5 माफियाओं के नाम लेकर सीएम योगी बोले- नज़ीर बनेगी इनसे संबंध रखने वाले अफसरों पर होने वाली कार्रवाई

योगी सरकार ने माफियाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं.
योगी सरकार ने माफियाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं.

सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Aditya Nath) ने कहा कि कुछ लोग यूपी पुलिस को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन उनकी यह मंशा पूरी नहीं होने देंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2020, 6:45 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. यूपी में क्राइम (Crime in UP) को लेकर ज़ीरो टॉलरेंस की नीति अपनाने वाली योगी आदित्यनाथ (CM Yogi adityanath) की सरकार एक बार फिर से एक्शन में है. गुरुवार की रात लखनऊ में वीडियो कांफ्रेंसिंग में अफसरों को सख्त चेतावनी देते हुए सीएम योगी ने एक-एक कर 5 माफियाओं के नाम गिनाए. साथ ही कहा कि अगर इनके साथ किसी भी अफसर के संबंध पाए गए तो उसके खिलाफ ऐसी सख्त कार्रवाई की जाएगी कि वो एक नज़ीर बन जाएगी. सीएम ने अफसरों से कहा कि जीरो टॉलरेंस की नीति जमीन पर साफ दिखनी चाहिए.

सीएम योगी ने कहा है कि थाना स्तर पर भ्रष्टाचार की शिकायतों में अब पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारियों पर भी जवाबदेही तय होगी. वहीं वन माफिया, पशु माफिया, खनन माफिया, ठेका माफिया, दंगा माफिया और इनको शरण देने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी. अगर किसी माफिया या अपराधी के साथ किसी अफसर की मिलीभगत मिलती है, तो उसके खिलाफ ऐसी सख्त कार्रवाई की जाएगी कि वो एक नज़ीर बन जाएगी.

ये भी पढे़ं- CM Yogi बोले- रावण के जलते ही बलात्कारियों-मनचलों के खिलाफ Police लेगी यह एक्शन



सोशल मीडिया को लेकर अलर्ट रहने के दिए निर्देश
सोशल मीडिया के बढ़ते दायरे और उसके असर को देखते हुए अलर्ट रहने के निर्देश दिए. यह भी कहा कि कुछ लोग सोशल मीडिया पर अभ्रदता करने के साथ ही उकसावे की कार्रवाई करते हैं. अफवाहबाजों से सख्ती से निपटें और सही तथ्य को जनता से अवगत कराएं, ताकि किसी प्रकार का भ्रम न फैले. देर से हुई कार्रवाई कभी सही नहीं कही जा सकती.



कुछ लोगों की मंशा है पुलिस को बदनाम करने की
सीएम योगी ने नाराज़गी जताते हुए कहा कि यूपी की अनुशासित पुलिस फोर्स को अनुशासन हीन फोर्स के रूप में बदनाम करने की कुछ लोगों की मंशा है. ऐसे लोगों की कोशिशों को कतई कामयाब नहीं होने देंगे. बैठक में सीएम योगी ने कहा कि खनन का कार्य शुरू हो गया है. अवैध खनन नहीं होना चाहिए. अगर ऐसा होता है तो इसकी जवाबदेही डीएम और एसपी की होगी. साथ ही उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि गिट्टी और मोरम के रेट न बढ़ें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज