एक्सप्रेसवे बस हादसा: दो दिन पहले तक सूखा था वर्षों पुराना 'खूनी नाला', ऐसे आया था पानी

पुराने शहर में रहने वाले 70-80 साल के बुर्जुग बताते हैं कि हम तो बचपन से यहां लोगों के मरने की बात सुनते चले आ रहे हैं. जब बड़े हुए तो एक्सीडेंट की घटनाएं अपनी आंखों से भी देखी हैं.

नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: July 9, 2019, 10:01 AM IST
एक्सप्रेसवे बस हादसा: दो दिन पहले तक सूखा था वर्षों पुराना 'खूनी नाला', ऐसे आया था पानी
फोटो- क्रेन की मदद से हादसे का शिकार हुई बस को इस तरह नाले में से निकाला गया.
नासिर हुसैन
नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: July 9, 2019, 10:01 AM IST
आगरा शहर के बाहर बहने वाला झरना नाला वर्षों पुराना है. सोमवार को इसी नाले में बस गिरने से 30 लोगों की मौत हो गई थी. 22 लोग अभी भी घायल हैं. आसपास के ही नहीं, शहरभर के ज्यादातर लोग इसे खूनी नाला कहते हैं. सोमवार को कोई पहला मौका नहीं था जब झरना नाले के पास एक्सीडेंट हुआ हो. पुराने शहर में रहने वाले 70-80 साल के बुर्जुग बताते हैं कि हम तो बचपन से यहां लोगों के मरने की बात सुनते चले आ रहे हैं. जब बड़े हुए तो एक्सीडेंट की घटनाएं अपनी आंखों से भी देखी हैं.

एत्मादपुर में रहने वाले आलू कारोबारी मोहम्मद रईस ने बताया, “झरना नाला पास के ही कुछ इलाके कुबेरपुर, छलेसर, एत्मादपुर और शाहदरा में बबूल के जंगलों के बीच से होकर बहता है. आगे चलकर सड़क को क्रास करता हुआ यह यमुना नदी में गिरता है. आमतौर पर यह नाला सूखा ही रहता है. सोमवार को बस हादसे से दो दिन पहले तक भी यह नाला सूखा था. लेकिन शुक्रवार को तेज बारिश हुई थी. उससे पहले भी बीच-बीच में बारिश हुई थी.

उसी बारिश का पानी बबूल के जंगलों से होकर नाले में बह रहा था. यमुना एक्सप्रेसवे के नीचे जहां हादसा हुआ है वहां नाला एक्सप्रेसवे बनने के बाद से थोड़ा ज्यादा गहरा हो गया है. हैरत की बात यह है कि जिस जगह बस गिरी है वहीं पर नाला 15 से 20 फुट गहरा है वर्ना तो कहीं भी नाले की इतनी गइराई नहीं है और न ही इतना पानी है कि बस आधी डूब जाए.”

फोटो- झरना नाले में गिरी जनरथ बस.


पुराने शहर के रहने वाले समी आगाई बताते हैं, “जंगलों से निकलकर यह नाला कुछ दूरी तक सड़क के किनारे-किनारे बह रहा है. नाले में पानी तो यदा-कदा ही दिखाई पड़ता है. लेकिन इसके किनारे सड़क पर होने वाले हादसों के लिए यह खासा चर्चाओं में रहता है. हादसों में घायलों या दम तोड़ने वालों की बात करें तो साल का शायद ही कोई ऐसा महीना गुजरता होगा जब नाले के पास कोई एक्सीडेंट न हो.”

ये भी पढ़ें- बस हादसा: यूपी रोडवेज की इस बड़ी लापरवाही से हुई 29 यात्रियों की मौत

यमुना एक्सप्रेस वे हादसा: चश्मदीद महिला यात्री ने बताया- बस जैसे ही टोल प्लाजा से रवाना हुई ड्राइवर....
Loading...

यमुना एक्सप्रेसवे बस हादसा: लाशों के ढेर में ऐसे मिली 6 जिंदगी
First published: July 9, 2019, 9:36 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...