होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

UP Chunav: मुनव्वर राणा की बेटी उरुसा बोलीं- डरकर भागना होता तो, बहुत पहले भाग जाती, अब योगी भागेंगे

UP Chunav: मुनव्वर राणा की बेटी उरुसा बोलीं- डरकर भागना होता तो, बहुत पहले भाग जाती, अब योगी भागेंगे

कांग्रेस ने उन्नाव की पुरवा विधानसभा सीट से मशहूर शायर मुनव्वर राणा की बेटी उरुसा को प्रत्याशी बनाया है.

कांग्रेस ने उन्नाव की पुरवा विधानसभा सीट से मशहूर शायर मुनव्वर राणा की बेटी उरुसा को प्रत्याशी बनाया है.

UP election: कांग्रेस ने उन्नाव की पुरवा विधानसभा सीट से मशहूर शायर मुनव्वर राणा की बेटी उरुसा को प्रत्याशी बनाया है. इससे यहां राजनीतिक हलचल तेज हो गई है. उरुसा इमरान राणा ने मुनव्वर राणा के BJP सरकार बनने पर पलायन वाले बयान पर इसे अपने पिता का व्यक्तिगत बयान बताकर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

अधिक पढ़ें ...

उन्नाव. उन्नाव (Unnao) में 23 फरवरी को चौथे चरण के मतदान को लेकर जिसको लेकर राजनैतिक सरगर्मी बढ़ गई है. कांग्रेस (Congress) ने उन्नाव की पुरवा विधानसभा सीट (Purwa Assembly Seat) से मशहूर शायर मुनव्वर राणा (Munawwar Rana) की बेटी को प्रत्याशी बनाया है. शायर मुनव्वर राणा की बेटी उरुसा इमरान राणा (Urusa Imran Rana) ने मुनव्वर राणा के BJP सरकार बनने पर पलायन वाले बयान पर इसे अपने पिता का व्यक्तिगत बयान बताकर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

मुनव्वर राणा की बेटी उरुसा इमरान राणा ने कहा कि देखे वो मेरे पापा हैं. वो खुद में एक बहुत बड़ी शख्सियत हैं. उनके बारे में मैं कोई टिप्पणी नहीं करूंगी. मैं पॉलिटिक्स में हूं वो नॉन पॉलिटिकल आदमी है. उनको पूरी आजादी है, क्योंकि वो कवि आदमी हैं. वह खुद में बहुत बड़ी ताकत रखते हैं. कवि की ताकत हमेशा उनकी कलम होती है. उन्होंने कहा कि मोदी योगी से डरकर भागना होता तो, बहुत पहले भाग जाती. अब योगी भागेंगे.

कांग्रेस ने उरुसा को बनाया है प्रत्याशी
उन्नाव के पुरवा विधानसभा सीट से कांग्रेस ने उरुसा इमरान राणा को प्रत्याशी बनाया है. उरुसा ने नामांकन कराकर चुनावी मैदान में ताल ठोक दी है. उरुसा को टिकट मिलने के बाद हलचल तेज हो गई है. पहले से ही वहां सपा से उदय राज यादव, भाजपा से विधायक अनिल सिंह और बसपा से विनोद त्रिपाठी मैदान में हैं. उरुसा इमरान राणा का पहले से भी उन्नाव आना जाना था. अब टिकट मिलने के बाद पुरवा सीट का चुनाव बेहद दिलचस्प होता दिख रहा है.

42 साल से नहीं जीती कांग्रेस
पुराना इतिहास देखा जाए तो इस सीट पर सन 1951, 1962, 1969, 1974, 1980 कांग्रेस के प्रत्याशियों ने विजय हासिल की थी. देखना होगा कि 42 साल बाद इस सीट पर कांग्रेस रिकॉर्ड तोड़ पाएगी या नहीं.

Tags: Daughter of munavvar rana, Purwa assembly seat candidate, Unnao News, UP Assembly Election 2022, Urusa imran rana

अगली ख़बर