Home /News /uttar-pradesh /

UP Election 2022: पिछले विधानसभा चुनाव में जिन 78 सीटों पर हारी वहीं से नैया पार लगाने की कोशिश में बीजेपी

UP Election 2022: पिछले विधानसभा चुनाव में जिन 78 सीटों पर हारी वहीं से नैया पार लगाने की कोशिश में बीजेपी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फाइल फोटो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फाइल फोटो

Uttar Pradesh Assembly elections 2022: उत्तर प्रदेश में वर्ष 2017 के चुनावों में बीजेपी ने 403 सदस्यीय विधानसभा में 312 सीटें जीती थीं, जबकि उसके सहयोगी अपना दल ने नौ और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) ने चार सीटें जीती थीं. वहीं अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी (SP) ने 47, मायावती की बहुजन समाज पार्टी (BSP)-19 और कांग्रेस ने 7 सीटें जीती थी. इसके अलावा आरएलडी को एक, निषाद पार्टी को 1 और तीन सीटों पर निर्दलीयों ने जीत हासिल की थी.

अधिक पढ़ें ...

    लखनऊ. उत्तर प्रदेश में वर्ष 2017 के विधानसभा चुनावों में हारी हुई 78 सीटों पर फोकस करके बीजेपी आगामी विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly elections 2022) में अपनी नैया पार लगाने की कोशिश में जुटी है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) लगातार इन इलाकों का दौरा कर रहे हैं और नई परियोजनाओं का उद्घाटन तथा शिलान्यास कर रहे हैं. इसके साथ ही वह लोगों को यह भी ध्यान दिलाना नहीं भूलते कि अगर पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी को वे लोग जिताते तो इस इलाके की तस्वीर बदल जाती. उत्तर प्रदेश में वर्ष 2017 के चुनावों में बीजेपी (BJP Seats in UP) ने 403 सदस्यीय विधानसभा में 312 सीटें जीती थीं, जबकि उसके सहयोगी अपना दल (Apna Dal) ने नौ और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) ने चार सीटें जीती थीं. वहीं अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी (SP) ने 47, मायावती की बहुजन समाज पार्टी (BSP)-19 और कांग्रेस ने 7 सीटें जीती थी. इसके अलावा आरएलडी को एक, निषाद पार्टी को 1 और तीन सीटों पर निर्दलीयों ने जीत हासिल की थी.

    बीजेपी के एक नेता बताते हैं कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने अब तक ऐसे 19 विधानसभा क्षेत्रों में नई परियोजनाएं शुरू की हैं या परियोजनाओं का उद्घाटन किया और जनसभाओं को संबोधित किया है. मुख्यमंत्री आने वाले दिनों में बाकी की सीटों का भी दौरा करेंगे. उन्होंने कहा, ‘बीजेपी ने 2022 के चुनावों में उन 78 सीटों में से कम से कम 55 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है. इसी के मद्देनजर मुख्यमंत्री के अलावा दोनों डिप्टी सीएम भी इन निर्वाचन क्षेत्रों में जल्द ही इसी तरह के कार्यक्रम आयोजित करेंगे.’ बीजेपी नेता ने कहा कि अगर भाजपा को दूसरी जीती हुई सीटों पर ‘स्थानीय विधायकों के खिलाफ’ सत्ता विरोधी लहर का सामना करना पड़ता है तो पार्टी इन निर्वाचन क्षेत्रों में जीत से इसकी भरपाई कर सकती है.

    ये भी पढ़ें- ओवैसी ने चेताया- NPR, NRC लाएगी सरकार तो दूसरा शाहीन बाग सामने आएगा

    सीएम योगी आदित्यनाथ ने पिछले दिनों ऐसी ही एक विधानसभा सीट बदायूं जिले के सहसवां पहुंचकर विभिन्न परियोजनाओं की आधारशिला रखी. इस सीट पर 2017 के चुनाव में समाजवादी पार्टी (सपा) ने जीत हासिल की थी और बीजेपी चौथे स्थान पर रही थी. इस दौरान उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘अगर सहसवां विधानसभा क्षेत्र में बीजेपी के विधायक होते तो सहसवां तेजी से विकास के पथ पर आगे बढ़ता.’

    ये भी पढ़ें- PM मोदी के साथ योगी की तस्वीर पर अखिलेश यादव का तंज, कहा…

    सपा के गढ़ पर बीजेपी का जोर
    उसी तरह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी आदित्यनाथ के साथ हाल ही में आजमगढ़ में एक राज्य विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी. बीजेपी के एक स्थानीय नेता बताते हैं कि जिस क्षेत्र में शिलान्यास समारोह आयोजित किया गया था, वह क्षेत्र यादव बहुल आजमगढ़ सदर में पड़ता है. इस सीट से सपा के दुर्गा प्रसाद यादव आठवीं बार विधायक हैं. उस सीट पर बीजेपी कभी जीत नहीं पाई है. आजमगढ़ जिला सपा का गढ़ रहा है, क्योंकि पार्टी ने 2012 में 10 विधानसभा सीटों में से नौ और 2017 के विधानसभा चुनावों में पांच पर जीत हासिल की थी.

    वहीं मुख्यमंत्री ने इससे पहले 8 नवंबर को शामली का दौरा किया था और 425 करोड़ रुपये की बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का शुभारंभ किया. इसके अलावा 2017 के चुनाव में सपा के खाते में गए कैराना विधानसभा क्षेत्र में पीएसी बटालियन की नींव रखी. उसी दिन सीएम ने रामपुर जिले में कई परियोजनाओं का उद्घाटन किया. इसके अलावा रामपुर शहर में एक जनसभा को संबोधित किया, जहां से सपा के वरिष्ठ नेता आजम खान विधायक हैं. इस विधानसभा सीट पर बीजेपी कभी जीत नहीं पाई है.

    Tags: Amit shah, BJP, CM Yogi Adityanath, UP Election 2022

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर