रेप पीड़ि‍ता) मुझसे कहा भाई मुझे बचा लो. मैं दुखी हूं कि उसे बचा नहीं सका.’

ये भी पढ़ें:

विश्व का सबसे ऊंचा होगा अयोध्या राम जन्मभूमि का मंदिर, कराची से नजर आएगी लाइट: वेदांती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए उन्नाव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 8, 2019, 12:50 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर