उन्नाव केस: दो किशोरियों की मौत के बाद जिंदगी से जंग लड़ रही बेटी को दिल्ली एयरलिफ्ट करने की मांग

उन्नाव केस: पुलिस ने मामले के खुलासे के लिए कई टीमें लगाई हैं.

Unnao Case: असोहा थाना क्षेत्र में 2 दलित कोशोरियों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत और तीसरी किशोरी की हालत गंभीर बनी हुई है. उसका इलाज कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में चल रहा है.

  • Share this:
    उन्नाव. उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के असोहा थाना क्षेत्र के बबुरहा जंगल में जानवरों के लिए चारा लेने गई 3 किशोरियों में से दो की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत का मामला तूल पकड़ने लगा है. भीम आर्मी (Bhim Army) से लेकर कांग्रेस (Congress) तक ने जिंदगी की जंग लड़ रही तीसरी किशोरी को एयरलिफ्ट कर दिल्ली के AIIMS में एडमिट कराने की मांग की है. साथ ही प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है.

    भीम आर्मी प्रमुख और आजाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद ने ट्वीट कर उन्नाव केस की एकमात्र गवाह बच्ची का बेहतर इलाज और उसकी सुरक्षा को सबसे जरूरी बताया है. उन्‍होंने बच्ची को तत्काल एयर एंबुलेंस से AIIMS दिल्ली लाने की मांग की है. उत्तर प्रदेश सरकार का अपराधियों को संरक्षण व अपराधियों के मामले में सरकार की कार्यशैली को देश हाथरस कांड में देख चुका है. एक अन्य ट्वीट में आजाद ने लिखा, 'उन्नाव की घटना से स्तब्ध हूं. देश में दलितों पर अत्याचार बढ़ा है. इस घटना को शांत नहीं रहने देंगे. भीम आर्मी के कार्यकर्ता कानपुर के रीजेंसी अस्पताल पहुंच चुके हैं. सरकार जान ले उन्नाव में हम हाथरस नहीं दोहराने देंगे.'



    कांग्रेस-सपा ने सरकार को घेरा 
    वहीं, कांग्रेस नेता उदित राज ने कहा, 'उन्नाव में दो दलित बच्चियां मृत पाई गरी है, तीसरी गंभीर घायल हैं, तुरंत एयरलिफ्ट करके एम्स, दिल्ली में इलाज किया जाए. समाजवादी पार्टी ने भी घटना पर सरकार पर निशाना साधा और दोषियों को कठोर सजा देने की मांग की. उन्नाव की पूर्व सांसद और समाजवादी पार्टी नेता अनु टंडन भी रीजेंसी अस्पताल में किशोरी का हालचाल जानने पहुंची और सरकार पर हमला बोलै। उन्होंने कहा कि इस सरकार में इस तरह घटनाएं आम हो गई हैं.

    ये है पूरा मामला 
    उन्नाव के असोहा थाना क्षेत्र में हृदय विदारक घटना सामने आई है. यहां असोहा थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम पंचायत पाठकपुर के मजरे बबुरहा में लगभग दोपहर बाद 3:00 बजे के करीब 3 किशोरी बबुरहा नाला के पास खेत में पशुओं के लिए हरा चारा लेने गई थी. देर शाम तक घर नहीं लौटीं तो परिजन लड़कियों को खोजने के लिए निकले. परिजनों के मुताबिक खेत में तीनों लड़कियां कपड़े से बंधी मरणासन्न हालत में मिलीं. तीनों किशोरियों को परिजनों ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र असोहा ले गए, जहां पर डॉक्टरों ने 2 को मृत घोषित कर दिया. वहीं, एक अन्‍य किशोरी को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया, जहां उसकी हालत गंभीर देखते हुए डॉक्टरों ने उनको कानपुर के हैलट अस्पताल के लिए रेफर कर दिया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.