Home /News /uttar-pradesh /

यूपी विधानसभा चुनाव: राजा भैया की पुरानी है आरी से 'यारी' जानें वजह...

यूपी विधानसभा चुनाव: राजा भैया की पुरानी है आरी से 'यारी' जानें वजह...

राजा भैया की पार्टी जनसत्ता दल लोकतांत्रिक को स्थाई चुनाव चिह्न 'आरी' मिल गया है.

राजा भैया की पार्टी जनसत्ता दल लोकतांत्रिक को स्थाई चुनाव चिह्न 'आरी' मिल गया है.

UP Election 2022: राजा भैया (Raja Bhaiya) ने चुनाव आयोग को पहली पसंद के रूप चुनाव निशान 'आरी' आवंटित करने की माग की थी. उनकी मांग को आयोग ने पूरा करते हुए चुनाव निशान आरी आवंटित किया. आरी चुनाव निशान उनके गढ़ कुंडा में बड़ा ही पॉपुलर है. राजा भैया के कई समर्थक अब भी आरी लेकर ही इलाके में उनका प्रचार करते हैं. उनके कई समर्थक घर में आज भी आरी रखे हुए हैं.

अधिक पढ़ें ...

प्रतापगढ़. उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) को लेकर प्रतापगढ़ में माहौल पूरी तरह से गर्म है. सभी राजनीतिक पार्टियां जनता के बीच जाकर उनको अपने पाले में करने के लिए जुटी हैं. इसी बीच कुंडा के विधायक व जनसत्ता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष रघुराज प्रताप उर्फ राजा भैया (Raja Bhaiya) की पार्टी को चुनाव आयोग ने स्थाई चुनाव चिह्न आवंटित किया है. राजा भैया की पार्टी का नया चुनाव चिह्न अब ‘आरी’ होगा.

इससे पहले राजा भैया की पार्टी जनसत्ता दल का अस्थाई चुनाव निशान फुटबॉल खेलता हुआ खिलाड़ी था. चुनाव आयोग ने जैसे ही पार्टी का चुनाव सिबल आवंटित किया, वैसे ही राजा भैया ने ट्वीट करते हुए खुशी जताई. उन्होंने लिखा, ‘आप सभी साथियों को ये बताते हुए बहुत ख़ुशी हो रही है कि चुनाव आयोग द्वारा जनसत्ता दल को ‘आरी’ चुनाव निशान आवंटित हुआ है.’

रघुराज प्रताप सिंह ने आरी चुनाव चिह्न आवंटित होने पर खुशी जाहिर की.

राजा भैया की ‘आरी से है यारी’
जानकारी के मुताबिक राजा भैया ने चुनाव आयोग को पहली पसंद के रूप चुनाव निशान ‘आरी’ आवंटित करने की माग की थी. उनकी मांग को आयोग ने पूरा करते हुए चुनाव निशान आरी आवंटित किया. दरअसल इससे पहले वर्ष 2012 और वर्ष 2017 का विधानसभा चुनाव में निर्दलीय चुनाव लड़ रहे राजा भैया को आरी चुनाव निशान मिला था. आरी चुनाव निशान उनके गढ़ कुंडा में बड़ा ही पॉपुलर है. राजा भैया के कई समर्थक अब भी आरी लेकर ही इलाके में उनका प्रचार करते हैं. उनके कई समर्थक घर में आज भी आरी रखे हुए हैं.

ये भी पढ़ें- सीएम योगी आदित्यनाथ आज आएंगे मथुरा, देंगे 201 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात

बता दें कि वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में राजा भैया को आरी चुनाव चिह्न से चुनाव लड़ने पर 83 हजार के भारी मतों से विजयी हुए थे. वहीं 2017 के विधानसभा चुनाव में निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़े राजा भैया को आरी चुनाव निशान ही आवंटित हुआ था. इस चुनाव में एक लाख तीन हजार के रिकार्ड मतों से राजा भैया ने जीत का परचम लहराया था. इसी के चलते राजा भैया के समर्थक आरी से अपनी यारी मानते हैं. इस चुनाव के सिबल को लकी मानते हैं. इसी कारण से राजा भैया ने चुनाव आयोग से आरी चुनाव चिह्न आवंटित करने की मांग की थी.

Tags: Election commission, UP Election 2022

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर