CM Yogi ने Police से कहा, धर्मगुरु, सांसद-विधायक संग हुई वारदातों में न बरतें लापरवाही  

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

वहीं उन्होंने इस मौके पर याद दिलाया कि सोशल मीडिया (Social Media) पर अभद्रता, उत्तेजनात्मक प्रयास करने वालों पर पुलिस (Police) की कड़ी नज़र रहेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2020, 2:19 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. जनप्रतिनिधि मतलब विधायक (MLA) और सांसदों (MP) और खासतौर से धर्मगुरुओं की अनदेखी अधिकारियों को भारी पड़ सकती है. सीधे न सही, लेकिन यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi adityanath) ने इसका इशारा जरूर दे दिया है. आने वाले त्यौहरों के संबंध में सीएम योगी ने आज लखनऊ में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की. इसी दौरान उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों, एससी-एसटी (SC-ST) और धर्मगुरुओं के साथ होने वाले अपराधों पर अधिकारी लापरवाही न बरतें. वहीं उन्होंने इस मौके पर याद दिलाया कि सोशल मीडिया (Social Media) पर अभद्रता, उत्तेजनात्मक प्रयास करने वालों पर पुलिस (Police) की कड़ी नज़र रहेगी.

DM-SP खुद करेंगे जनप्रतिनिधियों (सांसद-विधायक) को फोन

डीएम व एसपी अब जनप्रतिनिधियों (सांसद-विधायक) को खुद से फोन करेंगे. यह आदेश सीएम योगी ने दिए हैं. उनका कहना है कि हर कार्यक्रम की सूचना जनप्रतिनिधियों को जरूर दी जाए. शासन के सभी कार्यक्रमों में जनप्रतिनिधियों की भागीदारी हर हाल में सुनिश्चित की जाए. साथ ही उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति, धर्मगुरु अथवा किसी जनप्रतिनिधि के साथ हुए अपराध की गम्भीरता और संवेदनशीलता के दृष्टिगत पुलिस व प्रशासन के अधिकारी विशेष ध्यान दें, इसमें लापरवाही न हो.




ये भी पढे़ं- CM Yogi बोले- रावण के जलते ही बलात्कारियों-मनचलों के खिलाफ Police लेगी यह एक्शन

पूजा पंडालों और रामलीला में सादा वर्दी में तैनात रहेगी पुलिस

नवरात्र, दशहरा, दीपावली समेत दुर्गा पूजा और रामलीला के मंचन के दौरान सीएम योगी ने पुलिस को पूरी चौकसी बरतने के निर्देश दिए हैं. उनका कहना है कि दुर्गा पूजा पंडालों और रामलीला मंचन के आसपास सादी वर्दी में महिला पुलिसकर्मी भी तैनात रहेंगी. सोशल मीडिया पर अभद्रता, उत्तेजनात्मक प्रयास करने वालों पर पुलिस की नजर रहेगी.

आने वाले त्यौहारों के चलते सीएम गुरुवार को पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ तैयारियों का जायजा ले रहे थे. सीएम आवास पर हुई इस बैठक में शासन स्तर के वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा जनपदीय अधिकारी भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मौजूद रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज