उन्नाव: बहन की शादी होने पर मुस्लिम भाई ने करवाई भागवत कथा
Unnao News in Hindi

उन्नाव: बहन की शादी होने पर मुस्लिम भाई ने करवाई भागवत कथा
सलामुद्दीन ने भागवत कथा के बाद भंडारे का भी आयोजन करवाया.

घर-घर जाकर चूड़ी बेचने वाले सलामुद्दीन ने चार साल पहले गांव के जंगलेश्वर मंदिर (Jungleshwar Temple) में अपनी एकलौती बहन नगीना की शादी के लिए मन्नत मांगी थी.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
उन्नाव. उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल देखने को मिली. यहां सफीपुर के ओसिया गांव के एक मुस्लिम भाई ने मन्नत पूरी होने पर भागवत कथा (BHagwat Katha) करवाई. बता दें कि सलामुद्दीन नाम के इस शख्स ने ओसिया गांव के जंगलेश्वर मंदिर में एकलौती बहन की शादी के लिए मन्नत मांगी थी. इसके बाद सलामुद्दीन की बहन की शादी हो गई. बहन की शादी के चार साल बाद पैसे जोड़कर सलामुद्दीन ने जंगलेश्वर मंदिर पर नौ दिन तक भागवत कथा सुनी और भंडारे का आयोजन किया.

घर-घर जाकर चूड़ी बेचने वाले सलामुद्दीन ने चार साल पहले गांव के जंगलेश्वर मंदिर में अपनी एकलौती बहन नगीना की शादी के लिए मन्नत मांगी थी. इसके बाद उनकी बहन का निकाह हो गया था, लेकिन आर्थिक कारणों के चलते सलामुद्दीन अपनी मन्नत को पूरा नहीं कर पा रहा था. लगभग चार साल बाद सलामुद्दीन ने गांव के जंगलेश्वर मंदिर में भागवत कथा का आयोजन कराया. जिसके बाद शनिवार को भंडारे के बाद भागवत कथा का समापन हुआ. इस भागवत कथा कार्यक्रम में हिन्‍दू के साथ ही मुस्लिमों ने भी शिरकत की.

कथावाचक ने कही ये बात
कथावाचक कृष्ण कुमार शुक्ला ने बताया कि सलामुद्दीन ने कथा करवाई थी. शुक्ला ने बताया कि इन्होंने चार साल पहले मन्नत मांगी. वहीं, सलामुद्दीन ने बताया कि हमने बहन की शादी की मन्‍नत मांगी थी. इसलिए बाबा के आशीर्वाद से मेरी बहन की शादी सफल हुई है. मन्नत को पूरी करने के लिए भागवत करवाया, जिसका समापन भी हो गया.



ये भी पढ़ें:मायावती का BJP पर हमला, कहा- आरक्षण को ‘धीमी मौत’ दे रही है भगवा पार्टी



मिशन यूपी में जुटी आम आदमी पार्टी, गांव-गांव में करेगी केजरीवाल मॉडल का प्रचार
First published: February 23, 2020, 8:45 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading