कड़ी सुरक्षा के बीच रेप पीड़िता के चाचा उन्नाव रवाना, पत्नी के अंतिम संस्कार में होंगे शामिल

गौरतलब है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने मंगलवार को पीड़िता के चाचा को 1 दिन की शार्ट टर्म बेल दी है. वे सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक पैरोल पर रहेंगे. उधर पीड़िता के चाची का शव भी उन्नाव के माखी गांव पहुंच गया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 31, 2019, 7:56 AM IST
कड़ी सुरक्षा के बीच रेप पीड़िता के चाचा उन्नाव रवाना, पत्नी के अंतिम संस्कार में होंगे शामिल
रायबरेली जेल से उन्नाव के लिए रवाना हुए पीड़िता के चाचा
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 31, 2019, 7:56 AM IST
रायबरेली जेल से कड़ी सुरक्षा के बीच रेप पीड़िता के चाचा महेश सिंह बुधवार सुबह उन्नाव के बालूघाट के लिए रवाना हो गए. वो यहां अपनी पत्नी के अंतिम संस्कार में शामिल होंगे. बता दें कि रविवार दोपहर हुए सड़क दुर्घटना में पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी. इस हादसे में पीड़िता और उसके वकील महेंद्र सिंह गंभीर रूप से घायल हैं जिनका इलाज लखनऊ के ट्रामा सेंटर में चल रहा है.

इससे पहले मंगलवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने पीड़िता के चाचा को 1 दिन की शार्ट टर्म बेल दी थी. वो बुधवार सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक परोल पर रहेंगे. उधर पीड़िता की चाची का शव भी उन्नाव के माखी गांव पहुंच गया है. पीड़िता के चाचा अंतिम संस्कार के लिए रायबरेली जेल से सीधे गंगाघाट पहुंचेंगे. जिला प्रशासन ने पीड़िता के घर की सुरक्षा बढ़ा दी है. बुधवार सुबह करीब 11 बजे गंगाघाट पर उनका अंतिम संस्कार होगा. जिला प्रशासन ने रास्ते के साथ ही घाट पर भी सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए हैं.

क्या है पूरा मामला 
उन्नाव के बांगरमऊ से विधायक कुलदीप सेंगर पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता अपने परिजनों समेत रविवार को रायबरेली में हादसे का शिकार हो गई थी. कार और ट्रक की टक्कर में पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई, जबकि हादसे में वकील महेंद्र सिंह चौहान और रेप पीड़िता गंभीर रूप से घायल हो गए थे. प्रशासन ने ऐलान किया है कि दुर्घटना में घायल दोनों लोगों (रेप पीड़िता और उसके वकील) के इलाज का सारा खर्च राज्य सरकार वहन करेगी.

बता दें कि घायलों का किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर में इलाज चल रहा है.

दुर्घटनाग्रस्त इसी कार में पीड़ित लड़की और उसके रिश्तेदार सवार होकर लौट रायबरेली से उन्नाव लौट रहे थे. उनके साथ उनका वकील भी कार में सवार था.


कौन हैं आरोपी विधायक 
Loading...

मूल रूप से फतेहपुर जिले के रहने वाले विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की माखी गांव में तूती बोलती है. वो उन्नाव के अलग-अलग विधानसभा सीटों से 4 बार से लगातार विधायक निर्वाचित हुए हैं. उन्नाव के माखी थाना क्षेत्र के सराय थोक पर उनका ननिहाल है. वो यहीं आकर बस गए थे.

कुलदीप सेंगर ने यूथ कांग्रेस से अपनी राजनीति की शुरूआत की थी और वर्ष 2002 में भगवंतनगर से बीएसपी के टिकट पर पहली बार विधायक बने. इसके बाद 2007 और 2012 में सपा के टिकट पर चुने गए. वर्ष 2017 में सेंगर बांगरमऊ से बीजेपी के टिकट पर चुनकर विधानसभा पहुंचे.

ये भी पढे़ं:  

उन्नाव रेप पीड़िता के परिवार को ऐसे दी जाती थी धमकी

उन्नाव गैंगरेप: सीबीआई से पहले SIT करेगी मामले की जांच
First published: July 31, 2019, 7:38 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...