Home /News /uttar-pradesh /

UP Chunav: अमित शाह आज कासगंज की रैली से ब्रज क्षेत्र में साधेंगे नए समीकरण

UP Chunav: अमित शाह आज कासगंज की रैली से ब्रज क्षेत्र में साधेंगे नए समीकरण

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के रण में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बाद अब गृहमंत्री अमित शाह की भी एंट्री पूरे ज़ोर शोर से होने जा रही है. (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के रण में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बाद अब गृहमंत्री अमित शाह की भी एंट्री पूरे ज़ोर शोर से होने जा रही है. (फाइल फोटो)

UP Assembly Election News: ब्रज क्षेत्र में पड़ने वाले एटा जनपद में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की विजय यात्रा में करीब एक लाख लोगों की भीड़ उमड़ी थी. ऐसे में कासगंज में होने वाली गृह मंत्री अमित शाह की आज की रैली को सपा सुप्रीमो की विजय यात्रा का काउंटर माना जा रहा है.

अधिक पढ़ें ...

    राकेश प्रताप सिंह
    कासगंज.
    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) द्वारा मथुरा से रवाना की गई जन विश्वास यात्रा आज एटा से चलकर कासगंज पहुंचेगी. इस अवसर पर बीजेपी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह कासगंज (Kasganj Rally) के बारह पत्थर मैदान में एक बड़ी जनसभा को संबोधित करेंगे. अमित शाह की इस रैली (Amit Shah Rally) से बीजेपी ब्रज क्षेत्र में अपनी पकड़ मजबूत करेगी.

    कासगंज में आज होने वाली अमित शाह की रैली ब्रज क्षेत्र में आगामी विधानसभा चुनावों (UP Chunav 2022) के लिए नए राजनीतिक समीकरणों को जन्म देगी. ब्रज क्षेत्र पूर्व में समाजवादी पार्टी का गढ़ माना जाता था, लेकिन वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में मोदी लहर के चलते बीजेपी का प्रदर्शन शानदार रहा. इसके बाद 2019 के लोकसभा चुनावों में भी ब्रज क्षेत्र में बीजेपी का प्रदर्शन शानदार रहा.

    अखिलेश की यात्रा का जवाब
    हाल ही में ब्रज क्षेत्र में पड़ने वाले एटा जनपद में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की विजय यात्रा में करीब एक लाख लोगों की भीड़ उमड़ी थी, जिससे बीजेपी के लोग मायूस दिख रहे थे. यही नहीं अखिलेश ने एटा के रामलीला मैदान में रात 8 बजे तक मोबाइल फोन की रोशनी में जनसभा को संबोधित किया था. कासगंज में होने वाली गृह मंत्री अमित शाह की आज की रैली को सपा सुप्रीमो की विजय यात्रा का काउंटर माना जा रहा है.

    ये भी पढ़ें- पीयूष जैन के घर छापे में मिली डायरी, कन्नौज के दूसरे इत्र कारोबारियों में भी खलबली

    बीजेपी का शानदार रहा प्रदर्शन
    आंकड़ों पर नजर डालें तो रजनीकांत माहेश्वरी के ब्रज क्षेत्र के अध्यक्ष रहते समय बीजेपी ने यहां अब तक का सबसे अच्छा प्रदर्शन किया है. 2019 के लोकसभा चुनावों में इनके कुशल नेतृत्व में ही ब्रज क्षेत्र में पड़ने वाली 13 लोकसभा सीटों में से बीजेपी ने 12 सीटें जीतकर समाजवादी पार्टी के किले को ध्वस्त करने का काम किया था. ब्रज में केवल मुलायम सिंह यादव ने मैनपुरी लोकसभा सीट से जीत दर्ज की थी, बाकी 12 सीटें जिनमें फिरोजाबाद और बदायूं जैसी सपा की मजबूत सीटें भी शामिल थीं, बीजेपी ने जीती थीं.

    ये भी पढ़ें- सोतीगंज के चोर बाजार की पूरी कहानी, जहां मिनटों में कार को बना देते थे कबाड़

    इसी प्रकार रजनीकांत माहेश्वरी के नेतृत्व में ही 2017 में ब्रज क्षेत्र में आने वाली 65 विधानसभा सीटों में से 57 सीटों पर बीजेपी को जीत मिली थी, जो अपने आप में अबतक की जीत का रिकॉर्ड है.

    इसी प्रकार से अभी हाल ही में हुए जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में ब्रज क्षेत्र में 12 में से 11 जिला पंचायत अध्यक्ष बीजेपी ने जीते हैं और ब्रज क्षेत्र में 129 ब्लॉक प्रमुखों में से 117 पर बीजेपी ने जीत दर्ज की है. ये भी अब तक का रिकॉर्ड है.

    ब्रज क्षेत्र में बीजेपी की अच्छी स्थिति से उत्साहित रजनीकांत माहेश्वरी तो यहां तक दावा करते हैं कि आने वाले 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में ब्रज क्षेत्र की 65 विधानसभा सीटों में से बीजेपी 60 प्लस सीटें जीतेगी.

    ये सब बातें वे हवा में नहीं कहते हैं, इसके पीछे वे मजबूत रणनीति और संगठन शक्ति का उदाहरण भी देते हैं. वे कहते हैं कि प्रत्येक बूथ पर बीजेपी के 25 से 50 कार्यकर्ताओं की फौज है. मतदान केंद्रों को उन्होंने शक्ति केंद्र का नाम दिया है, जिसमें एक शक्ति केन्द्र में 5,6,7 तक बूथ आते हैं. इनमें शक्ति केंद्र प्राभारी, बूथ अध्यक्ष बूथ महामंत्री और इनकी सहायता के लिए 21 लोगों की टीम है.

    Tags: Amit shah rally, BJP, UP chunav, UP Election 2022

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर