लाइव टीवी

उन्नाव गैंगरेप: पीड़िता की बहन बोलीं- न्याय में देरी हुई तो योगी दरबार में करेंगे आत्मदाह

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 8, 2019, 5:52 PM IST
उन्नाव गैंगरेप: पीड़िता की बहन बोलीं- न्याय में देरी हुई तो योगी दरबार में करेंगे आत्मदाह
न्याय में देरी हुई तो योगी दरबार में करेंगे आत्मदाह

इससे पहले पीड़िता के परिजनों ने कहा था कि वे तब तक उसका अंतिम संस्कार नहीं करेंगे, जब तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) उनसे मिलने नहीं आते. वहीं पीड़िता की बहन ने राज्य सरकार से उसे भी सरकारी नौकरी (Government Job) देने की मांग की थी.

  • Share this:
उन्नाव. उन्नाव गैंगरेप (Unnao Gang Rape) पीड़िता के परिवार ने जिला प्रशासन और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की ओर से आश्वासन मिलने के बाद पीड़िता का रविवार को अंतिम संस्कार किया. अंतिम संस्कार के बाद मीडिया से बातचीत में पीड़िता की बहन ने योगी सरकार से जल्द से जल्द न्याय की मांग की. पीड़ित लड़की की बहन ने कहा कि सभी आरोपियों को फांसी की सजा मिले. वहीं आरोपियों को फांसी न मिलने पर उसने आत्मदाह करने की धमकी दी. पीड़िता की बहन ने कहा कि अगर न्याय में देरी हुई तो वह योगी दरबार में जाकर आत्मदाह कर लेगी.

इससे पहले पीड़िता के परिजन ने कहा था कि वे पीड़िता का तब तक अंतिम संस्कार नहीं करेंगे, जब तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उनसे मिलने नहीं आते. वहीं पीड़िता की बहन ने राज्य सरकार से उसे भी सरकारी नौकरी देने की मांग की थी.

मंडलायुक्त मुकेश मेश्राम ने परिजनों से आधे घंट तक की बातचीत
हालांकि जिला प्रशासन के काफी मनाने के बावजूद पीड़िता के परिजन अंतिम संस्कार के लिए राजी नहीं हुए. इसके बाद लखनऊ के मंडलायुक्त मुकेश मेश्राम ने परिजनों से करीब आधे घंटे तक बातचीत की और उन्हें समझाया-बुझाया. जानकारी के मुताबिक, जिला प्रशासन के अधिकारियों ने पीड़िता की बहन को सरकारी नौकरी देने का आश्वासन दिया है, जिसके बाद परिजन पीड़िता के अंतिम संस्कार के लिए मान गए.

इसके बाद कड़ी सुरक्षा के बीच शव को गांव के बाहर एक खेत में उनके दादा-दादी की समाधि के पास ही दफना दिया गया. अंतिम संस्कार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य और कमल रानी वरुण के अलावा मेश्राम तथा अन्य आला अधिकारी भी शामिल हुए. सपा के नेता भी गांव में मौजूद हैं, जो अंतिम संस्कार के बाद उन्नाव जिला मुख्यालय पर आयोजित शोक कार्यक्रम में शामिल होंगे.

बता दें कि, गुरुवार (5 दिसंबर, 2019) को पीड़ित युवती दुष्कर्म के मामले में पैरोकारी के लिए रायबरेली जा रही थी. तभी कुछ लोगों ने उस पर पेट्रोल डालकर आग के हवाले कर दिया था. दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में शुक्रवार रात 11.40 बजे उसकी मौत हो गई. पीड़िता के शव को शनिवार रात उसके गांव लाया गया. पीड़िता की मौत गंभीर रूप से जलने की वजह से हुई. उत्‍तर प्रदेश सरकार ने पीड़िता के परिवार को 25 लाख रुपए और प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर देने का ऐलान किया है.

इनपुट- अनुज गुप्तायह भी पढ़ें:

उन्नाव के बाद लखनऊ में नाबालिग किशोरी से रेप, पीड़िता ने खाया जहर

Delhi Fire: फायरमैन राजेश शुक्ला ने फैक्ट्री में फंसे 11 लोगों की जान बचाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए उन्नाव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 8, 2019, 5:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर