उन्नाव: अस्थाई जेल में शौचालय साफ न करने पर युवक को दी यातनाएं, प्रभारी डीएम की सख्ती पर 2 निलंबित

अस्थाई जेल में युवक को प्रताड़ित करने के मामले में प्रभारी डीएम सरनीत कौर ने संज्ञान लेते हुए एडीएम से मामले की जांच कराई थी.

अस्थाई जेल में युवक को प्रताड़ित करने के मामले में प्रभारी डीएम सरनीत कौर ने संज्ञान लेते हुए एडीएम से मामले की जांच कराई थी.

Unnao News: उत्तर प्रदेश के उन्नाव में एक युवक को अस्थाई जेल में बुरी तरह प्रताड़ित करने के मामले में एक्शन हुआ है. मामले में प्रभारी डीएम द्वारा डीजी जेल को भेजी रिपोर्ट के बाद हेड जेल वार्डेन रामनरेश भार्गव व जेल वार्डेन पृथ्वी राज को निलंबित कर दिया गया है.

  • Share this:
उन्नाव. उत्तर प्रदेश के उन्नाव (Unnao) में 7 अप्रैल को अस्थाई जेल से जमानत पर छूटे एक युवक ने शौचालय साफ न करने पर जेल के दो सिपाहियों पर मारपीट के गंभीर आरोप लगाए थे. युवक के शरीर पर आईं चोट के निशान उसके साथ हुई बेरहमी की दास्तां बयां कर रही थी. मामले में प्रभारी डीएम सरनीत कौर ने संज्ञान लेते हुए एडीएम से मामले की जांच कराई. जांच में युवक के साथ मारपीट होने की पुष्टि पर प्रभारी डीएम ने अस्थाई जेल में तैनात हेड जेल वार्डेन व जेल वार्डेन के खिलाफ डीजी जेल को रिपोर्ट भेजकर सख्त कार्रवाई की संस्तुति की. दोनों जेल वार्डेन को निलंबित कर दिया गया है.

उन्नाव सदर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला हिरन नगर के रहने वाले ज्ञानू शुक्ला के खिलाफ सड़क हादसे मामले में वारंट कोर्ट से जारी हुआ था. मामले में सदर कोतवाली पुलिस ने ज्ञानू को 2 अप्रैल को हिरासत में लेकर कब्बा खेड़ा में बनाई गई अस्थाई जेल भेज दिया. यहां ज्ञानू से अस्थाई जेल में तैनात जिला कारागार के हेड जेल वार्डेन रामनरेश भार्गव व जेल वार्डेन पृथ्वी राज ने शौचालय साफ करने का दबाव बनाया. इंकार करने पर ज्ञानू को दोनों ने लात घूंसो व बेल्ट से जमकर मारा पीटा.

घर पहुंचकर युवक ने सुनाई आपबीती

6 अप्रैल को कोर्ट से ज्ञानू की जमानत मंजूर होने पर परिजन उसे लेकर घर पहुंचे. यहां दर्द से कराह रहे युवक ने परिजनों को आप बीती बताई. परिजनों ने 7 अप्रैल को युवक को जिला अस्पताल में भर्ती कराया. वहीं पीड़ित की बहन ममता द्विवेदी ने सदर कोतवाली में तहरीर देकर अस्थाई जेल में भाई के साथ मारपीट होने का आरोप लगाते हुए अस्थाई जेल कर्मियो के खिलाफ कार्रवाई की मांग की.
प्रभारी डीएम ने डीजी जेल को लिखा पत्र, 2 सस्पेंड

प्रभारी डीएम सरनीत कौर ब्रोका ने संज्ञान लेते हुए एडीएम प्रशासन राकेश सिंह की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच टीम गठित कर जांच कर 24 घंटे में रिपोर्ट तलब की. एडीएम ने जांच टीम के साथ अस्थाई जेल पहुंचकर मामले की जांच की. एडीएम ने प्रभारी डीएम को जांच रिपोर्ट दी, जिसमें हेड जेल वार्डेन रामनरेश भार्गव व जेल वार्डेन प्रथ्वी राज के द्वारा युवक के साथ मारपीट किए जाने के आरोप को सही पाया.

रिपोर्ट के आधार पर प्रभारी डीएम ने डीजी जेल को हेड जेल वार्डेन रामनरेश भार्गव व जेल वार्डेन प्रथ्वी राज के खिलाफ सख्त कार्रवाई की संस्तुति भेजी. अब दोनों को डीजी जेल ने सस्पेंड कर दिया है. प्रभारी डीएम सरनीत कौर ब्रोका ने कहा कि मामले की जांच एडीएम राकेश सिंह से कराई गई. जांच में मारपीट की पुष्टि हुई है, जिसके आधार पर डीजी जेल को कठोर कार्रवाई की संस्तुति की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज