उन्नाव : न्यायाधीश ने दरोगा को गिरफ्तार करने के दिए आदेश

दरोगा के कोर्ट में पेश न होने पर कानपुर देहात के एसपी को पत्र लिखा गया लेकिन उनका कोई रिप्लाई नहीं आया. इसके बाद कोर्ट ने आईजी कानपुर से विवेचक दरोगा को 18 जुलाई को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया है.


Updated: July 11, 2018, 3:28 PM IST
उन्नाव : न्यायाधीश ने दरोगा को गिरफ्तार करने के दिए आदेश
फाइल फोटो

Updated: July 11, 2018, 3:28 PM IST
उन्नाव में गैंगरेप के एक मुकदमे के विवेचक दरोगा कई नोटिस के बाद भी न्यायालय में हाजिर नहीं हुए तो अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने दरोगा को गिरफ्तार करने के आदेश जारी कर दिए. बताया जा रहा है कि मौजूदा समय में दरोगा कानपुर देहात के अकबरपुर थाने में तैनात हैं.

अपर जिला जज कोर्ट संख्या 8 के न्यायाधीश राजेश उपाध्याय ने 2014 से पॉक्सो एक्ट में विचाराधीन राज्य बनाम पप्पू उर्फ विजय के मुकदमे में विवेचक दारोगा ऋषीकांत शुक्ला विवेचक हैं. गैंगरेप के इस मुकदमे में 4 आरोपी जेल में हैं. बांगरमऊ के तत्कालीन दारोगा ऋषीकांत शुक्ला ने विवेचना की थी.

बताया जा रहा है की जिले से स्थानान्तरण होने के बाद ऋषीकांत शुक्ला कानपुर देहात के अकबरपुर थाने में तैनात हैं. मुकदमे की सुनवाई के दौरान दरोगा के कोर्ट में पेश न होने पर कानपुर देहात के एसपी को पत्र लिखा गया लेकिन उनका कोई रिप्लाई नहीं आया. इसके बाद कोर्ट ने आईजी कानपुर से विवेचक दरोगा को 18 जुलाई को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया है. इस आदेश की कॉपी पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को भी भेजी गई है.

ये भी पढ़ें - 

मुन्ना बजरंगी हत्याकांड: HC ने तकनीकी आधार पर खारिज की सीबीआई जांच की याचिका

...जब कई गोलियां खाने के बाद मॉर्च्युरी में 'जिंदा' हो गया था मुन्ना बजरंगी

मुन्ना बजरंगी को नज़दीक से मारी गईं 10 गोलियां, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर