UP Panchayat Chunav: कुलदीप सेंगर की पत्नी का कटा टिकट तो बेटी ने पोस्ट किया इमोशनल VIDEO

उन्नाव पंचायत चुनाव में कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी का टिकट कटने के बाद उनकी बेटी ऐश्वर्या ने एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है.

उन्नाव पंचायत चुनाव में कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी का टिकट कटने के बाद उनकी बेटी ऐश्वर्या ने एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है.

Unnao Panchayat Election: उन्नाव में पंचायत चुनाव के दौरान कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी का टिकट बीजेपी ने काट दिया है. इस पर बेटी ऐश्वर्या ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट कर पूछा है कि क्या एक औरत की योग्यता किसी की बीवी या बहन होने से कम हो जाती है?

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 12:40 PM IST
  • Share this:
उन्नाव. उत्तर प्रदेश के उन्नाव में रेप केस (Rape Case) में सजा काट रहे पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Senger) की पत्नी संगीता सेंगर (Sangeet Senger) का टिकट बीजेपी ने काट दिया. इसके बाद अब कुलदीप सिंह सेंगर की बेटी ऐश्वर्या सेंगर ने सोशल मीडिया पर इमोशनल वीडियो पोस्ट कर फैसले पर सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने पूछा है कि आखिर उनकी माता और उनके परिवार की क्या गलती है? जो उनका टिकट ग्राम पंचायत चुनाव में काट दिया गया. ऐश्वर्या सेंगर ने पूछा है कि क्या उनके परिवार को हमेशा अन्याय सहना पड़ेगा.

वीडियो में ऐश्वर्या कहती हैं, 'नमस्कार, मेरा नाम क्या है इससे शायद अब फर्क ही नहीं पड़ता, लेकिन मेरा सरनेम सेंगर है. पिछले तीन साल से मेरे परिवार पर अन्याय पर अन्याय किया जा रहा है. मेरी मां संगीता सिंह सेंगर पिछले 15 वर्षों से उन्नाव में जिला पंचायत सदस्य हैं. सक्रिय राजनीति का हिस्सा रही हैं. ईमानदारी और निष्ठा के साथ अपना हर दायित्व निभाती आ रही हैं. इसी कारण सभी सदस्यों द्वारा उन्हें जिला पंचायत अध्यक्ष भी चुना गया. आज एक महिला नेता की योग्यता, उनका अनुभव, उनकी मेहनत को ताक पर रख दिया गया.'

ऐश्वर्या आगे कहती हैं कि इस देश में महिलाओं के लिए आरक्षण तो तय कर दिया गया है, लेकिन जब वो चुनाव के लिए आगे आती हैं तो उनके पिता और पति कौन हैं, ये क्यों महत्वपूर्ण हो जाता है? क्या एक औरत की योग्यता किसी की बीवी या बहन होने से कम हो जाती है? उसकी खुद की कोई पहचान नहीं?

Youtube Video

कुलदीप सिंह सेंगर की बेटी ने वीडियो में कहा, 'मैं आपसे सिर्फ अपनी मां की गलती पूछना चाहती हूं. वो दागी कैसे हुईं? क्या मुझे और मेरी मां को सम्मान से जीने का अब हक नहीं है? आज बोल रही हूं क्योंकि एक बार अन्याय को फिर से चुपचाप सुन लिया तो शायद जमीर जिंदा रहना न गंवारा करे.' बता दें कि ऐश्वर्या दिल्ली के मिरांडा हाउस से ग्रेजुएट हैं और दिल्ली यूनिवर्सिटी से लॉ की पढ़ाई कर रही हैं.

यह है पूरा मामला

संगीता सेंगर उन्नाव जिला पंचायत की निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष हैं. दरअसल, 8 अप्रैल को बीजेपी ने उन्नाव जिला पंचायत चुनाव के उम्मीदवारों की सूची जारी की थी. इस सूची में संगीता सेंगर को वार्ड नम्बर 22 (फतेहपुर चौरासी तृतीय से) उम्मीदवार घोषित किया गया था. कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी को टिकट देने का मामला तूल पकड़ने और पीड़िता के परिवार की ओर से इसका विरोध करने के बाद पार्टी ने अपना निर्णय बदलते हुए संगीता का टिकट काट दिया. बताया गया है कि उनकी जगह नए उम्मीदवार का नाम जल्द घोषित किया जाएगा. बता दें कि उन्नाव में तीसरे चरण का चुनाव होना है, जिसके लिए 13 अप्रैल से नामांकन दाखिल किए जाएंगे.



कौन है कुलदीप सिंह सेंगर?

उन्नाव की अलग-अलग विधानसभा सीटों से कुलदीप सिंह सिंगर 4 बार के विधायक रहा है. साल 2017 विधानसभा चुनाव में बीजेपी के टिकट पर विधायक रहे कुलदीप सिंह सेंगर को साल 2018 में उन्नाव रेप केस में गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद बीजेपी ने कुलदीप सिंह सेंगर को अगस्त 2019 में पार्टी से निष्काषित कर दिया था. कुलदीप सिंह सेंगर को कोर्ट से दोषी करार दिए जाने के बाद उसे उम्रकैद की सजा सुनाई गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज